CA (Charted Accountant) कैसे बने? CA योग्यता से Salary तक पूरी जानकारी।

CA (Charted Accountant) की demand आज के समय में काफी जगह देखने को मिलती है क्योंकि आज के समय में तेजी के साथ देश की अर्थव्यवस्था बढ़ रही है जिसकी वजह से Charted Accountant की डिमांड भी देखने को मिलती है। आज के समय में संपूर्ण देश में Business और Finance से संबंधित बड़ी-बड़ी कंपनियां और तरह-तरह के उद्योग और Startup लांच हो रहे हैं और अच्छा कर रहे हैं जिसकी वजह से देश की अर्थव्यवस्था में तरक्की देखने को मिल रही है। आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि प्रत्यक्ष छोटे से छोटे बिजनेस तथा टैक्स भरने वाले लोगों को CA (Charted Accountant ) की आवश्यकता होती है।

चार्टर्ड अकाउंटेंट भारत के सबसे बड़े प्रतिष्ठित पदों में से एक हैं। इस पद पर कार्यरत व्यक्ति हर महीने लाखों रुपए आराम से कमा सकता है। देश में उपस्थित बड़ी से बड़ी कंपनियों और छोटे से छोटे दुकान को भी चार्टर्ड अकाउंटेंट की आवश्यकता होती है। इसके अलावा जो भी व्यक्ति टैक्स भरता है या वह टैक्स के दायरे में आता है तो उन्हें भी चार्टर्ड अकाउंटेंट की जरूरत होती है क्योंकि चार्टर्ड अकाउंटेंट सही ढंग से टैक्स का कैलकुलेट करके टैक्स भरता है। आज के समय में व्यापार से संबंधित जीएसटी टैक्स भरना होता है। इसके अलावा जिन लोगों की आय टैक्स के दायरे में आती है वे लोग भी चार्टर्ड अकाउंटेंट के अंतर्गत टैक्स भरते हैं।

चार्टर्ड अकाउंटेंट का पद कॉमर्स स्ट्रीम में सबसे बड़ा और लोकप्रिय पद माना जाता है जो विशेष रूप से फाइनेंस के क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। आज के समय में तेजी से हो रहे विकास और नई नई तकनीकी की वजह से देशभर में तरह-तरह के टैक्स लगाए गए हैं। प्रत्येक टर्नओवर पर तथा प्रत्येक श्रेणी के अनुसार लगाया गया टैक्स खर्चे और आय के अनुसार भरना होता है। किसी भी बड़ी कंपनी से लेकर छोटी दुकान तक के सभी लेन देन खर्चे और इनकम की जानकारी के आधार पर सही ढंग से टैक्स का भुगतान करना होता है और यह काम चार्टर्ड अकाउंटेंट बखूबी करता है। इसलिए चार्टर्ड अकाउंटेंट हर महीने लाखों रुपए आसानी से कमा लेता है और इस पद के आज के समय में काफी डिमांड देखने को मिलती है।

Charted Accountant क्या होता है? (CA Course details in Hindi)

CA kaise bane

चार्टर्ड अकाउंटेंट फाइनेंस सेक्टर में आने वाला एक ऐसा बिजनेस एरिया है जो किसी भी बिजनेस अथवा ऑर्गेनाइजेशन के लिए अकाउंटिंग और टैक्स मैनेजमेंट का काम करता है। यह पद कॉमर्स स्ट्रीम के तहत एक विशेष कोर्स को करके हासिल किया जा सकता है। चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए वर्ल्ड क्लास प्रोफेशनल डिग्री का कोर्स करना होता है जो पूरी दुनिया भर के लिए सर्टिफाइड माना जाता है। चार्टर्ड अकाउंटेंट को बड़ी-बड़ी कंपनियां ऑर्गेनाइजेशन के तहत बहुत सारी जिम्मेदारियों को निभाते हुए अकाउंटिंग और टैक्स मैनेजमेंट का काम करना होता है।

अगर आप शुरुआत से ही कॉमर्स स्ट्रीम के तहत शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं तो आपके लिए चार्टर्ड अकाउंट करना काफी आसान हो जाता है क्योंकि चार्टर्ड अकाउंटेंट कॉमर्स स्ट्रीम से ही संबंध रखता है। चार्टर्ड अकाउंटेंट को अकाउंटिंग का मैनेजमेंट करना होता है। टैक्स का कैलकुलेशन और मैनेजमेंट करना तथा लायबिलिटीज के आधार पर टैक्स भरना फाइनेंस एंड अकाउंटिंग करना फाइनेंशियल रिर्पोटिंग करना किसी भी बिजनेस या कंपनी का वित्तीय रूप से मैनेजमेंट करना चार्टर्ड अकाउंटेंट का मुख्य काम होता है। पूरे भारत में चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए विभिन्न प्रकार के शिक्षण संस्थान द्वारा कोर्स करवाया जाता है।

अगर आप किसी बिजनेस या ऑर्गेनाइजेशन से संबंध रखते हैं तो आप सीए के बारे में भली-भांति जानते ही होंगे या फिर आप इनकम के तहत टैक्स के दायरे में आते हैं। तब भी आपने चार्टर्ड अकाउंटेंट के बारे में सुना ही होगा। अक्सर चार्टर्ड अकाउंटेंट की बातें बिजनेस और टैक्स के दायरे में आने वाले घर परिवार के लोगों में की जाती है क्योंकि टैक्स के दायरे में आने वाले लोग अपने खर्चे और आय के आधार पर लायबिलिटीज के आधार पर टैक्स भरने के लिए चार्टर्ड अकाउंटेंट को हायर करते हैं, जो सही ढंग से खर्चा और आए को मैनेज करके जितना टैक्स बनता है, उतना टैक्स भरवाता है। भारत में चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए आपको इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया के द्वारा निर्धारित किया गया CA कोर्स पूरा करना होगा।

CA बनने की योग्यता (Charted Accountant Eligibility in Hindi 2022)

भारत में चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए आपको निर्धारित की गई योग्यता का पालन करना होगा। इन योग्यता के आधार पर ही आप चार्टर्ड अकाउंटेंट बन सकते हैं। प्रत्येक पद के लिए कुछ योग्यता निर्धारित की जाती है। यह एक महत्वपूर्ण पद है इसीलिए इस पद के लिए भी कुछ महत्वपूर्ण और जरूरी योग्यता निर्धारित की गई है। CA बनने के लिए निर्धारित की गई योग्यता इस प्रकार है —

  • दसवीं कक्षा के बाद कॉमर्स स्ट्रीम से ही आगे की शिक्षा प्राप्त करनी होगी।
  • बारहवीं कक्षा कॉमर्स स्ट्रीम से पास होनी चाहिए।
  • बारहवीं कक्षा किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से पास कर सकते हैं।
  • ट्वेल्थ क्लास में कम से कम 50% अंक प्राप्त होने चाहिए।
  • उम्मीदवार को Technical knowledge होनी चाहिए।
  • आवेदन करने वाले को Computer का ज्ञान होना चाहिए।
  • चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए आपको एकाउंटिंग एवं फाइनेंसियल समझ होनी चाहिए।
  • चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए CA 5 वर्ष का कोर्स पूरा करना होगा।
  • Financial कानून में होने वाले बदलाव के बारे में हमेशा अपडेट रहना होगा।
  • Accounting और Tax Management का काम सही ढंग से करना आना चाहिए।

CA Kaise Bane? (How to become Charted Accountant in Hindi)

चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए आपको सबसे पहले कॉमर्स स्ट्रीम से कम से कम 50% अंक के साथ 12वीं कक्षा पास करनी होगी। उसके बाद CPT परीक्षा के अंतर्गत आवेदन करना होगा तथा परीक्षा में अच्छे अंको से पास होना होगा।सीपीटी परीक्षा पास करने के बाद IPCC परीक्षा के लिए आवेदन करके इस परीक्षा को भी अच्छे अंको से पास करना होगा। अगर आप ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त कर लेते हैं तो आप बिना सीपीटी परीक्षा दिए सीधे IPCC परीक्षा दे सकते हैं।

इन परीक्षाओं में आवेदन करने से पहले आपको एंट्रेंस एग्जाम देना होता है जो आपकी योग्यता को सिद्ध करता है। इन परीक्षाओं को पास करने वाले उम्मीदवारों को दूसरे चरण के तहत चार्टर्ड अकाउंटेंट इंटरमीडिएट कोर्स करना होता है। इस कोर्स में आप ग्रेजुएशन पूर्ण करने के बाद भी सीधे आवेदन कर सकते हैं। चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए इस परीक्षा का पास होना जरूरी है।इस परीक्षा को देने के लिए ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन उम्मीदवार को कॉमर्स स्ट्रीम के तहत कम से कम 55% अंक लाने होंगे और दूसरे स्ट्रीम के तहत कम से कम 60% अंक होना जरूरी है।

इंटरमीडिएट पूर्ण करने के बाद 3 वर्ष का आर्टिकलशिप पूरा करना होगा। इसके तहत आपको प्रैक्टिकल रूप से टैक्स रिटर्न के बारे में, एकाउंटिंग के बारे में, ऑडिटिंग के बारे में तथा इससे संबंधित संपूर्ण जानकारी बताई जाती है। यहां पर आपको चार्टर्ड अकाउंटेंट की जिम्मेदारियां और चार्टर्ड अकाउंटेंट द्वारा किए जाने वाले काम सिखाई जाते हैं और बताए जाते हैं। यहां पर आपको पता चल जाता है कि चार्टर्ड अकाउंटेंट कैसे बनते हैं और चार्टर्ड अकाउंटेंट का क्या काम होता है। आर्टिकलशिप पूरी करने के 6 महीने पहले या बाद में चार्टर्ड अकाउंटेंट के अंतिम चरण के लिए भी आवेदन करना होता है।

CA कोर्स का पाठ्यक्रम और एग्जाम पैटर्न —

चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने वाले कोर्स के अंतर्गत कौन-कौन से विषय से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं और उसका एग्जाम पैटर्न क्या है। इस बारे में हम आपको निचे विस्तार से जानकारी बता रहे हैं, इस कोर्स को तीन राउंड में कंप्लीट कराया जाता है। प्रत्येक राउंड के अलग-अलग एग्जाम पैटर्न और अलग-अलग विषय निर्धारित किए गए हैं। तो आइए जानते हैं चार्टर्ड अकाउंटेंट का एग्जाम पैटर्न पाठ्यक्रम और एग्जामिनेशन राउंड किस प्रकार है —

CA Course 1st Round—

चार्टर्ड अकाउंटेंट फाउंडेशन कोर्स में 4 पेपर होते हैं यह सभी पेपर 3 घंटे में हल करने होते हैं। इन सभी पेपर के लिए 100 अंक निर्धारित किए गए हैं जिसमें से 40% अंक यानी 500 ना जरूरी है। इस पेपर के अंतर्गत पहले पेपर में प्रिंसिपल्स एंड प्रैक्टिसेज आफ अकाउंटिंग से संबंधित 100 अंकों के प्रश्न पहुंच जाते हैं। दूसरे पेपर में बिजनेस मैथमेटिक्स से संबंधित 60 अंक और स्टेटिस्टिक्स से संबंधित 40 अंकों के प्रश्न पूछे जाते हैं। तीसरे पेपर में जनरल इंग्लिश से संबंधित 40 अंकों के प्रश्न तथा मर्केंटाइल लॉ से संबंधित 60 अंकों के प्रश्न पूछे जाते हैं। चौथे पेपर में बिजनेस एंड कमर्शियल नॉलेज से संबंधित 40 अंक तथा बिजनेस इकोनॉमिक्स से संबंधित 60 अंकों के प्रश्न पूछे जाते हैं।

CA Course 2nd Round—

चार्टर्ड अकाउंटेंट फाउंडेशन कोर्स के दूसरे राउंड में दो ग्रुप के अंतर्गत परीक्षा का आयोजन होता है। पहले ग्रुप में चार पेपर दो सेक्शन और 2 पाठ के अंतर्गत विभिन्न अंकों के प्रश्न पूछे जाते हैं। इस परीक्षा में भी कम से कम 55% अंक प्राप्त करने अनिवार्य है पहले पेपर में एकाउंटिंग से संबंधित 100 अंक निर्धारित किए गए हैं। कॉरपोरेट लॉ और अन्य लाॅ से संबंधित 100 अंक निर्धारित किए गए हैं। तीसरे पेपर में कॉस्ट एंड मैनेजमेंट अकाउंटिंग से संबंधित प्रश्न 100 अंकों के आधार पर पूछे जाते हैं। चौथे पेपर में टैक्सेशन से संबंधित 100 अंक निर्धारित किए गए हैं। इसके अलावा पार्ट वन में कंपनी लॉ 60 अंक एवं पार्ट 2 में अन्य लाॅ 40 अंक निर्धारित है। सेक्शन 1 के अंतर्गत इनकम टैक्स लाॅ 60 अंक तथा सेक्शन बी में इनडायरेक्ट टैक्स 40 अंक निर्धारित हैं।

चार्टर्ड अकाउंटेंट फाउंडेशन कोर्स के दूसरे राउंड में दूसरे ग्रुप के अंतर्गत चार पेपर तथा 2 सेक्शन के अंतर्गत प्रश्न पूछे जाते हैं। पेपर 1 में एडवांस अकाउंटिंग से संबंधित 100 अंकों के प्रश्न होते हैं जबकि प्रश्न पेपर दो में ऑडिटिंग और आश्वासन से संबंधित 100 अंकों के प्रश्न होते हैं। पेपर नंबर 3 में 100 अंकों के आधार पर एंटरप्राइज इनफॉरमेशन सिस्टम एंड स्ट्रैटेजिक मैनेजमेंट से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। अगर हम बात करें पेपर नंबर 4 की तो इसमें 100 अंकों के आधार पर फाइनेंसियल मैनेजमेंट और इकोनॉमिक्स फॉर फाइनेंस से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। इसके अलावा सेक्शन फाइनेंसियल मैनेजमेंट 60 अंक और इकोनॉमिक्स फॉर 40 अंक दर्शाए गए हैं।

CA Course 3rd Round—

चार्टर्ड अकाउंटेंट कोर्स के अंतर्गत आने वाले इस तीसरे और आखिरी राउंड के अंतर्गत 8 पेपर निर्धारित किए गए हैं। इन सभी पेपर के आधार पर इस परीक्षा में कम से कम 40% और सभी विषय में कम से कम 50% अंक लाने आवश्यक है। परीक्षा के अंतर्गत दो ग्रुप में पेपर होता है पहले ग्रुप में 8 प्रश्न पत्र होते हैं। जबकि दूसरे ग्रुप में 10 प्रश्न पत्र निर्धारित किए गए हैं, प्रत्येक प्रश्न पत्थर पर एक विशेष विषय से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

ग्रुप I के अंतर्गत फाइनेंशियल रिर्पोटिंग, इनडायरेक्ट टैक्स लॉ, डायरेक्ट टैक्स लॉ, एडवांस्ड मैनेजमेंट अकाउंटिंग, इंफॉर्मेशन सिस्टम कंट्रोल एंड ऑडिट, कॉरपोरेट एंड एलाइड लॉ, स्ट्रैटेजिक फाइनेंशियल मैनेजमेंट, एडवांस ऑडिटिंग और प्रोफेशनल एथिक्स इन सभी 8 विषयों पर आधारित 8 पेपर होते हैं।

ग्रुप II के अंतर्गत कुल 10 पेपर इनडायरेक्ट टैक्स लॉ, ऐच्छिक, इंटरनेशनल टैक्सेशन, इकोनॉमिक्स लाॅ, मल्टीडिसीप्लिनरी कैस स्टडी, ग्लोबल फाइनेंशियल रिर्पोटिंग स्टैंडर्ड्स, फाइनेंशियल सर्विसेज एंड कैपिटल मार्केट, रिस्क मैनेजमेंट, स्ट्रैटेजिक कॉस्ट मैनेजमेंट एंड परफारमेंस मूल्यांकन, डायरेक्ट टैक्स लॉ एंड इंटरनेशनल टैक्सेशन इन सभी विषय के अंतर्गत आते हैं।

CA की सैलरी (Charted Accountant Salary in India 2022)

चार्टर्ड अकाउंटेंट का पद देश और दुनिया भर में फाइनेंसियल क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इस पद पर कार्यरत व्यक्ति को किसी नौकरी की जरूरत नहीं है आमतौर पर सभी चार्टर्ड अकाउंटेंट अपना ऑफिस खोल कर काम करते हैं। लेकिन बड़ी-बड़ी कंपनियां चार्टर्ड अकाउंटेंट को नौकरी के आधार पर रखती है। वे कंपनियां हर महीने लाखों रुपए के रूप में उन्हें सैलरी देती हैं। इसके अलावा उसके अनुभव और उसकी स्किल के आधार पर निर्भर करती है।आमतौर पर भारत में एक चार्टर्ड अकाउंटेंट हर महीने 1000000 रुपए तक कमा सकता है। इसके अलावा चार्टर्ड अकाउंटेंट के अनुभव, समय, कंपनी तथा उनके कार्य के आधार पर भी सैलरी निर्भर करते हैं।

People Also Read:-

भारत में सबसे ज्यादा Salary वाली देने वाली Jobs कौनसी है?

IRDA मे Job कैसे पाए? संपूर्ण जानकारी।

Railway department में नौकरी कैसे पाएं पूरी जानकारी?

Income Tax Inspector कैसे बने पूरी जानकारी?

GST Inspector कैसे बने संपूर्ण जानकारी?

Conclusion

चार्टर्ड अकाउंटेंट एक महत्वपूर्ण पद होता है जिसकी आवश्यकता देश और दुनिया भर में होती है। मुख्य रूप से टैक्स भरने वाले लोग और हर तरह के व्यापार बिजनेस तथा उद्योग एवं ऑर्गेनाइजेशन को चार्टर्ड अकाउंटेंट की आवश्यकता होती है। यह एक प्रतिष्ठित पद माना जाता है चार्टर्ड अकाउंटेंट बंद कर एक बेहतरीन करियर विकल्प देखा जाता है।इसीलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको पूरी जानकारी के साथ विस्तार पूर्वक बिता चुके हैं कि Charted Accountant / CA kaise bane? यह जानकारी आपको जरूर पसंद आई होगी अगर आपका इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी प्रश्न है तो आप नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। हम आपके द्वारा पूछे गए प्रश्न का उत्तर समय पर देने की पूरी कोशिश करेंगे, धन्यवाद।

Leave a Comment