WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Bachelor of Law Degree क्या है? Full Details in Hindi 2024

Bachelor of Law degree की डिमांड काफी ज्यादा बढ़ गई है क्योंकि आज के समय में बढ़ती जनसंख्या के कारण देश भर में विभिन्न प्रकार के अपराध हो रहे हैं और इसी से संबंधित विभिन्न प्रकार के पद और विभिन्न प्रकार के कोर्स उजागर हो रहे हैं। ऐसी स्थिति में आज के टाइम में भारतीय कानून से जुड़ा हुआ एक महत्वपूर्ण कोर्स Bachelor of Law है, जिसे आमतौर पर LLB भी कहा जाता है। इस कोर्स को कानून के क्षेत्र में आगे की शिक्षा ग्रहण करने वाले विद्यार्थियों द्वारा किया जाता है। इस कोर्स के तहत भर्ती है कानून के नियम और नीति के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी के साथ अध्ययन करवाया जाता है।

बैचलर ऑफ लॉ कोर्स पूरा करने के बाद काउंसलिंग ऑफ इंडिया संस्था के अंतर्गत खुद को पंजीकृत करवाने के बाद कानून का अभ्यास किया जा सकता है। आज के समय में इस कोर्स को करने वाले विद्यार्थियों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है भारत का कानून बहुत बड़ा है क्योंकि भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा संविधान है। जिसकी वजह से प्रत्येक क्षेत्र संगठन जाति वर्ग धर्म और जगह स्थान इत्यादि से संबंधित विभिन्न प्रकार के कानून बनाए गए हैं। हर प्रस्तुति हर समस्या और हर प्रकार के कानून उपस्थित हैं। इन सभी कानून को अच्छी तरह से समझने के लिए और लोगों को जागरूक करने के लिए भी समय-समय पर विभिन्न प्रकार के कदम उठाए जाते हैं।

बैचलर ऑफ लॉ की डिग्री प्राप्त करने के बाद आपके सामने में भिन्न प्रकार के कैरियर विकल्प उपस्थित होते हैं। आमतौर पर इस डिग्री को वकील बनने के लिए प्राप्त किया जाता है। लेकिन इसके अलावा भी शिक्षक मीडिया के छात्र सामाजिक कार्य जानकार पत्रकार तथा विभिन्न प्रकार के कार्य किए जा सकते हैं। Bachelor of Law डिग्री प्राप्त करने के बाद आप एक भारतीय कानून के जानकार बन जाते हैं यह एक महत्वपूर्ण और सम्मानजनक कोर्स माना जाता है जिसे संपूर्ण देश में बड़ी-बड़ी कॉलेज यूनिवर्सिटी और शिक्षण संस्थान द्वारा करवाया जाता है तो आएंगे बैचलर ऑफ लॉ कोर्स के बारे में विस्तार से जानते हैं।

बैचलर ऑफ लॉ कोर्स क्या है? —

Bachelor of Law कोर्स को short form में LLB भी कहा जाता है। यह एक अंडर ग्रेजुएशन डिग्री है जो भारतीय कानून नियम और विनियमो के अंतर्गत प्रदान करवाई जाती है। कानूनी नियम वह होते हैं जिससे किसी भी समाज या देश को चलाया जाता है इससे संबंधित एक पाठ्यक्रम निर्धारित किया जाता है। इस पाठ्यक्रम को संपूर्ण करने पर कानून की डिग्री की उपाधि दी जाती है जो विभिन्न प्रकार के क्षेत्रों में नौकरी दिलाने में भी कारगर साबित होती है। आमतौर पर Bachelor of Law की डिग्री प्राप्त करने के बाद वकील तथा मुख्य रूप से कानून के क्षेत्र में कार्य किए जाते हैं।

Bachelor of Law degree in Hindi

Bachelor of Law अंडरग्रैजुएट कोर्स को करने के लिए आपको 3 वर्ष का समय देना होगा। इसे 6 सेमेस्टर में तथा 3 वर्ष में पूरा किया जाता है। इससे पहले आपको कोई भी विशेष सब्जेक्ट के तहत अध्ययन नहीं करना होता है। किसी भी सब्जेक्ट के तहत 12वीं कक्षा पास करने के बाद आप इस डिग्री को प्राप्त कर सकते हैं। यह एक सम्मानजनक डिग्री है इस कोर्स को पूर्ण करने के बाद आप विभिन्न प्रकार से कानून के क्षेत्र से संबंधित पदों पर कार्यरत हो सकते हैं और विभिन्न प्रकार से अपना करियर विकल्प चयन कर सकते हैं। इस कोर्स को करने के बाद आपको अच्छा वेतन भी मिल सकता है।

बैचलर ऑफ लॉ के लिए योग्यता —

भारतीय कानून पर आधारित Bachelor of Law डिग्री का यह कोर्स काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह एक महत्वपूर्ण कोर्स माना जाता है। इसीलिए इस उपवास को करने के लिए कुछ योग्यता निर्धारित की गई है। निर्धारित की गई योग्यता के आधार पर कोई भी व्यक्ति भारतीय कानून पर आधारित बैचलर ऑफ लॉ कोर्स की डिग्री हासिल कर सकता है। इस कोर्स के लिए निर्धारित की गई योग्यता इस प्रकार है—

  • इस डिग्री को कोई भी 12वीं पास विद्यार्थी कर सकता है।
  • बारहवीं कक्षा किसी की मान्यता प्राप्त बोर्ड से पास करनी होगी।
  • बात कक्षा में कम से कम 45% अंक प्राप्त होने चाहिए।
  • बारहवीं कक्षा किसी भी ट्रेन से पास कर सकते हैं।
  • बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण करने का सर्टिफिकेट होना चाहिए।
  • 5 साल का यह कोर्स पूर्ण करना होगा।
  • ग्रैजुएट डिग्री वालों के लिए यह कोर्स 3 वर्ष का होता है।
  • इस डिग्री को हासिल करने के लिए किसी भी आयु सीमा को निर्धारित नहीं किया गया है।
  • व्यक्ति के पास कैस पर नजर बनाए रखने की सोच कुछ होनी चाहिए।
  • व्यापारिक जागरूकता होनी चाहिए।
  • संचार कौशल तथा शैक्षणिक क्षमता होनी चाहिए।
  • आत्मविश्वास होना चाहिए।

बैचलर ऑफ लॉ के प्रकार और स्पेशलाइजेशन —

Bachelor of Law डिग्री के तीन प्रकार निर्धारित किए गए हैं। इन तीन ही प्रकार के अंतर्गत डिग्री को हासिल करने के लिए आपको प्रत्येक डिग्री के अनुसार 5 वर्ष पूर्ण करने होंगे यानी कि कोर्स की अवधि 5 वर्ष की गई है तथा कोर्स के नाम इस प्रकार हैं BBA LLB, BSc LLB, BA LLB.

  • स्पेशलाइजेशन के प्रकार इस तरह है — साक्ष्य का कानून,
  • बौद्धिक संपदा कानून, कराधान का कानून, बैंकिंग कानून, राजनीतिक विज्ञान, पारिवारिक कानून, प्रशासनिक कानून,
  • कानूनी लेखन, कानूनी तरीके, मुकदमे की पैरवी, विधिशास्त्र, मानवाअधिकार, अंतरराष्ट्रीय कानून, पर्यावरण कानून, अपराध.

बैचलर ऑफ लॉ कोर्स का सिलेबस —

इस कोर्स को पूर्ण करने के लिए आपको कोर्स के अंतर्गत दिए गए विषयों से संबंधित अध्ययन करना होता है। विभिन्न प्रकार के विषय से संबंधित और विभिन्न प्रकार के कारण का ज्ञान देना होता है। इस डिग्री के अंतर्गत आने वाला सिलेबस इस प्रकार है —

श्रम कानून, परिवार कानून, आपराधिक प्रक्रिया संहिता, कंपनी लॉ, व्यावहारिक प्रशिक्षण प्रारूपण, सहकारी कानून, अपराध, महिला और कानून, अपराध, अंतर्राष्ट्रीय अर्थशास्त्र कानून, संवैधानिक कानून, तुलनात्मक कानून, बीमा का कानून, कानूनों का टकराव, बौद्धिक संपदा कानून, व्यावसायिक नैतिकता, साक्ष्य का कानून, मध्यस्थता, सुलह और वैकल्पिक, मानवाधिकार अंतरराष्ट्रीय कानून, पर्यावरण कानून।

People Also Read:-

CLAT परीक्षा क्या होती है पूरी जानकारी?

APO Exam क्या होता है, Full details in Hindi?

नोटरी वकील क्या होता है कैसे बने?

Judge क्या होता है जज बनने से जुड़ी पूरी जानकारी?

बैचलर ऑफ लॉ कोर्स आवेदन प्रक्रिया —

ऐसा कोर्स को करने के लिए सबसे पहले आपको उसे यूनिवर्सिटी का चयन करना होगा। जैसे यूनिवर्सिटी से आप Bachelor of Law कोर्स करना चाहते हैं। अब उस यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट पर पहुंचे और अपना अकाउंट बनाएं अकाउंट बनाने के बाद यूजर आईडी और पासवर्ड से लॉग ऑन करें। अब आपको यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट पर बैचलर ऑफ लॉ कोर्स को चुनकर आवेदन करना होगा। अब आपके सामने आवेदन फार्म खुल जाएगा यहां पर आपसे पूछे हुई सभी महत्वपूर्ण और जरूरी जानकारी दर्ज करनी है तथा संबंधित दस्तावेजों को भी अपलोड कर रहा है।

अब आपको निर्धारित की गई आवेदन फीस का भुगतान करना होगा। ऑनलाइन माध्यम से फेस का भुगतान करने के बाद एक बार अपनी सभी जानकारी को चेक कर ले तथा सबमिट के बटन पर क्लिक कर दें। अब आपका उसे यूनिवर्सिटी के अंतर्गत Bachelor of Law डिग्री प्राप्त करने का आवेदन लग चुका है। अब आप को निर्धारित की गई तारीख के दिन प्रवेश परीक्षा देनी होगी। प्रवेश परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर ही आपका आवेदन स्वीकार किया जाएगा। आवेदन स्वीकार होने के बाद कानून की पढ़ाई पूरी करके Bachelor of Law डिग्री धारक बन जाएंगे।

Conclusion

बैचलर ऑफ लॉ कोर्स पूर्ण करने से कानून की डिग्री मिलती है। यह डिग्री भारतीय कानून से संबंध रखते हैं।‌ दरअसल इस कोर्स के तहत आपको भारतीय कानून की नियम नीति और शर्तों के बारे में बताया जाता है, जिससे आप एक सफल वकील बन सकते हैं। कानून के जानकार बन सकते हैं। मीडिया के क्षेत्र में, पत्रकार के क्षेत्र में, सामाजिक क्षेत्र में और विभिन्न प्रकार के क्षेत्र में कार्य कर सकते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हम आपको पूरी जानकारी के साथ विस्तार पूर्वक Bachelor of Law कोर्स के बारे में बता चुके हैं उम्मीद करते हैं कि यह जानकारी आपको अवश्य पसंद आई होगी। अगर आपका इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी प्रश्न है? तो आप नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। हम पूरी कोशिश करेंगे कि आपके द्वारा पूछे गए प्रश्न का उत्तर समय पर दे सकें।

Leave a Comment