बेरोजगारी भत्ता क्या होता है और कैसे प्राप्त करें?

Berojgari bhatta विभिन्न राज्य की सरकारों और केंद्र सरकार द्वारा प्रदान किया जाता है। समय-समय पर सरकार द्वारा कुछ लोगों को Berojgari Bhatta योजना के तहत कुछ पैसे दिए जाते हैं, जिनसे वे अपना थोड़ा बहुत खर्चा निकाल सकते हैं। यह भत्ता केवल बेरोजगारों को ही दिया जाता है। लेकिन इसे प्राप्त करने के लिए भी कुछ दस्तावेजों का होना जरूरी है। जिस राज्य की सरकार बेरोजगारी भत्ता उपलब्ध कराती है केवल उस राज्य के लोगों को ही दिया जाता है। इसके अलावा अगर केंद्र सरकार प्रदान करती है। तो संपूर्ण देश के लाभार्थी बेरोजगारों को भत्ता प्रदान होता है। आज के समय में सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की सुविधाएं दी जा रही है।

आपने देखा ही होगा कि सरकार किसानों को फसल बीमा प्रदान करती हैं। इसके अलावा मजदूरों को तथा दिहाड़ी मजदूरों को विभिन्न प्रकार की योजनाओं के तहत श्रम योजना के अंतर्गत भत्ता प्रदान कराती हैं। महिलाओं को सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार के भत्ता उपलब्ध कराए जाते हैं तथा बुजुर्ग लोगों को पेंशन के द्वारा पैसे दिए जाते हैं। इसी कड़ी में युवा बेरोजगारों को सरकार की तरफ से बेरोजगारी भत्ता दिया जाता है। उसका नाम से ही पता चलता है कि यह बेरोजगार लोगों को दिया जाता है, जो बेरोजगार हैं और युवा है। उन्हें विशेष रूप से कुछ दस्तावेजों के आधार पर यह भत्ता प्रदान किया जाता है।

वर्तमान समय में राजस्थान सरकार द्वारा बेरोजगारी भत्ता दिया जा रहा है जिनके लिए लाखों युवती आवेदन कर चुके हैं और लाखों युवाओं को इसका लाभ मिल चुका है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा भी बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता उपलब्ध कराया जा रहा है। यह सरकार द्वारा प्रदान की जा रही है, एक सुविधा है जिसका उद्देश्य बेरोजगार युवाओं को सहायता प्रदान करना है। इसके अलावा केंद्र सरकार बेरोजगारी भत्ता उपलब्ध कराती है। परंतु इन सभी बेरोजगारी भत्ता के नियम और शर्तें होती हैं जिनके दायरे के अंतर्गत आने वाले लोगों को इसका लाभ दिया जाता है, तो आइए जानते हैं कि बेरोजगारी भत्ता क्या है? और कैसे प्राप्त कर सकते हैं?

बेरोजगारी भत्ता क्या होता है? —

Berojgari bhatta kya hota hai

अक्सर हमें न्यूज़ तथा इंटरनेट पर यह खबरें देखने को मिलती है कि किसी राज्य की सरकार या केंद्र सरकार द्वारा बेरोजगारी भत्ता दिया जाता है। लोगों को बेरोजगारी भत्ता के तहत पैसे मिलते हैं। सरकार की तरफ से सुविधा दी जाती हैं सहायता प्रदान की जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह बेरोजगारी भत्ता क्या होता है। हम आपको बता देते हैं कि यह एक तरह की सहायता राशि होती है जो सरकार बेरोजगार युवाओं को सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से देती है। इसे बेरोजगारी भत्ता कहते हैं। वर्तमान समय में राजस्थान सरकार द्वारा राजस्थान के बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता दिया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश सरकार भी उत्तर प्रदेश के युवाओं को बेरोजगारी भत्ता प्रदान कर रही है, जिसके अंतर्गत लाखों की संख्या में युवाओं को लाभ मिल चुका है। बेरोजगारी भत्ता केवल युवाओं को ही मिलता है जो शिक्षित है। यानी शिक्षा ग्रहण कर चुके हैं। डिग्री हासिल कर चुके हैं, लेकिन उन्हें नौकरी नहीं मिली है। फिर भी वह नौकरी की तलाश में है। ऐसी स्थिति में उन्हें 3000-4000 इस प्रकार की कुछ राशि दी जाती है। ताकि नौकरी की तैयारी करते समय आने वाले छोटे मोटे खर्चे को वह निकाल सकें। इसीलिए बेरोजगारी भत्ता से संबंधित खबरें हमें अक्सर इंटरनेट पर देखने को मिलती है।

जो भी राज्य की सरकार बेरोजगारी भत्ता उपलब्ध कराती है तो वह सुविधा केवल उस राज्य के अंतर्गत आने वाले मूलनिवासी ही प्राप्त कर सकते हैं। जैसे राजस्थान सरकार द्वारा बेरोजगारी भत्ता उपलब्ध कराया जाता है। तो केवल राजस्थान राज्य के मूल निवासी बेरोजगार शिक्षक विद्यार्थी ही उस योजना का लाभ ले सकते हैं। राजस्थान सरकार से बेरोजगारी भत्ता प्राप्त कर सकते हैं। इसी प्रकार उत्तर प्रदेश और केंद्र सरकार द्वारा दिए जा रहा बेरोजगारी भत्ता प्रदान किया जाता है। रोजगारी भत्ता को प्राप्त करने के लिए कुछ दस्तावेजों की आवश्यकता होती है जिसके आधार पर यह प्रमाणित किया जाता है कि वह युवा शिक्षित और बेरोजगार है।

बेरोजगारी भत्ता किसे दिया जाता है? —

अगर भारत सरकार बेरोजगारी भत्ता की घोषणा करती है, तो संपूर्ण भारत के युवाओं को बेरोजगारी भत्ता का लाभ दिया जाता है क्योंकि केंद्र सरकार संपूर्ण भारत की सरकार होती है लेकिन केवल उन युवाओं को ही बेरोजगारी भत्ता दिया जाता है, जो शिक्षित है यानी कि वह पढ़े लिखे हैं उनके पास दिख रहा है। लेकिन नौकरी नहीं है हालांकि कुछ सरकार ऐसे लोगों को ही बेरोजगारी भत्ता देती है जो शिक्षित भी है और बेरोजगार भी हैं। लेकिन वह निरंतर प्रयास कर रहे हैं। रोजगार के लिए ऐसी स्थिति में सरकार द्वारा कुछ सहायता राशि के रूप में बेरोजगारी भत्ता दिया जाता है।

अगर किसी राज्य की सरकार बेरोजगारी बता देती है तो वह केवल अपने राज्य के युवाओं को ही प्रदान करती है। राज्य सरकार पर निर्भर करता है कि वह किन पत्रिकाओं के आधार पर बेरोजगारी भत्ता उपलब्ध कराना चाहती है। यानी सरकार चाहे तो प्रदेश के अंदर रहने वाले सभी बेरोजगारों को भत्ता उपलब्ध करा सकती है या फिर युवाओं को उपलब्ध करा सकती हैं। या फिर शिक्षित युवाओं को उपलब्ध करा सकती है या फिर कैसे शिक्षित युवा जो बेरोजगार हैं। लेकिन वे निरंतर प्रयास कर रहे हैं। रोजगार के लिए ऐसी स्थिति में सरकार आम तौर पर केवल ऐसे विद्यार्थियों को ही बेरोजगारी भत्ता उपलब्ध करा रही है।

बेरोजगारी भत्ता क्यों दिया जाता है? —

बेरोजगारी भत्ता एक प्रकार की सरकार द्वारा उपलब्ध कराई जा रही सुविधा है, जिसके अंतर्गत कुछ पैसे दिए जाते हैं। यह पैसे उन विद्यार्थियों को उन युवाओं को दिए जा रहे हैं जो बेरोजगार हैं। लेकिन उनके पास डिग्री है शिक्षा ग्रहण कर चुके है तथा नौकरी की तलाश में है। ऐसी स्थिति में सरकार उन्हें कुछ पैसे बेरोजगारी भत्ता के रूप में प्रदान करती हैं, जिससे वह रोजगार प्राप्त करने के लिए अपने थोड़े से खर्चों को आसानी से निकाल सकें। यही वजह है कि कुछ प्रदेश सरकारें और केंद्र सरकार द्वारा वर्तमान समय में बेरोजगार भत्ता दिया जा रहा है।

बेरोजगार भत्ता के लिए दस्तावेज (Documents) —

बेरोजगारी भत्ता प्राप्त करने के लिए सरकार की तरफ से कुछ दस्तावेज और कुछ पत्रता निर्धारित की गई है, जिसके आधार पर ही बेरोजगारी भत्ता उपलब्ध कराया जाता है। इससे पता चल जाता है कि वास्तव में कौन-कौन से विद्यार्थी बेरोजगार हैं और कैसे विद्यार्थियों को बेरोजगारी भत्ता की आवश्यकता है। इसीलिए कुछ दस्तावेजों और पात्रता निर्धारित की गई है। जानकारी प्राप्त करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेज की आवश्यकता पड़ सकती है —

  • बेरोजगारी भत्ता प्राप्त करने के लिए सबसे पहले तो आपके पास मूल निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए।
  • रोजगारी भत्ता प्राप्त करने के लिए आपको यह सिद्ध करना होगा कि आपके पास कोई रोजगार नहीं है।
  • रोजगारी बभत्ता प्राप्त करने के लिए आप का शिक्षित होना आवश्यक है।
  • आपने जो शिक्षा ग्रहण की है जितनी भी डिग्री हासिल की है उन सभी के प्रमाण पत्र दिखाने होंगे।
  • आप किस सेक्टर में रोजगार के लिए प्रयास कर रहे हैं इस बात की भी जानकारी देनी होती है।
  • अपने बैंक खाते का विवरण देना होता है।
  • अपनी पहचान के लिए आधार कार्ड और स्कूल की अंक तालिका का भी होना आवश्यक है।
  • ग्रेजुएशन का सर्टिफिकेट होना चाहिए।
  • दो पासपोर्ट साइज फोटो होनी चाहिए।
  • आय प्रमाण पत्र भी दिखाना होगा।

Conclusion

वर्तमान समय में मध्य प्रदेश की सरकार मध्य प्रदेश के शिक्षित युवा बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ता प्रदान कर रही है। बिहार सरकार बिहार के शिक्षित बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता प्रदान कर रही है। उत्तर प्रदेश सरकार उत्तर प्रदेश के शिक्षित बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता प्रदान कर रही है तथा राजस्थान सरकार भी शिक्षित बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता उपलब्ध करा रही है। ऐसी स्थिति में लोग जानना चाहते हैं कि यह बेरोजगारी भत्ता क्या होता है? और बेरोजगारी भत्ता कैसे प्राप्त कर सकते हैं? किन-किन लोगों को सरकार की तरफ से बेरोजगारी भत्ता उपलब्ध कराया जाता है।

इसीलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको पूरी जानकारी के साथ विस्तार से बता चुके हैं कि बेरोजगारी भत्ता क्या है? रोजगार क्यों उपलब्ध कराया जाता है? बेरोजगारी भत्ता का लाभ किन-किन विद्यार्थियों को दिया जाता है? तथा बेरोजगारी भत्ता उपलब्ध कराने के पीछे क्या उद्देश्य है? उम्मीद करते हैं यह आर्टिकल आपको जरूर पसंद आया होगा। अगर आपका इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी प्रश्न है? तो कमेंट करके पूछ सकते हैं हम आपके द्वारा पूछे गए प्रश्न का उत्तर अवश्य देंगे। इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। ताकि उन्हें भी इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में पता चल सकें।

Leave a Comment