WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

डीम्ड यूनिवर्सिटी क्या है? – Deemed University Meaning In Hindi 2023

आपने देश और दुनिया में अनेक प्रकार की यूनिवर्सिटी और विश्वविद्यालयों के नाम सुने होंगे, जिनमें विभिन्न प्रकार के नाम शामिल होते है‌। कुछ नाम किसी महापुरुष या व्यक्ति के नाम पर होते हैं, तो कुछ नाम किसी जगह या किसी विषय के आधार पर होता है। लेकिन क्या आपने कभी

Deemed University (डीम्ड यूनिवर्सिटी) का नाम सुना है? आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि डीम्ड यूनिवर्सिटी नाम से देश में अनेक सारे शिक्षण संस्थान संचालित किए जा रहे हैं। तो अगर आप भी शिक्षा से जुड़े हुए हैं या आप एक विद्यार्थी है। तो आपको डीम्ड यूनिवर्सिटी के बारे में जरूर जान लेना चाहिए क्योंकि यह आपके लिए जानना काफी जरूरी है।

डीम्ड यूनिवर्सिटी क्या है? —

आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अनुसार एक विश्वविद्यालय UGC द्वारा अनुमोदित होने पर उसे Deemed University माना जाता है। बता दें कि डीम्ड यूनिवर्सिटी का अर्थ विश्वविद्यालय अनुदान आयोग अधिनियम, 1956 की धारा 3 के बाद सरकार द्वारा आयोग की सलाह पर की गई घोषणा के अनुसार उच्च शिक्षा का संस्थान है। UGC के सुझाव पर केंद्र सरकार ने यह फैसला लिया है। आसान भाषा में बताएं तो, डीम्ड यूनिवर्सिटी का अर्थ है, एक उच्च प्रदर्शन करने वाला संस्थान, जिसे अपने संचालन, प्रवेश के साथ-साथ अपने पाठ्यक्रम और फीस संरचना को स्वयं डिजाइन करने की स्वायत्तता प्रदान की गई हो।

Deemed University Meaning In Hindi

आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि एक Deemed University किसी भी राज्य से जुड़ा हुआ नहीं होता है और उसे ‘डीम्ड टू बी यूनिवर्सिटी’ का टैग दिया जाता है। बता दें कि लोगों द्वारा डीम्ड विश्वविद्यालय को यूनिवर्सिटी की तरह माना जाता है जो बेहतर सुविधाएं और बेहतर बुनियादी ढांचा तैयार करने में सक्षम है और विशेष रूप से डिजाइन किया गया पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं, जो विकास कौशल में सहायता प्रदान करते हैं। इस प्रकार के विश्वविद्यालयों को Deemed University कहा जाता है। इस प्रकार की यूनिवर्सिटी देश और दुनिया में बहुत ही कम देखने को मिलती है फिर भी भारत में आपको अनेक सारी डीम्ड यूनिवर्सिटीज देखने के लिए मिल जाएगी।

डीम्ड यूनिवर्सिटी कैसे बनती है? —

अब तक हम यह जान चुके हैं कि डीम्ड यूनिवर्सिटी क्या होती है? तो अब हम यह भी जान लेते हैं कि Deemed University कैसे बनती है यानी कि दूसरी यूनिवर्सिटी के मुकाबले डीम्ड यूनिवर्सिटी का वर्गीकरण कैसे होता है? जैसा कि अब तक हम जान चुके हैं कि Deemed University कुछ खास विशेषता के कारण जानी जाती है, तो कौन कौन सी खास विशेषता होती है जिसके आधार पर यह तय किया जाता है कि यह Deemed University है तो आइए जानते हैं–

  • जिस विश्वविद्यालय को NAAC द्वारा और कुछ मामलों में NBA द्वारा सम्मानित किया गया गया हो।
  • विश्वविद्यालय जो NBA के मामले में सभी पात्र पाठ्यक्रमों के लिए क्रेडिट प्रदान करता है।
  • जो विश्वविद्यालय 100 राष्ट्रीय रैंकिंग फ्रेमवर्क सूची में स्थान प्राप्त करता है।
  • जो विश्वविद्यालय आवेदन के समय NAAC /NBA की उच्चतम श्रेणी के लिए भी लक्ष्य बना सकता है।
  • जो विश्वविद्यालय शिक्षण गतिविधियां अनुसंधान सुविधाएं और शिक्षा के मामले में सभी मानदंडों को पूरा करता है।
  • जो विश्वविद्यालय 3 वर्षीय स्नातक और 5 वर्षीय स्नातकोत्तर डिग्री प्रदान करवाता है।
  • जिस विश्व विद्यालय में शिक्षण और अनुसंधान गतिविधियों के लिए पूर्ण कालीन शिक्षण कर्मचारी हो।
  • जिससे किसी विद्यालय के पास अनुसंधान और डेटा उद्देश्यों के लिए उचित बुनियादी ढांचा और सुविधाएं उपलब्ध हो।
  • जो विश्वविद्यालय दूरस्थ शिक्षा पाठ्यक्रमों की पेशकश नहीं करने के लिए स्वीकार करता हो।
  • जो विश्वविद्यालय सामाजिक और अधिकारिक तौर पर विस्तार सेवाओं में शामिल किया गया हो।
  • जिस विश्वविद्यालय के पास शोध उद्देश्यों के लिए विभिन्न प्रकार के सार्वजनिक और निजी एजेंसियों के वित्त पोषण के लिए गुप्त होने का रिकॉर्ड हो।

राज्य विश्वविद्यालय और Deemed विश्वविद्यालय में अंतर —

किसी राज्य की विधायिका द्वारा पारित कानून द्वारा स्थापित विश्वविद्यालय को राज्य विश्वविद्यालय कहते हैं जबकि ‘यूजीसी अधिनियम 1956’ में परिभाषित एक Deemed University माना जाता है। राज्य विश्वविद्यालय अपनी फीस और पाठ्यक्रम रचना को सुव्यवस्थित दृष्टिकोण का उपयोग करते हुए ध्यान में रखते हुए तय करते हैं। जिसका मुख्य उद्देश्य पाठ्यक्रम को सस्था और किफायती रखना है। जबकि एक डीम्ड विश्वविद्यालय अपने हिसाब से किसी भी Course की Fees तय कर सकता है और वसूल कर सकता है। बता दें कि दिल्ली विश्वविद्यालय में अत्याधुनिक उपकरण और सुविधाएं होती है। राज्य विश्वविद्यालय नामांकित छात्रों को डिग्री प्रदान करता है जबकि डीम्ड विश्वविद्यालय पर निर्भर करता है कि विद्यार्थी की डिग्री चुने गए पाठ्यक्रम की सरंचना पर निर्भर है।

प्राइवेट विश्वविद्यालय और Deemed विश्वविद्यालय में अंतर —

डीम्ड विश्वविद्यालय UGC की सलाह पर, उच्च शिक्षा विभाग (DHE), MHRD द्वारा मान्यता प्राप्त है जबकि प्राइवेट विश्वविद्यालय को केवल UGC द्वारा मंजूरी दी जाती है। डीम्ड विश्वविद्यालय पाठ्यक्रम, फीस, प्रवेश तय करने में पूरी तरह से स्वतंत्र हैं। जबकि प्राइवेट विश्वविद्यालय में सभी कार्यों के लिए UGC के नियम संचालित होता है। Deemed University छात्रों को Diploma या Degree प्रदान कर सकता है। इस मामले में प्राइवेट विश्वविद्यालय भी छात्रों को Degree या Diploma प्रदान कर सकता है। अगर हम बात करें विश्वविद्यालय के Syllabus की तो इस मामले में दोनों ही विश्वविद्यालय अपना खुद का Syllabus तय कर सकते हैं।

भारत में Deemed विश्वविद्यालयों की सूची —

1. Delhi —

  • Indian Agricultural Research Institute
  • Indian Law Institute
  • Jamia Hamdard
  • National Museum Institute of History of Arts
  • Conservation and Musicology
  • Indian Institute of Foreign Trade
  • National University of Educational Planning & Administration
  • Rashtriya Sanskrit Sansthan
  • Shri Lal Bahadur Shastri Rashtriya Sanskrit Vidyapith
  • TERI School of Advanced Studies

2. Haryana —

  • National Institute of Food Technology,
  • Entrepreneurship
  • & Management (NIFTEM);
  • Maharishi Markandeshwar (Deemed to be University)
  • Lingaya’s Vidyapeeth,
  • National Brain Research Centre,
  • National Dairy Research Institute,
  • Manav Rachna International Institute of Research and Studies

Rajasthan —

  • IIS,
  • Banasthai Vidyapith,
  • Birla Institute of Technology & Science,
  • Institute of Advanced Studies in Education,
  • Jain Vishva Bharati Institute,
  • Janardan Rai Nagar Rajasthan Vidyapeeth,
  • The LNM Institute of Information Technology

West Bengal —

  • Ramakrishna Mission Vivekananda Educational & Research Institute,
  • Indian Association for the Cultivation of Science (IACS)

Chandigarh —

  • Punjab Engineering College

Maharashtra —

  • Bharati Vidyapeeth,
  • Central Institute of Fisheries Education,
  • D.Y Patil Educational Society,
  • Datta Meghe Institute of Medical Sciences,
  • Deccan College Postgraduate & Research Institute,
  • Dr D.Y. Patil Vidyapeeth,
  • Gokhale Institute of Politics & Economics,
  • Homi Bhabha National Institute,
  • Indira Gandhi Institute of Development Research,
  • Defense Institute of Advanced Technology,
  • International Institute for Population Sciences,
  • Institute of Chemical Technology,
  • Krishna Institute of Medical Sciences,
  • MGM Institute of Health Sciences,
  • Narsee Monjee Institute of Management Studies,
  • Padmashree Dr. D.Y. Patil Vidyapeeeth,
  • Pravara Institute of Medical Sciences,
  • Symbiosis International University,
  • Tata Institute of Fundamental Research,
  • Tata Institute of Social Sciences,
  • Tilak Maharashtra Vidyapeeth

Andhra Pradesh —

  • Gandhi Institute of Technology & Management,
  • Rashtriya Sanskrit Vidhyapeeth,
  • Sri Sathya Institute of Higher Learning,
  • Vigyan Foundation for Science, Technology & Research,
  • Koneru Lakshmaiah Education Foundation,

Jammu & Kashmir —

  • Central Institute of Buddhist Studies (CIBS),
  • Punjab Sant Logowal Institute of Engineering & Technology,
  • Thapar Institute of Engineering & Technology

People Also Read:-

Internship, Fellowship & Scholarship में क्या अंतर है?

क्या Arts में पढ़ाई करने के बाद जिंदगी बर्बाद है?

बेरोजगारी भत्ता क्या होता है कैसे मिलता है?

10th, 12th Class में Top कैसे करें?

पढ़ाई के साथ पैसे कैसे कमाए?

Conclusion

वर्तमान समय में एजुकेशन का क्षेत्र काफी बड़ा हो चुका है। यहां पर अनेक प्रकार के विश्वविद्यालय अनेक प्रकार के छात्रों ने प्रकार की शिक्षा अनेक प्रकार के कोर्स और विभिन्न प्रकार की परीक्षाएं होती है, जिसकी वजह से अधिकांश विद्यार्थियों को इस क्षेत्र में बहुत कुछ पता नहीं होता है। ऐसा ही एक विषय Deemed University का है, जिसके बारे में बहुत ही कम विद्यार्थियों को पता है। तो इस आर्टिकल में हम आपको आज पूरी जानकारी के साथ विस्तार पूर्वक डीम्ड यूनिवर्सिटी के बारे में बता चुके हैं। हमें उम्मीद है यह जानकारी आपके लिए जरूर ही उपयोगी साबित हुई होगी। अगर आपका इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी प्रश्न है? तो आप नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं, अन्यथा आप इसे अपने मित्रों के साथ जरूर शेयर करें ताकि उन्हें भी इस विषय के बारे में जानकारी मिल सकें।