B.ed कोर्स क्या होता है और कैसे करें 2022 में पूरी जानकारी

क्या आप एक शिक्षक बनना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे लोकप्रिय B.Ed course kya hota hai के बारे में जानना बहुत जरूरी है। इस B.Ed कोर्स को ज्वाइन करने से पहले आपको इसके बारे में सही और संपूर्ण जानकारी का होना बहुत जरूरी है। इस लेख में आपको B.Ed से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी मिलेगी जैसे कि b.ed फुल फॉर्म, B.Ed कोर्स क्या है, B.Ed कोर्स कैसे करें, B.Ed कोर्स कितने साल का होता है, B.Ed करने के फायदे और बीएड के बाद क्या करें आदि।

शिक्षक बनकर अपने ज्ञान को बाँटना किसी का सपना होता है या किसी का शौंक जैसा कि सबको पता है एक शिक्षक को Respect के साथ-साथ बहुत अच्छा वेतन भी मिलता है जिसके चलते वह इस क्षेत्र में अपना career सेट करते हैं। B.ed भी एक ऐसा ही कोर्स है जिसको करके कोई भी छात्र शिक्षक बन सकता है। चलिए दोस्तों b.ed डिग्री के बारे में और गहराई से जानकारी प्राप्त करते हैं इस लेख को पूरा पढ़कर।

B.ed Course क्या होता है?

b.ed course kya hai

B.Ed या Bachelor of Education 2 साल की Post Graduate Degree है जो एक तरह का Teacher Training Course होता है। B.Ed कोर्स करने के बाद आप प्राइवेट और सरकारी दोनों क्षेत्रों में पढ़ाने के लिए योग्य बनते हैं। यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके माध्यम से आपको एक शिक्षक बनने के लिए तैयार किया जाता है।

अगर आप शिक्षा क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आपको यह b.ed की डिग्री जरूर करनी चाहिए। कोई भी छात्र स्नातक (Graduation) डिग्री पास करने के बाद बीएड के लिए apply कर सकता है और अध्यापक के तौर पर अपना career बना सकता है। सरकार के नए नियमों के अनुसार सरकारी अध्यापक बनने के लिए b.ed की डिग्री अनिवार्य कर दी गई है। B.ed करने के बाद प्राइवेट क्षेत्र में भी बहुत जल्दी नौकरी मिल जाती है। यूँ तो b.ed करने के बहुत सारे फायदे हैं जो आपको आगे इस लेख में बताएंगे।

B.Ed की Full Form क्या है?

B.Ed की full form Bachelor of Education या शिक्षा में स्नातक है और यह Post Graduate Teacher Training Course होता है।

B.Ed Course कैसे करें in 2022

B.ed कोर्स क्या होता है यह जानने के बाद अब आप सोच रहे होंगे कि b.ed course kaise kare तो हम आपको बता दें कि b.ed कोर्स करने के लिए सबसे पहले आपकी ग्रेजुएशन क्लियर होनी चाहिए। ग्रेजुएशन पास छात्र किसी भी मान्यता प्राप्त महाविद्यालय से bed कर सकता है लेकिन इसके लिए प्रवेश परीक्षा देनी होगी। Entrance Exam होने के बाद छात्रों की काउन्सलिंग होती है जिसमें उनके रैंक के आधार पर कॉलेज आवंटित (allot) किया जाता है। B.ed को आप प्राइवेट कॉलेज से भी कर सकते हैं लेकिन अगर आप सरकारी महाविद्यालय से करते हैं तो खर्चा कम होगा और फायदेमंद भी रहेगा। इसके इलावा डिस्टेंस एजुकेशन यानि ओपन कॉलेज से कर सकते हैं। भारत के लगभग सभी राज्यों में b.ed कोर्स करवाया जाता है जिसमें उनकी फीस के साथ-साथ नियमों में थोड़ा बहुत फर्क होता है।

B.ed का कोर्स कब करें?

कुछ छात्र इन बातों को लेकर कंफ्यूज रहते हैं कि b.ed कोर्स कब करें या 12वीं के बाद b.ed कर सकते हैं या पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद b.ed कर सकते हैं आदि। आपको बता दें कि b.ed का कोर्स छात्र 3 situation में कर सकते हैं जैसे कि:

अगर आपकी धारणा यह है कि आप सिर्फ ग्रेजुएशन के बाद ही B.Ed कोर्स कर सकते हैं तो ऐसा बिल्कुल नहीं है क्योंकि आप 12 वीं कक्षा पास होने के बाद भी B.Ed कर सकते हैं और पोस्ट ग्रेजुएशन पास होने के बाद भी। लेकिन ज्यादातर student ग्रेजुएशन complete होने के बाद ही B.Ed करना पसंद करते हैं। अब आप सोच रहे होंगे इन तीनों हालतों में B.Ed करने पर कितना समय लगेगा तो चलिए जानते हैं।

यह भी पढ़ें:-

B.ed कोर्स कितने साल का होता है?

दोस्तों जैसा कि हमने आपको बताया कि B.Ed कोर्स को तीन तरह की हालत में कर सकते हैं और इसके लिए b.ed कोर्स की अवधि भी अलग-अलग होगी। आमतौर पर छात्र ग्रेजुएशन पास होने के बाद ही इस कोर्स को करते हैं लेकिन नए नियमों के हिसाब से b.ed के लिए ग्रेजुएशन जरुरी नहीं है। तो चलिए जानते हैं कि b.ed कोर्स कितने साल का होता है? और कब कितना समय लगेगा:

  • 12वीं के बाद b.ed:- नए नियमों के हिसाब से आप 12वीं पास होने के बाद भी B.Ed कोर्स कर सकते हैं क्योंकि इसके लिए आपको बीएड+इंटीग्रेशन कोर्स करना होता है। इसलिए 12वीं के बाद B.Ed 4 साल की हो जाती है।
  • ग्रेजुएशन के बाद b.ed:- अगर आप ग्रेजुएशन के बाद b.ed कोर्स करते हैं तो आपको नार्मल 2 साल की b.ed करनी होगी।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद b.ed:- अगर आप पोस्ट ग्रेजुएशन यानि M.A, M.Com या M.Sc आदि कर चुके हैं तो भी आप b.ed कोर्स के लिए apply कर सकते हैं। पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद b.ed कोर्स मात्र 1 साल का होता है।

बीएड के बाद क्या करें? (b.ed ke baad konsa course kare)

B.Ed की डिग्री पूरी कर लेते हैं तो आपके मन में यह सवाल आता होगा कि b.ed ke baad kya kare? B.Ed की डिग्री मिलने के बाद आपके पास सरकारी और प्राइवेट दोनों क्षेत्रों में नौकरी पाने का अवसर होता है। खुद का निजी विद्यालय खोल सकते हैं और छात्रों को ज्ञान दे सकते हैं। बीएड के बाद TET, TGT और PGT अध्यापक परीक्षा देकर सरकारी नौकरी पा सकते हैं। LT Grade  परीक्षा में भाग ले सकते हैं और असिस्टेंट अध्यापक बन सकते हैं। 12 वीं तक पढ़ाने के लिए जो भी प्रतियोगी परीक्षा होती है उसकी तैयारी कर सकते हैं। इन सभी के इलावा आर्मी स्कूल्ज, केंद्रीय विद्यालय, पब्लिक स्कूल और नवोदय विद्यालयों में नियुक्ति पा सकते हैं।

B.ed Course Fees क्या है?

अध्यापक बनने के लिए B.Ed कोर्स अनिवार्य है तो नॉर्मल सी बात है कि इसमें एडमिशन भी ज्यादा ही होंगी इसलिए B.Ed कोर्स की फीस कितनी है? यह सवाल आता है। B.Ed कोर्स के लिए सरकारी और प्राइवेट कॉलेज में फीस अलग-अलग होती है जैसे के सरकारी कॉलेज की फीस प्राइवेट के मुकाबले कम ही रहती है। अगर किसी कारण से छात्र को सरकारी कॉलेज में एंट्री नहीं मिलती है तो उसे मजबूरी वश प्राइवेट कॉलेज से ही B.Ed करनी पड़ती है। इसी इसी तरह से डिस्टेंस की फीस रेगुलर फीस थोड़ी कम होती है।

बहुत सारे छात्र ऐसे होते हैं जो B.Ed तो करना चाहते हैं लेकिन फीस को लेकर बहुत चिंतित होते हैं इसलिए उनको फीस के बारे में सही जानकारी होना बहुत जरूरी है। सरकारी कॉलेज में B.Ed की फीस प्रतिवर्ष लगभग 10,000 to 20,000 और प्राइवेट में b.ed की फीस प्रतिवर्ष लगभग 50,000 to 1 लाख तक हो सकती है। लेकिन यह कोई फिक्स अमाउंट नहीं है कियोंकि सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेज में फीस structure अलग-अलग होता है इसलिए आप इससे अनुमान लगा सकते हैं।

Education Loan कैसे मिलता है, पूरा Process जानिए।

B.Ed करने के फायदे (b.ed course benefits in Hindi)

इस कोर्स को बहुत सारे छात्र करना पसंद करते हैं तो जाहिर सी बात है B.Ed कोर्स के फायदे भी होंगे। B.Ed कोर्स के क्या benefits हो सकते हैं निम्नलिखित देखें:

  • सबसे पहले तो आप B.Ed कोर्स करने के बाद सरकारी और प्राइवेट दोनों क्षेत्रों में पढ़ाने के काबिल बनते हैं।
  • B.Ed की डिग्री मिलने के बाद आप किसी भी अध्यापक प्रतियोगी परीक्षा में भाग ले सकते हैं।
  • इस डिग्री को करने के बाद आपकी नॉलेज का दायरा बढ़ जाता है इसलिए आप एक सलाहकार भी बन सकते हैं।
  • आप बड़ी क्लास के बच्चों को कोचिंग दे सकते हैं।
  • शिक्षा के क्षेत्र में बहुत अच्छा करियर बना सकते हैं क्योंकि आप को सैलरी पैकेज अच्छा खासा मिल जाता है।
  • B.Ed की डिग्री मिलने के बाद शिक्षा के क्षेत्र में खुद का institute या स्कूल चला सकते हैं

निष्कर्ष:- B.ed Course kya hai

तो दोस्तों इस लेख में आपने सीखा कि B.Ed Course Kya Hota Hai और B.Ed कैसे करें, इसके अलावा B.Ed से जुड़ी अन्य जानकारी जैसे कि b.ed full form, B.Ed course कितने साल का होता है, B.Ed कोर्स फीस, B.Ed करने के फायदे और B.Ed के बाद क्या करें आदि को समझा। अगर फिर भी b.ed course ke bare mein jankari को लेकर कोई सवाल आपके मन में हो तो आप हमें बेझिजक पोस्ट के नीचे कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं। अगर आपको यह लेख मददगार लगा हो तो आप हमें सपोर्ट करने के लिए इस लेख को अपने सोशल मीडिया जैसे कि Facebook और WhatsApp आदि पर शेयर जरूर करें, धन्यबाद।

3 thoughts on “B.ed कोर्स क्या होता है और कैसे करें 2022 में पूरी जानकारी”

Leave a Comment