APO Exam Kya Hota Hai? 2022 में full form से लेकर Syllabus तक की पूरी जानकारी

एक अच्छे पद को हासिल करने के लिए उम्मीदवारों को योग्य परीक्षाओं को देना पड़ता है। सरकारी अधिकारी व कर्मचारी बनने के लिए सरकारी परीक्षा दिलाना पड़ता है, उन सरकारी परीक्षाओं में से एक APO Exam भी है। आप में से कई लोग इस परीक्षा के बारे में जानते होंगे और यह परीक्षा दिलाने की तैयारी भी कर रहे होंगे।पर बहुत से लोगो को APO Exam के बारे में पता नहीं होता। अगर आपको इस परीक्षा के बारे में पूरी जानकारी लेनी है तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े।

इस आर्टिकल में इस परीक्षा से जुड़ी बातें बताएंगे जैसे APO exam kya hota hai? इस एग्जाम को कैसे करें? और भी संपूर्ण जानकारियां जो आपको APO एग्जाम से जुड़े सभी प्रश्नों का हल देगी।

APO Exam Kya Hota Hai? (What is APO Exam in Hindi?)

APO Exam Kya Hota Hai? 2022 में full form से लेकर Syllabus तक की पूरी जानकारी

APO एग्जाम सरकारी वकील बनने के लिए दिलाया जाता है। APO का पूर्ण प्रपत्र Assistant Prosecution Officer होता है, जिसका हिंदी अर्थ सहायक अभियोजन अधिकारी होता है। APO एग्जाम में उत्तर्णी होने वाले उम्मीदवारों को वकील का पद प्राप्त होता है। हर एक जिले के न्यायालय में एक और उससे अधिक सरकारी वकील की जरूरत होता है जिसके लिए हर साल वैकेंसी निकालती है। इस एग्जाम को दिलाने के बाद आप भी सरकारी वकील बन सकते है। राज्य सरकार द्वारा सुनिश्चित करके वकीलों को न्यायालय में भेजा जाता है इसलिए सरकार के पक्ष को रखने के लिए यह सरकारी वकील अपना काम कार्य है। किसी भी सरकारी केस में वकील सभी दस्तावेजों को कोर्ट में पेश करने का कार्य करते है एवं सबूत गवाह के साथ कोर्ट में अपना पक्ष रखते है।

APO Exam कितने भाग में पूरा होता है? APO Exam का Complete Process क्या है?

APO exam को 3 चरणों में बांटा गया है जैसे Prelims, Mains, और Interview।ये तीनों चरणों को पास करने के बाद ही उम्मीदवार एक Assistant Prosecution Officer बनते है।

Prelims exam ( प्रारंभिक परीक्षा):- यह सबसे पहली परीक्षा होती है इस परीक्षा को दो भागों में बांटा गया है। पहले भाग में जनरल नॉलेज के 50 प्रश्न पूछे जाते हैं और दूसरे भाग में एक्ट एंड लॉ के 100 प्रश्न पूछे जाते हैं। इसी प्रकार इस परीक्षा में 150 प्रश्न पूछे जाते हैं और सभी 1-1 अंक के होते हैं। इस परीक्षा में MCQ प्रश्न पूछे जाते है और जवाब गलत होने पर ⅓ नेगेटिव मार्किंग की जाती है। यह पूरा परीक्षा 150 अंक का होता है।

Mains exam( मुख्य परीक्षा) :- मुख्य परीक्षा प्रारंभिक परीक्षा दिलाने के बाद ली जाती है। इसमें चार पेपर लिए जाते हैं और सभी 100-100 अंक के होते हैं। यानी कि यह पूरा पेपर 400 अंक का होता है । इसमें प्रश्नों के उत्तर लिखने होते हैं। और सभी प्रश्न सिलेबस के अंदर से आता है। इसमें कानून की पढ़ाई अधिक होनी चाहिए तभी आप परीक्षा को सफलतापूर्वक पूरा कर पाएंगे।

Interview:- दोनों परीक्षाओं को पूरा करने के बाद उम्मीदवार को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है वहां पर बड़े ज्ञाता लोग उम्मीदवारों का इंटरव्यू लेते हैं। इंटरव्यू पास करने वाले व्यक्ति को वकील बना दिया जाता है। इंटरव्यू में पर्सनैलिटी टेस्ट लिया जाता है और आपको रैंक दिया जाता है। अच्छी रैंक हासिल होने पर ही आप अच्छा पद प्राप्त कर सकते हैं। इंटरव्यू के बाद ट्रेनिंग के लिए भी आपका स्थान सुनिश्चित हो जाता है।

नोटरी वकील कैसे बने पूरी जानकारी?

जज कैसे बने जज बनने को लेकर पूरी जानकारी?

APO exam कैसे दिला सकते है?

जिस प्रकार सभी सरकारी परीक्षाओं को दिलाया जाता है उसी प्रकार आप एपीओ एग्जाम भी दिला सकते हैं।इस एग्जाम के बारे में सभी जानकारी लेने के बाद आप अपनी तैयारी शुरू कर दें और आवेदन प्रक्रिया शुरू होने के बाद आप इस परीक्षा में आवेदन कर सकते हैं। एग्जाम दिलाने के लिए आपको अच्छी नॉलेज होनी चाहिए। सभी कानूनी नॉलेज होने के बाद आप एपीओ एग्जाम बड़ी ही सरलता से दिला पाएंगे। हर राज्य का अलग-अलग एपीओ एग्जाम होता है आप जिस राज्य का एग्जाम दिलाना चाहते हैं वहीं पर आवेदन करें। सभी योग्यता के साथ अपनी तीनों परीक्षा की तैयारी शुरू कर दें और इस परीक्षा में आवेदन करके आप यह परीक्षा दिला सकते हैं।

APO exam के लिए योग्यता (APO Eligibility in Hindi 2022)

परीक्षा प्राइवेट हो या सरकारी हर परीक्षा में योग्यता का होना जरूरी है ।अगर आप परीक्षा को देने योग्य नहीं होंगे तो आप परीक्षा नहीं दिला सकते हैं। इसलिए अगर आप APO एग्जाम दिलाना चाहते है तो उसकी योग्यता के बारे में जान ले। चलिए आपको एपीओ एक्जाम की योग्यता के बारे में बताते हैं।

  • APO एग्जाम दिलाने वाले व्यक्ति 12वीं पास के साथ ही LLB पास भी होना चाहिए।
  • उमीदवार 12वीं के बाद एलएलबी करें या ग्रेजुएशन के बाद एलएलबी करें परंतु LLB की डिग्री होना जरूरी है।
  • दिए गए उम्र सीमा को ध्यान में रखकर ही आवेदन करें।
  • भारत एवं राज्य सरकार द्वारा निकाली गई इस सरकारी एग्जाम को दिलाने के लिए केवल भारत के नागरिक ही आवेदन कर सकते हैं।

APO Exam दिलाने वाले Candidate की उम्र सीमा

APO exam दिलाने के लिए कैंडिडेट की उम्र सीमा 21 से 40 वर्ष तक ही होनी चाहिए। यह उम्र सीमा सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों के लिए होती है। इसके अलावा अनुसूचित जाति के लिए जैसे ओबीसी /एसटी/ एससी को उम्र सीमा में छूट दी जाती है। OBC वर्ग के उम्मीदवार को 3 साल की छूट दी जाती है इसलिए उनकी उम्र सीमा बढ़कर 40 से 43 हो जाती है अर्थात वह 21 से 43 वर्ष के बीच यह एग्जाम दिलाने के लिए सक्षम है। इसके अलावा एसटी और एससी वर्ग के व्यक्ति के लिए 5 साल की छूट दी जाती है और वह 45 की उम्र तक यह परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं।

APO Exam के लिए Apply कैसे करे?

APO एग्जाम में अप्लाई करने के लिए अपने राज्य के ऑफिशियल वेबसाइट या लोक सेवा आयोग के वेबसाइट में जाकर APO एग्जाम फॉर्म भरें। वेबसाइट पर आपको अन्य सरकारी वैकेंसी के बारे में भी पता चलेगा। उस वेबसाइट में APO के बारे में सभी जानकारी ले लें। उसके बाद APO एग्जाम के एग्जाम फॉर्म पर क्लिक कर लें और आवेदन प्रक्रिया को पूरा करें। मांगे जाने वाले सभी दस्तावेजों को ध्यान से अपलोड करें।

APO Exam का Syllabus

APO एग्जाम तीन भागों में होता है ,तो उसके सिलेबस भी तीन अलग अलग भागो में बांटा गया है। इस एग्जाम की जानकारी लेने के साथ इसके सिलेबस के बारे में भी जान लेना आपके लिए बहुत आवश्यक है। चलिए इसके सिलेबस के बारे में जानते है।

प्रारंभिक परीक्षा:-
सामान्य ज्ञान
विधिक ज्ञान

मुख्य परीक्षा :-
सामान्य ज्ञान
सामान्य हिंदी
साक्ष्य कानून
आपराधिक कानून और प्रक्रिया

Interview:- इसमें उम्मीदवारों के व्यक्तित्व और ज्ञान की परीक्षा ली जाती है। और बाकी लिखित परीक्षा के अंको को देखते हुए सवाल पूछा जाता है।

APO परीक्षा के बाद सैलरी कितनी मिलती है?

सभी राज्य में एग्जाम अलग अलग होता है और राज्य के हिसाब से सरकारी वकीलों को न्यायालय में भेजा जाता है उसी प्रकार हर वकील की सैलरी अलग अलग होती है। APO एग्जाम दिलाने के बाद 45000 से 50000 तक की सैलरी वकील को मिलती है। काम को देखते हुए समय के साथ सैलरी भी बढ़ा दी जाती है।

Apo परीक्षा की तैयारी कौन से book से करें?

APO एग्जाम की तैयारी के लिए मार्केट में हर साल अलग अलग बुक आते है। आप अपने हिसाब से कोई भी बुक ले सकते है। APO exam में भारत के कानून से जुड़ी कई सारे प्रश्न आते है तो आप India History का book ले सकते है।आपको सभी विषयो के लिए अलग अलग बुक लेने होंगे क्युकी अलग बुक लेने से आपको ज्ञान अच्छे से मिल पाएगा।प्रारंभिक परीक्षा के लिए आप एक बुक से भी पढ़ सकते हैं। पर मुख्य परीक्षा के लिए अलग अलग बुक से ही पढ़ना उचित होगा। चलिए आपको कुछ एपीओ एग्जाम की बुक के नाम बताते है।

  • Pariksha manthan multiple choice questions book
  • Recent and landmark case law book
  • APO examination guide complete syllabus
  • Code of civil procedure
  • Indian act and law book

APO Exam ke baad Career Option

APO एक्जाम के बाद सरकारी नौकरी लग जाती है। किसी को एग्जाम को दिखाने के बाद आप एक सरकारी वकील बन जाते हैं। उच्चतम न्यायालय और सर्वोच्च न्यायालय और जीरा न्यायालय में सरकारी वकील को रखा जाता है। सरकार के पक्ष को रखने के लिए सरकारी वकील का होना जरूरी है।इसलिए इस पद को पूरा करने के लिए हर साल सरकारी वैकेंसी निकाली जाती है। एपीओ एग्जाम के बाद आप सरकारी वकील के अलावा प्राइवेट वकील भी बन सकते हैं। इस एग्जाम को दिलाने के बाद कानूनी क्षेत्र में आपको आराम से नौकरी प्राप्त हो जाएगी और 40000 से ₹50000 वेतन भी मिलेगा।

निष्कर्ष :-

APO एक सरकारी वकील बनने के लिए बहुत ही अच्छा परीक्षा है ,जो हर राज्य में आयोजित होता है। 12वीं के बाद अगर आप एलएलबी कर चुके हैं तो आप एपीओ एग्जाम दिला कर सरकारी वकील बन सकते हैं। सरकारी नौकरी के लिए हर कोई Apply करता है पर हर किसी को सरकारी पद प्राप्त नहीं होता। आप इस परीक्षा की तैयारी करके एपीओ एग्जाम में आवेदन कर सकते हैं।परंतु आवेदन करने से पहले सभी जानकारी का होना जरूरी है। इस आर्टिकल में हमने आपको APO एग्जाम के बारे में सभी जानकारी बताई है। आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप एपीओ एग्जाम की तैयारी अच्छे से कर सकते है।

Leave a Comment