Telegram Group Join Now

आंगनवाड़ी सुपरवाइजर का वेतन- Anganwadi Supervisor Salary Details in Hindi 2024

अगर आप आंगनवाड़ी सुपरवाइजर बनना चाहती हैं और आंगनवाड़ी सुपरवाइजर की सैलरी के बारे में जानना चाहते हैं तो हमारा आज का यह आर्टिकल जरूर देखें। जिन भी महिलाओं का सपना है कि वह आंगनवाड़ी सुपरवाइजर बने उनके लिए यह आर्टिकल काफी लाभदायक होने वाला है। हम यहां पर आपको बताएंगे की आंगनवाड़ी सुपरवाइजर के लिए आपको क्या करना होता है, कौन-कौन आंगनवाड़ी सुपरवाइजर बन सकता है, इसके लिए क्या पात्रता होनी चाहिए, आंगनवाड़ी सुपरवाइजर का काम क्या होता है तथा इस पद पर नियुक्त होने के बाद आपको कितना वेतन दिया जाता है।

आंगनवाड़ी सुपरवाइजर के लिए निर्धारित योग्यता

Anganwadi Supervisor Salary Details in Hindi

अगर इन पदों के लिए योग्यता की बात करें तो महिला का सबसे पहले कम से कम 12वीं पास होना जरूरी है। यानी कि जो महिलाएं 12वीं पास है वही आंगनवाड़ी सुपरवाइजर बन सकती हैं। आंगनवाड़ी सुपरवाइजर बनने के लिए आपको कंप्यूटर के काम का ज्ञान भी होना चाहिए। इसका अर्थ है कि आपको कंप्यूटर पर काम करना आना चाहिए। आपके बोलने की क्षमता अच्छी होनी चाहिए। आपकी जितनी कम्युनिकेशन स्किल्स अच्छी होगी आपके लिए उतना ही अच्छा होगा। नियुक्ति के लिए आपके पास सभी संबंधित दस्तावेज होने चाहिए। राज्यों के आधार पर यह योग्यता मापदंड अलग-अलग भी हो सकते हैं। ऐसे में आपको अपने राज्य के आंगनवाड़ी सुपरवाइजर योग्यता के बारे में जरूर जान लेना चाहिए।

आंगनवाड़ी सुपरवाइजर का क्या होता है काम

अब अगर इस बारे में बात करें कि आंगनवाड़ी सुपरवाइजर का काम क्या होता है। तो आपको बता दे कि आंगनवाड़ी सुपरवाइजर का काम जगह-जगह आंगनबाड़ी केदो में जाकर निरीक्षण करना होता है। आंगनवाड़ी सुपरवाइजर प्रत्येक आंगनबाड़ी केंद्र पर जाकर यह सुनिश्चित करती है कि गर्भवती महिलाओं और बच्चों के स्वास्थ्य का पूरा ध्यान रखा जा रहा है या नहीं। लाभार्थियों को सरकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है अथवा नहीं। या सरकार की तरफ से कोई नई योजना क्रियान्वित की जाती है तो उसके बारे में लाभार्थियों को पता है या फिर नहीं। इन सब कामों का ध्यान रखना आंगनवाड़ी सुपरवाइजर के कार्य क्षेत्र में आता है।

इस प्रकार होता है आंगनवाड़ी सुपरवाइजर का कार्य क्षेत्र

  1. बच्चों की सेहत का ध्यान: आंगनवाड़ी सुपरवाइजर को बच्चों की सेहत की देखरेख रखनी होती है और उनका नियमित तौर पर उनका चेकअप करना होता है।
  2. जनसंख्या की गिनती: उन्हें अपने क्षेत्र में जनगणना करनी होती है और विभिन्न योजनाओं के लिए डेटा उपलब्ध करवाना होता है।
  3. आहार योजना: आंगनवाड़ी सुपरवाइजर का काम होता है कि बच्चों को सही आहार योजनाओं का लाभ दिया जाए। आंगनवाड़ी सुपरवाइजर को यह सुनिश्चित करना होता है।
  4. मातृ और शिशु की देखभाल: आंगनवाड़ी सुपरवाइजर के पद पर नियुक्त होने वाली महिला को मातृ और शिशु की देखभाल करनी होती है और उन्हें जरूरी परामर्श देना भी होता है।

समय-समय पर जारी होती है भर्ती के लिए अधिसूचना

विभिन्न राज्यों की तरफ से समय-समय पर आंगनवाड़ी सुपरवाइजर भर्ती के लिए अधिसूचना जारी की जाती है। ऐसे में अगर आप इस भर्ती के लिए योग्य है तो आवेदन कर सकती है। आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको यह जानना होगा कि आप आवेदन करने के योग्य हैं अथवा नहीं। सबसे पहले आपको सभी शर्तों को देखना होगा कि आप पर इसकी पात्रता को पूरा करती है या नहीं। अगर आप इन सभी पात्रता को पूरा करते हैं तो अवश्य ही इस भर्ती के लिए आवेदन कर सकती हैं। प्रत्येक 25 आंगनवाड़ी कार्यकर्त्ताओं के लिए एक आंगनवाड़ी पर्यवेक्षक कों नियुक्त किया जाता है जिसे मुख्य सेविका कहा जाता है, और आंगनवाड़ी सुपरवाइजर आंगनवाड़ी कार्यकर्त्ता व सहायिका को कार्य के बारे में मार्गदर्शन प्रदान करती है। कार्यकर्ता और सहायिका मुख्य सेविका के मार्गदर्शन में ही काम करते हैं।

आंगनवाड़ी में मुख्यतः होते हैं तीन पद

अब अगर महिला सुपरवाइजर की सैलरी के बारे में बात करें तो अलग-अलग राज्यों में यह अलग-अलग होती है। आंगनवाड़ी में मुख्यतः तीन पद होते हैं। जिनमें आंगनवाड़ी सुपरवाइजर, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता तथा आंगनवाड़ी हेल्पर होते हैं। आंगनवाड़ी सुपरवाइजर सबसे प्रथम पद होता है। आंगनवाड़ी वर्कर तथा आंगनवाड़ी हेल्पर आंगनवाड़ी सुपरवाइजर के नीचे काम करते हैं। इनका काम आंगनवाड़ी सुपरवाइजर के दिशा निर्देशों को मानना होता है तथा उन्हें उनके अनुसार काम करना होता है। आंगनवाड़ी सुपरवाइजर को विभिन्न तरह के काम करने होते हैं जिनमें गर्भवती महिलाओं की निगरानी करना और उन्हें सही पोषण और देखभाल के बारे में जागरूक करना, नवजात शिशुओं की देखभाल करना, उनके वैक्सीनेशन की जांच करना और उनकी स्वास्थ्य स्थिति का ध्यान रखना, बच्चों की सही देखभाल, पोषण, और विकास की देखभाल करना इत्यादि शामिल है।

राजस्थान राज्य में आंगनवाड़ी सुपरवाइजर को मिलती है इतनी सैलरी

अगर राजस्थान में आंगनवाड़ी सुपरवाइजर की सैलरी के बारे में बात करें तो जब आपका चयन आंगनवाड़ी सुपरवाइजर के पद पर हो जाता है तो ट्रेनिंग पूरी कर लेने के बाद में आपको अच्छी खासी सैलरी मिलने लग जाती है। ट्रेनिंग पूरी कर लेने के बाद में आपको 45691 रुपए तक का वेतन मिलने लग जाता है। इतना ही नहीं आपको ₹3600 का ग्रेड पे दिया जाता है। ट्रेनिंग पूरी होने के बाद आपको वेतन के साथ-साथ कई भत्तों का भी लाभ मिलता है। ऐसे में आपको अच्छा खासा वेतन मिलता है। जब आप इस पद पर नियुक्त हो जाते हैं और आपको काम करते 1 साल हो जाता है तो आपकी सैलरी में लगातार बढ़ोतरी होती रहती है।

हरियाणा में दिया जाता है इतना वेतन

यदि हरियाणा में आंगनवाड़ी सुपरवाइजर की सैलरी के बारे में बात करें तो आंगनवाड़ी सुपरवाइजर के पद पर काम कर रहे लोगों को कम से कम ₹12000 से लेकर 25000 रुपए तक की सैलरी मिलती है। अगर आप भी आंगनवाड़ी में सुपरवाइजर के पद पर जॉब करना चाहते हैं तो आप लोग 20 से 25000 रुपए आसानी से हर महीने कमा सकते हैं। ऐसे में महिलाओं के लिए यह एक काफी अच्छी जॉब है।

निष्कर्ष:-

आज के हमारे इस आर्टिकल में हमने जाना कि आंगनवाड़ी सुपरवाइजर को कितनी सैलरी मिलती है। आशा करते हैं कि हमारा यह आर्टिकल आपके लिए लाभकारी होगा। आज के हमारे इस लेख में हमने आपको जानकारी उपलब्ध करवाई कि आंगनवाड़ी सुपरवाइजर बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए। अगर आप इन सभी योग्यताओं को पूरा करती है तो अवश्य ही आंगनवाड़ी सुपरवाइजर के पद पर नियुक्त हो सकती हैं। इस पद पर नियुक्त होने के बाद आपको अच्छा खासा वेतन दिया जाता है।

FAQ (आंगनवाड़ी सुपरवाइजर वेतन के बारे में)

Q:1. महिला सुपरवाइजर की सैलरी कितनी है

Ans: महिला सुपरवाइजर को 20,000 रुपये महीना जबकि मिनी आंगनवाड़ी वर्कर को 6,000 रुपये महीना दिए जाते हैं। वहीं पर आंगनवाड़ी हेल्पर को 4,000 रुपये महीना सैलरी मिलती है।

सुपरवाइजर का सैलरी ग्रेड कितना होता है?

सुपरवाइजर को ₹3600 का ग्रेड पे दिया जाता है। ट्रेनिंग पूरी कर लेने के बाद में आपको 45691 रुपए तक का वेतन मिलने लग जाता है। ट्रेनिंग पूरी होने के बाद आपको वेतन के साथ-साथ कई भत्तों का भी लाभ मिलता है।

Leave a Comment