Bank Me Cashier kaise bane | 2022 में बैंक कैशियर से जुड़ी संपूर्ण जानकारी

Bank Me Cashier बनने का सपना काफी युवाओं का होता है क्योंकि यह एक बेहतरीन करियर ऑप्शन है। इसीलिए ज्यादातर लोग बैंक में कैशियर बने का सपना देखते हैं। तो आज के इस आर्टिकल में हम आपको बैंक में कैशियर बनने के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से बता देते हैं। बैंक में कैशियर के बारे में तो आप सभी जरुर जानते ही होंगे। कभी ना कभी आपने बैंक के अंदर पैसों का लेनदेन करने वाले अधिकारी को देखा ही होगा, उसे बैंक कैशियर कहते हैं। Bank Me Cashier बनने के लिए किसी भी यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करनी होती है।

किसी भी बैंक की ब्रांच के अंदर नकद पैसों का लेनदेन करना Bank Cashier का काम होता है। Cashier ही ग्राहकों के पैसे जमा करता है और बैंक से पैसे जमा करता है। इसके अलावा बैंक में रखे गए पैसों का रखरखाव और उसका पूरा हिसाब किताब Bank Cashier द्वारा ही किया जाता है। इसीलिए किसी भी बैंक के लिए Bank Cashier एक महत्वपूर्ण पद होता है। इस पद पर कार्यरत अधिकारी को अच्छा वेतन मिलता है। यही कारण है कि ज्यादातर युवा वर्तमान समय में Bank Cashier बनना चाहते हैं। Bank Me Cashier बनने लिए विभिन्न प्रकार की योग्यता है। बैंक का काम और प्रत्येक बैंक के अनुसार अलग-अलग वेतन दिया जाता है।

वर्तमान समय में भारत में सैकड़ों की संख्या में बैंक है। लेकिन विशेष रूप से भारत के प्रमुख लोकप्रिय बैंक में कैशियर की नौकरी करने वाले अधिकारियों को अच्छा वेतन दिया जाता है। भारत के बड़े प्राइवेट बैंक अपने कर्मचारियों को सरकारी बैंक के कर्मचारियों की भांति वेतन देते हैं। भारत के सरकारी बैंकों में भी बैंक की क्षमता के अनुसार ही उसके अधिकारियों को वेतन दिया जाता है। इसी प्रकार आप कितने बड़े बैंक में Bank Cashier का काम करते हैं। यह उसके ऊपर निर्भर करता है कि आप को कितना वेतन दिया जाएगा, आइए पूरी जानकारी विस्तार से प्राप्त करते हैं।

Bank Cashier का कार्य –

किसी भी बैंक में कैशियर का मुख्य कार्य पैसों का लेनदेन करना होता है। बैंक कैशियर बैंक की एक शाखा में बैंक और ग्राहकों के बीच पैसों का लेनदेन करने वाले अधिकारी के रूप में कार्य करता है। इस दौरान Bank Cashier अपनी जिम्मेदारी के साथ बैंक की शाखा के अंतर्गत जमा होने वाली धनराशि और ग्राहकों को दी जाने वाली धनराशि का पूरा हिसाब किताब रखता है। Bank Cashier ग्राहकों को पैसे देता है जबकि ग्राहकों द्वारा जमा करवाए गए पैसों को बैंक में जमा करता है।

ग्राहकों द्वारा दिए गए पैसों को बैंक में एक जगह सुरक्षित स्टोर करके रखना पड़ता है और उन पैसों का पूरा हिसाब किताब अभी आगे देना पड़ता है। बैंक में हुए सभी तरह के लेन-देन का पूरा विवरण Bank Cashier को अपने बैंक की शाखा के मैनेजर को सौंपना होता है। बैंक में किसी भी प्रकार की पैसों से संबंधित लेनदेन की गड़बड़ी की जिम्मेदारी Bank Cashier की ही होती है। इसीलिए Cashier की नौकरी काफी सोच समझने के बाद ही करनी चाहिए। लेकिन इसमें अत्यधिक वेतन दिया जाता है। इसलिए ज्यादातर लोग सरकारी बैंक में रहना चाहते हैं।

Bank Cashier बनने के लिए योग्यता –

  • उम्मीदवार भारत का स्थानीय नागरिक होना चाहिए।
  • उम्मीदवार की आयु कम से कम 21 वर्ष और अधिकतम 28 वर्ष ही होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार कम से कम ग्रेजुएशन की डिग्री पास होने चाहिए।
  • उम्मीदवार को ग्रेजुएशन की डिग्री के अंतर्गत 60% अंक लाने आवश्यक है।
  • आरक्षित वर्ग वालों के लिए ग्रेजुएशन की डिग्री के अंक में छूट दी जाती है।
  • आरक्षित वर्ग वालों को 5 वर्ष तक की आयु सीमा के अंतर्गत छूट मिल जाती है।
  • Candidate विधवा महिला या तलाकशुदा महिला को आयु सीमा में 9 वर्ष तक की छूट मिलती है।
  • शारीरिक रूप से विकलांग उम्मीदवार को 10 वर्ष तक की आयु सीमा में छूट प्रदान की जाती है।
  • Bank Cashier के लिए होने वाली सभी परीक्षाओं को उचित अंकों के आधार पर पास करना आवश्यक है।

Bank Me Cashier कैसे बनें?

Bank Me Cashier kaise bane | 2022 में बैंक कैशियर से जुड़ी संपूर्ण जानकारी

बैंक कैशियर बनने के लिए उम्मीदवार को दो परीक्षाएं पास करनी होती हैं। Bank Me Cashier बनने के लिए सबसे पहले एक प्री एग्जाम होता है। उस एग्जाम को पास करने के बाद ही मुख्य परीक्षा में बैठाया जाता है। मुख्य परीक्षा को उचित अंकों के साथ पास करने के बाद फाइनल मेरिट तय की जाती है। फाइनल मेरिट के आधार पर ही बैंक कैशियर का सिलेक्शन किया जाता है। लेकिन इस दौरान आपको अत्यधिक मेहनत करने की आवश्यकता है क्योंकि यह परीक्षा काफी कठिन होती है।

तहसीलदार कैसे बने Tehsildar से जुड़ी हुई जानकारी?

नोटरी वकील कैसे बने संपूर्ण जानकारी?

स्टेनोग्राफर कैसे बने जानिए पूरी जानकारी?

पत्रकार यानी News Reporter कैसे बने पूरी जानकारी?

Bank Cashier Exam –

Bank Me Cashier का एग्जाम दो भागों में होता है। अगर आप बैंक में कैशियर कहना चाहते हैं। तो आपको दो परीक्षाएं पास करनी होगी। सबसे पहले Bank Cashier के लिए IBPS Pre Exam पास करना होगा। इस परीक्षा में अत्यधिक कठिन प्रश्न नहीं पूछे जाएंगे, फिर भी विशेष रुप से आपको तैयारी के साथ ही जाना होगा। क्योंकि इस परीक्षा को पास करने के बाद ही IBPS Mains Exam परीक्षा में बताया जाता है, जिसके बाद फाइनल मेरिट के आधार पर Bank Me Cashier का चयन किया जाता है।

IBPS Pre Exam Subject –

बैंक मैं कैसियर बनने के लिए प्री एग्जाम के अंतर्गत Reasoning, Quantitative Aptitude, English Language, विषय शामिल किए जाते हैं। आपको इन विषय पर अत्यधिक ध्यान आकर्षित करना चाहिए। इन तीनों विषय से संबंधित IBPS Pre Exam में प्रश्न पूछे जाते हैं। हालांकि यह प्रश्न काफी कठिन नहीं होते हैं फिर भी इसके लिए आपको विशेष रूप से तैयारी करनी पड़ेगी।

IBPS Mains Exam Subject –

Bank Me Cashier बनने के लिए यह मुख्य परीक्षा निर्धारित की गई है। इस परीक्षा के अंतर्गत Reasoning & Computer, Quantitative, English Language, General, Financial विषयों से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। इस परीक्षा में ना केवल पास होना अनिवार्य है बल्कि इस परीक्षा के बाद जारी की गई फाइनल मेरिट लिस्ट में भी अपना स्थान प्राप्त करना आवश्यक है क्योंकि परीक्षा के अंदर पास होने वाले विद्यार्थियों को जरूरत के अनुसार सिर्फ विद्यार्थियों का एक मेरिट अंक फाइनल किया जाता है। उस लिस्ट में आने वाले सभी विद्यार्थियों को बैंक में कैशियर के सिलेक्शन हेतु भेज दिया जाता है।

IBPS Pre Exam pattern –

English Language – 30 अंको के लिए 20 मिनट में 30 प्रश्नों के उत्तर देने होते हैं।

Numerical Ability – 35 आंखों के लिए 35 प्रश्नों के उत्तर 20 मिनट की अवधि में देने होते हैं

Reasoning Ability – 35 प्रश्नों के उत्तर 35 अंको के लिए 20 मिनट में देने होते हैं

IBPS Mains Exam pattern –

इस परीक्षा के अंतर्गत कुल 200 अंकों हेतु 190 प्रश्नों के उत्तर 160 मिनट में देने होते हैं जो इस प्रकार है –

Reasoning & Computer – 50 प्रश्न

Quantitative Aptitude – 50 प्रश्न

English Language – 40 प्रश्न

General & Financial – 50 प्रश्न

बैंक कैशियर बनना –

Bank Me Cashier बनाने के लिए IBPS की परीक्षा को पास करना होता है। इस परीक्षा को दो भागों में आयोजित करवाया जाता है। पहला प्री एग्जाम दूसरा मुख्य परीक्षा इन दोनों ही परीक्षा में पास होना जरूरी है। दोनों ही परीक्षा में पास होने के बाद फाइनल मेरिट के आधार पर एक लिस्ट जारी की जाती है। उस लिस्ट में शामिल सभी लोगों का सिलेक्शन Bank Cashier के लिए कर दिया जाता है। लेकिन इसके लिए आपको विशेष रूप से लगातार कड़ी मेहनत करनी होगी और ज्यादा से ज्यादा नॉलेज प्राप्त करना होगा। ताकि आप का पेपर अच्छा हो और आप इस परीक्षा में सफल हो जाए।

इस परीक्षा में आने वाले प्रश्न से संबंधित विषय इस आर्टिकल में हम आपको ऊपर बता चुके हैं। आप उन सभी विषयों पर आधारित हर तरह की छोटी बड़ी जानकारी प्राप्त करें और विशेष रूप से बैंक तथा फाइनेंशियल जानकारी को ज्यादा से ज्यादा ग्रहण करें। ताकि आप अपेक्षा में सफल हो सकें। बता देंगे बैंक में कैशियर बनने के लिए लाखों लोग परीक्षा देते हैं। लेकिन ज्यादा competition की वजह से बहुत ही कम लोग सफल हो पाते हैं। इसीलिए आपको परीक्षा से काफी समय पहले से ही तैयारी कर लेनी चाहिए और अधिक से अधिक समय अपनी पढ़ाई को देना होगा।

Bank Cashier की सैलरी कितनी होती है?

बैंक में पैसों का लेनदेन करने वाले मुख्य अधिकारी को Bank Cashier कहा जाता है। प्रत्येक बैंक की शाखा में एक Bank Cashier अवश्य होता है। सभी बैंकों और उनकी शाखाओं के अनुसार Bank Me Cashier की सैलरी अलग-अलग होती हैं। लेकिन अनुमानित भारत में Bank Cashier का वेतन ₹100000 से लेकर ₹500000 तक प्रति वर्ष होता है या वेतन बैंक के आकार ट्रांजैक्शन लोकप्रियता इत्यादि पर निर्भर करता है।

Conclusion

बैंक में आपका खाता जरूर होगा या फिर आपने बैंक में कभी ना कभी पैसों का लेनदेन करते हुए किसी व्यक्ति या अधिकारी को देखा ही होगा। बैंक में जो भी अधिकारी ग्राहकों से पैसा लेता है या ग्राहकों को पैसा देता है, उस अधिकारी को Cashier कहते हैं। कैसियर बनने के लिए कौनसी परीक्षा पास करनी होती है? Bank Cashier की परीक्षा कितने भागों में होती है! Bank Cashier की परीक्षा का पैटर्न क्या है? Bank Me Cashier की सैलरी कितनी है? इत्यादि संपूर्ण जानकारी आज के इस आर्टिकल में हम आपको विस्तार से बता चुके हैं। हमें उम्मीद है यह जानकारी आपके लिए अवश्य ही उपयोगी साबित हुई होगी। अगर आपका हिसाब से संबंधित प्रश्न है? तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Leave a Comment