BSTC Course क्या है और BSTC/D.EL.ED कैसे करे 2022 में पूरी जानकारी

अगर आप राजस्थान में प्राइमरी टीचर बनना चाहते हैं तो BSTC Course कर सकते हैं। सोच रहे होंगे कि BSTC Course क्या है और BSTC कैसे करें? आज के topic में आपको BSTC Course से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी मिलेगी।

अध्यापक का पद हमेशा से ही सम्मान के योग्य रहा है इसी के साथ यह पद बहुत अच्छा करियर भी साबित होता है। अगर बात सरकारी अध्यापक की हो तो उसकी बात ही अलग होती है क्योंकि सरकारी नौकरी पाना हमारे देश में किसी सपने से कम नहीं है। अगर आपको छोटे बच्चों को पढ़ाना पसंद है तो आपको प्राइमरी टीचर बनना चाहिए।

दोस्तों याद है जब हम प्राइमरी स्कूलों में पढ़ाई करते थे तो कभी ना कभी हमारे मन में यह सवाल जरूर आता था कि हमें पढ़ाने वाले अध्यापक कैसे बनते हैं। पर यह बात अलग है कि उस समय हमारे मन में बड़े-बड़े ख्याल होते हैं जैसे के साइंटिस्ट, डॉक्टर, इंजीनियर और सेलिब्रिटीज आदि। हम लोगों में से कुछ लोग शिक्षक बनकर अपनी शिक्षा को बांटना चाहते हैं और जानना चाहते हैं कि सरकारी शिक्षक कैसे बने। तो चलिए दोस्तों समझते हैं के राजस्थान में शिक्षक बनने के लिए BSTC Course क्या है।

BSTC Course क्या है?

BSTC kya hai in Hindi

 

बीएसटीसी को basic school teaching certificate course के नाम से जाना जाता है जो राजस्थान का प्रसिद्ध टीचर ट्रेनिंग कोर्स होता है। आजकल इस कोर्स को d.el.ed (diploma in elementary education)के नाम से जाना जाता है। इस कोर्स को आप 12वीं पास करने के बाद कर सकते हैं जिसकी अवधि 2 साल होती है। अगर आप विद्यालय में प्राइमरी टीचर के पद पर पढ़ाना चाहते हैं तो आप यह कोर्स कर सकते हैं।

यह कोर्स लगभग सभी विषयों में उपलब्ध होता है इसलिए आप जिस विषय से करना चाहें यह कोर्स कर सकते हैं। अगर आप बीएसटीसी करना चाहते हैं तो आपको एक प्रवेश परीक्षा देनी होगी जिसे बीएसटीसी Entrance Exam के नाम से जाना जाता है। जिसको पास करने के बाद इस कोर्स में एडमिशन मिलती है। यह कोर्स पूरा करने के बाद आप रीट भर्ती के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

BSTC Full Form in Hindi/English

BSTC का पूरा नाम “Basic School Training Certificate” और हिंदी में “बुनियादी विद्यालय शिक्षण प्रमाण पत्र होता है”।

D.EL.ED किसे कहते है?

D.el.ed कोई अलग कोर्स नहीं है बल्कि BSTC को ही D.EL.ED कहा जाता है। कियोंकि सरकार ने 2019 में bstc को D.EL.ED का नाम दे दिया है और D.el.ed का पूरा नाम “Diploma in Elementary Education” है।

BSTC Course कैसे करें?

अगर आप बीएसटीसी कोर्स करना चाहते हैं इसके लिए आपका 12वीं कक्षा में पास होना जरूरी होता है। 12वीं कक्षा पास होने के बाद आपको एक प्रवेश परीक्षा यानी कि entrance exam देना होगा जिसको क्लियर करने के बाद कॉलेज अलॉट किया जाता है। कॉलेज अलॉटमेंट आपकी काउंसलिंग के आधार पर की जाती है जिसके बाद आप उस कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं।

प्रवेश परीक्षा के लिए आपको अलग से तैयारी करनी होती है जिसके आधार पर आप इस परीक्षा को पास करते हैं। अगर आप विद्यालय में प्राइमरी कक्षा को पढ़ाने के इच्छुक हैं तो आप बिल्कुल इस एग्जाम को दे सकते हैं जिसके लिए आप 12वीं कक्षा पास करने के बाद एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी शुरू कर सकते हैं।

(बीएसटीसी या D.EL.ED कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन हर साल मई महीने में किया जाता है।)

Rajasthan 3rd ग्रेड अध्यापक कैसे बने पूरी जानकारी।

BSTC कोर्स के लिए योग्यता (BSTC Qualification in Hindi)

12th पास करें:- बीएसटीसी में एडमिशन लेने के लिए कैंडिडेट का ट्वेल्थ पास होना अनिवार्य है इसलिए किसी भी विद्यालय से 12वीं पास कर लें। अगर आप General कैटेगरी से संबंध रखते हैं तो 12th में आपके मार्क्स 50% और OBC, SC, ST कैटेगरी से है तो 45% मार्क्स होना जरूरी है।

Entrance Exam पास करें:- 12वीं पास होने के बाद बीएसटीसी करने के लिए आपको प्रवेश परीक्षा देनी होती है। एंट्रेंस एग्जाम मई में आयोजित होते हैं इसके लिए आप Apply करें और इसको पास करें। इसके बाद काउंसलिंग के आधार पर आपको कॉलेज अलॉट किए जाते हैं, जिसमें आपको बीएसटीसी का कोर्स करवाया जाएगा।

BSTC Age Limit

हर परीक्षा या कोर्स की तरह बीएसटीसी के लिए भी एक Age Limit criteria निर्धारित होता है जिसके आधार पर आपकी कम से कम (Minimum) Age 18 साल और ज्यादा से ज्यादा (Maximum) Age 28 साल होनी अनिवार्य है। इसी के साथ आरक्षित वर्ग से संबंध रखने वाले आवेदकों के लिए आयु में छूट का प्रावधान भी होता है।

BSTC में कौन-कौन से Subject होते हैं?

बीएसटीसी का कोर्स लगभग सभी विषयों के लिए आयोजित करवाया जाता है जिसके अनुसार आवेदक जिस विषय से चाहे परीक्षा दे सकता है। प्रवेश परीक्षा यानी के एंट्रेंस एग्जाम में आवेदक को कुल 200 अंकों के प्रश्न आते हैं जिसमें राजस्थान GK, हिंदी, English, संस्कृत, Mental Ability और Teaching Aptitude जैसे विषयों पर प्रश्न पूछे जाते हैं।

सबसे बढ़िया बात यह परीक्षा Hindi और English दोनों भाषा में उपलब्ध होता है यानी के दोनों ही प्रकार के कैंडिडेट के लिए Language barrier नहीं है।

BSTC में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

बीएसटीसी का पेपर कुल 200 प्रश्न का होता है जिसके आपको 600 मार्क्स दिए जाते हैं यानी कि हर एक प्रश्न 3 अंक का होता है। बीएसटीसी परीक्षा में कोई नेगेटिव मार्किंग नहीं होती है। इसके आधार पर आपको कम से कम 40% अंक लाने अनिवार्य होते हैं। आप जितने बढ़िया मार्क्स ला सको उतने अच्छे हैं क्योंकि इससे आपके कॉलेज अलॉट होने के ज्यादा Chance रहते हैं।

निष्कर्ष:- BSTC क्या है और कैसे करें in 2022

तो दोस्तों, इस ब्लॉग पोस्ट में आपने पढ़ा के BSTC Course क्या है और BSTC कैसे करें? इसके साथ ही बीएसटीसी से जुड़ी अन्य जानकारी जैसे कि बीएसटीसी योग्यता, Age Limit, Marks आदि। अभी तक आप समझ गए होंगे कि बीएसटीसी कोर्स क्या होता है और कैसे किया जाता है। उम्मीद करते हैं आपको यह जानकारी काफी मददगार साबित हुई होगी। अगर फिर भी कोई सवाल हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स के जरिए पूछ सकते हैं और इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ नीचे दिए गए सोशल मीडिया icons के जरिए Share जरूर करें।

4 thoughts on “BSTC Course क्या है और BSTC/D.EL.ED कैसे करे 2022 में पूरी जानकारी”

Leave a Comment