BDS कैसे करें? BDS करके दांतो का डॉक्टर कैसे बने? | Dental Doctor in Hindi

दातों के डॉक्टर (Dentist) की आज के समय में काफी बड़ी रिक्वायरमेंट देखने को मिलती है क्योंकि आज के समय में हर लोग गलत खानपान की वजह से अपने स्वास्थ्य के साथ दातों को भी खराब कर बैठते हैं। बता दें कि आज के समय में भागदौड़ भरी जीवनशैली में लोग गलत आदतों की वजह से विभिन्न प्रकार की समस्याओं से झुझते हैं। परंतु आप लोग विभिन्न प्रकार के गलत खानपान की वजह से अपने दाताओं को भी कमजोर कर बैठते हैं। आज के समय में हमें देश और दुनिया में दांतो से संबंधित विभिन्न प्रकार की समस्या देखने को मिलती है। यह सब गलत खानपान एवं गलत आदतों का ही परिणाम है।

अक्सर हमें घर के बड़े लोग गर्म और ठंडी वस्तुएं उचित समय पर खाने की सलाह देते हैं। उसका कारण यही है कि दांतो की मजबूती और दातों का स्वास्थ्य हमेशा बरकरार रहे क्योंकि अधिक गर्म चीजों को खाने से दांत कमजोर होते हैं। जबकि अधिक ठंडी चीजें खाने से भी दातों पर बुरा असर पड़ता है। दांत जल्दी कमजोर हो जाते हैं। अधिक ठंडा और अधिक गर्म खाना अथवा चीजों या फिर तरल पदार्थों को ग्रहण करने से दांतों की जड़ों पर गहरा प्रभाव पड़ता है तथा धीरे-धीरे इस तरह से दातों की जड़ें कमजोर होकर बिल्कुल नष्ट हो जाती है।

गलत खानपान की वजह से एवं अत्यधिक मीठा खाना खाने से दातों के अंदर विभिन्न प्रकार के ऐसे कीड़े पड़ जाते हैं जो दातों को पूरी तरह से नष्ट कर देते हैं। ऐसी स्थिति में हमें डॉक्टर के पास जाना होता है जो विशेष रूप से दांतों का इलाज करते हैं यही कारण है कि आज के समय में दांतो के डॉक्टर की डिमांड बढ़ गई है। इसीलिए अधिकांश युवा दांतो का डॉक्टर बनना चाहते हैं। इसके लिए विभिन्न प्रकार के कोर्स निर्धारित किए गए हैं। तो आइए जानते हैं कि दातों से संबंधित डॉक्टर की पढ़ाई BDS kaise kare?

BDS करने की योग्यता (Dentist Eligibility in Hindi 2022)

BDS कैसे करें? BDS करके दांतो का डॉक्टर कैसे बने? | Dental Doctor in Hindi
  • सबसे पहले आपको 12वीं कक्षा फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी अथवा अंग्रेजी विषय से पास करनी होगी।
  • 12वीं कक्षा में कम से कम 50 से 55% अंक प्राप्त होने चाहिए।
  • इस कोर्स को करने के लिए आप की न्यूनतम आयु 17 वर्ष होनी चाहिए।
  • इस कोर्स में आवेदन से पहले आपको “Ntional Eligibility Cum Entrance Test” पास करना होगा।
  • आपकी Dentist बनने की रूचि होनी चाहिए।

BDS करने की प्रक्रिया

दातों से संबंधित डॉक्टर बनने के लिए BDS कोर्स करना होता है। लेकिन अगर आप शुरुआत से ही दांतों से संबंधित डॉक्टर बनना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले 12वीं कक्षा अच्छे अंको से पास करनी होगी। बारहवीं कक्षा के अंतर्गत आपको फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी अथवा अंग्रेजी विषय का ही चयन करना होगा। इन सभी विषय के अंतर्गत आप को कम से कम 50 से 55% अंक प्राप्त करने होंगे। तभी जाकर आप आ गए दांतो से संबंधित Doctor बनने की पढ़ाई कर सकते हैं।

BDS करने के लिए आपको हर वर्ष आयोजित NEET‌ की परीक्षा देनी होगी। इस परीक्षा में पास होने के बाद एवं परीक्षा में आने वाले अंकों के आधार पर ही आपको देश के बेहतरीन शिक्षण संस्थान में से किसी एक शिक्षण संस्थान में आवेदन दिया जाएगा। यह एक entrance exam है जो आपकी योग्यता को सिद्ध करता है‌। इस एग्जाम में अगर आप अच्छे अंक बना लेते हैं तो आपको BDS करने के लिए देश के सर्वोच्च शिक्षण संस्थान में एडमिशन मिलता है।

एडमिशन मिलने के बाद शिक्षण संस्थानों में आपको दांतो का डॉक्टर बनने से संबंधित शिक्षा दी जाती है। यह कोर्स 5 सालों का होता है यानी कि 5 वर्षों के दौरान आपको दांतों से संबंधित सभी तरह की महत्वपूर्ण और जरूरी जानकारी बताई जाती है तथा फिजिकल रूप से भी आपका टेस्ट लिया जाता है और आपको फिजिकल रूप से आंतों का उपचार करके बताया जाता है। 5 सालों में इस कोर्स को कंप्लीट करने के बाद शिक्षण संस्थान द्वारा आयोजित मुख्य परीक्षा को पास करने के बाद आपको दंत चिकित्सक यानी कि Dentist बना दिया जाता है।

MBBS Doctor कैसे बने पूरी जानकारी?

मनोवैज्ञानिक कैसे बने? Psychologist बनने से जुड़ी पूरी जानकारी।

जज कैसे बने जज बनने से जुड़ी पूरी जानकारी?

भारत के टॉप BDS कोर्स करवाने वाले शिक्षण संस्थान

भारत में दातों से संबंधित डॉक्टर बनने के लिए इस कोर्स को देश के विभिन्न शिक्षण संस्थान करवाते हैं जिनमें सरकारी तथा प्राइवेट शिक्षण संस्थान शामिल है। भारत के कुछ ऐसे नाम चेंज शिक्षण संस्थान जो अपने नाम और काम की वजह से जाने जाते हैं। उनके नाम निम्नलिखित हैं —

  • Manipal College of Dental Sciences Karnataka
  • Dr D Y Patil Vidyapeeth Pune
  • Saveetha Institute of Medical and Technical Sciences Chennai
  • Maulana Azad Institute of Dental Sciences Delhi
  • A B S M Institute of Dental Sciences Mangaluru Karnataka
  • Nair Hospital Dental College Mumbai
  • SRM Dental College Chennai
  • JSS Dental College and Hospital Mysuru Karnataka
  • Shri Ramchandra Institute of Institute of Higher Education and Research Chennai
  • M.S Ramaiah University of Applied Science Bangalore

BDS कोर्स के लिए फीस

दांतों के डॉक्टर बनाने के लिए BDS कोर्स करना होता है यह कोर्स 5 सालों का होता है जिसे कराने के लिए भारत में विभिन्न प्रकार के सरकारी और प्राइवेट शिक्षण संस्थान उपलब्ध है। सरकारी शिक्षण संस्थान में कम फीस ली जाती है। जबकि प्राइवेट शिक्षण संस्थान में सरकारी शिक्षण संस्थान के मुकाबले काफी ज्यादा फीस ली जाती है। प्रत्येक शिक्षण संस्थान के ऊपर निर्भर करता है कि वहां पर इस कोर्स के लिए कितनी फीस ली जाती है। लेकिन आमतौर पर इस कोर्स के लिए 50000 से लेकर ढाई लाख रुपए प्रति वर्ष के आधार पर फीस ली जाती है। यह फीस सरकारी कॉलेजों में काफी कम है।

BDS करने के बाद करियर स्कोप

इस कोर्स को करने के बाद आप दांतो का डॉक्टर बन जाते हैं। इसीलिए आपको करियर स्कोप की बिल्कुल भी चिंता नहीं करनी चाहिए क्योंकि यह एक वर्तमान समय में डिमांड वाला कोर्स है। वर्तमान समय में भारत में Dentist की काफी ज्यादा demand देखने को मिलती है। इसीलिए अगर आप इस कोर्स को करते हैं तो आपके लिए करियर विकल्प के तौर पर विभिन्न प्रकार के विकल्प देखने को मिलते हैं। भारत के अलावा पश्चिमी देश America, England, Japan, सऊदी अरब, कुवैत, कतर, ओमान जैसे दूसरे देश और यूरोपियन देशों में भी दातों के डॉक्टर की बढ़ी कमी देखने को मिलती है। वहां पर आप दांतों से संबंधित चिकित्सक का काम करके एक बेहतरीन करियर scope देख सकते हैं।

BDS के बाद नोकरी

इस कोर्स को करने के बाद भारत में विभिन्न प्रकार की जॉब उपलब्ध है जिसके लिए आप कार्यरत हो सकते हैं। आमतौर पर इस कोर्स को करने के बाद लोग सरकारी नौकरी के लिए आवेदन करते हैं क्योंकि सरकारी नौकरी में अच्छी तनख्वाह के साथ विभिन्न प्रकार की सरकारी सुविधाएं भी मिलती है। लेकिन आज के समय में प्राइवेट अस्पताल भी किसी से कम नहीं है क्योंकि प्राइवेट अस्पताल में भी सरकारी अस्पताल की तरह अच्छी सैलरी दी जाती है। इस कोर्स को करने के बाद मिलने वाले पदों के नाम इस प्रकार हैं —

  • Oral Surgery
  • Research Labs
  • Dental Surgeon
  • Orthodontics
  • Dental Clinics
  • International Welfare Organizations
  • Indian Armed Force
  • Hospitals
  • Forensic Department

BDS के बाद सैलरी

इस कोर्स को करने के बाद आप को सैलरी की बिल्कुल भी चिंता नहीं करनी चाहिए क्योंकि यह एक महत्वपूर्ण कोर्स है तथा इस कोर्स को करने के बाद दातों से संबंधित सहायक डॉक्टर से लेकर सर्जन डॉक्टर तक बन सकते हैं। इसीलिए यहां पर अच्छी सैलरी मिलती है। आप किस क्षेत्र में तथा किस पद पर कार्यरत है। इस बात पर निर्भर करता है कि आप की सैलरी कितनी है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आमतौर पर इस कोर्स को करने के बाद 40,000 से लेकर ₹70000 हर महीने आसानी से दिए जाते हैं।

Conclusion

दातों से संबंधित इलाज करने वाले डॉक्टर को डेंटिस्ट कहते हैं। जिसकी वर्तमान समय में काफी डिमांड देखने को मिलती है। डेंटिस्ट की अच्छी सैलरी होती है। इसीलिए आज के अधिकांश युवा डेंटिस्ट बनना चाहते हैं। लेकिन उन्हें इस बात का पता नहीं होता है कि डेंटिस्ट कैसे बनते हैं? उसके लिए कौन-कौन से कोर्स करने होते हैं? इसीलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको पूरी जानकारी के साथ विस्तार से बता चुके हैं कि डेंटिस्ट कैसे बनें? यानी कि डेंटिस्ट बनने के लिए BDS kaise kare? तो हम उम्मीद करते हैं कि यह जानकारी आपको जरूर उपयोगी लगी होगी? अगर आपका इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी प्रश्न है? तो आप नीचे कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। हम आपके द्वारा पूछे गए प्रश्न का उत्तर अवश्य देंगे।

Leave a Comment