WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

DMLT Course Details in Hindi 2023: DMLT में करियर कैसे बनाएं

आज के समय में मेडिकल क्षेत्र में हर कोई कैरियर बनाना चाहता है इसीलिए DMLT Course एक ऐसा कोर्स है जो मेडिकल क्षेत्र से जुड़ा हुआ है। यह एक डिप्लोमा कोर्स होता है जिसके बारे में हम आपको जानकारी देने जा रहे हैं। अगर आप भी प्रोफेशनल कोर्स मेडिकल क्षेत्र में ढूंढ रहे हैं तो आप भी डीएमएलटी कोर्स कर सकते हैं। इसको करने के बाद सरकारी नौकरी की जा सकती है। अगर आप चाहे तो प्राइवेट सेक्टर में भी जॉब कर सकते हैं। तो आज के आर्टिकल में हम आपको डीएमएलटी कोर्स के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देने जा रहे हैं।

Contents hide

DMLT Kya Hai (DMLT Course Details in Hindi)

DMLT Course Details in Hindi

सबसे पहले तो डीएमएलटी की फुल फॉर्म की बात करते हैं dmlt ka full form होता है Diploma in Medical Laboratory Technology, यह एक पैरामेडिकल डिप्लोमा कोर्स होता है जो 2 साल 6 महीने का होता है। इस कोर्स में 2 साल में थ्योरी और प्रैक्टिकल करवाये जाते है। इसी के साथ इसमें 6 महीने की इंटर्नशिप ट्रेनिंग भी करनी अनिवार्य होती है। इंटर्नशिप के दौरान हर इंस्टिट्यूट अपने स्टूडेंट को कुछ स्टाइपेंड भी देते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि डीएमएलटी कोर्स करने के बाद आप किसी सरकारी या प्राइवेट क्लीनिंक में नौकरी कर सकते हैं। डीएमएलटी कोर्स वह कोर्स होता है जहां पर लैब में टेस्ट किए जाते हैं जिसे डायग्नोसिस टेस्ट कहा जाता है। अधिकतर लोगों को Doctor टेस्ट करवाने के बारे में सलाह देते हैं जो लोग टेस्ट करवाने लैब टेक्नीशियन के पास जाते हैं। इसमें main काम लैब टेक्निशियन का ही होता है। अगर आप लैब टेक्नीशियन बनना चाहते हैं तो इसके लिए डीएमएलटी कोर्स करना अनिवार्य होता है।

DMLT Course करने के लिए योग्यता

जब कोई विद्यार्थी किसी प्रोफेशनल कोर्स में एडमिशन लेता है तो उसके लिए कुछ योग्यता जारी की जाती है। डीएमएलटी कोर्स के लिए निम्नलिखित योग्यता जारी की गई है:

  • सबसे पहले तो DMLT Course में जो उम्मीदवार आवेदन करना चाहता है वह भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • इसी के साथ भारत के किसी भी मान्य बोर्ड से 12वीं कक्षा उत्तीर्ण होना अनिवार्य है।
  • भारत में कुछ कॉलेज ऐसे हैं जो दसवीं न्यूनतम 50% अंकों से पास करने के बाद डीएमएलटी कोर्स में एडमिशन दे देते हैं, लेकिन कुछ कॉलेज ऐसे हैं जो इसकी अनुमति नहीं देते हैं।
  • जो व्यक्ति डीएमएलटी कोर्स में एडमिशन लेना चाहता है उसके पास 12वीं क्लास में विज्ञान स्ट्रीम होना अनिवार्य है।
  • जो उम्मीदवार एससी एसटी श्रेणी के अंतर्गत आते हैं उनके लिए 12वीं कक्षा में न्यूनतम अंक 50% निर्धारित किए जाते हैं।

डीएमएलटी में कितने सब्जेक्ट होते हैं

डीएमएलटी कोर्स 2 वर्ष का होता है जिसमें 4 सेमेस्टर निर्धारित किए गए हैं। यहां पर हम आपको बताते हैं कि कौन से सेमेस्टर में डीएमएलटी कोर्स में कौन से विषयों के बारे में जानकारी दी जाती है:

डीएमएलटी 1ST Year Books

पैथोलॉजी – क्लीनिकल पैथोलॉजी, हेमेटोलॉजी

माइक्रोबायोलॉजी – जनरल बैक्टीरियोलॉजी, सिस्टमिक बैक्टीरियोलॉजी, इम्यूनोलॉजी एंड सेरोलॉजी

Biochemistry

डीएमएलटी 2ND Year Books

पैथोलॉजी – हिस्टोपैथोलॉजी, साइटोपैथोलॉजी, ब्लड बैंकिंग

माइक्रोबायोलॉजी – परैयटोलॉजि, क्लिनिकल माइक्रोबायोलॉजी, इम्यूनोलॉजी एंड सेरोलॉजी, माइक्रोलॉजिक, एनिमल केयर, वायरोलॉजी

बायोकेमेस्ट्री

डीएमएलटी कोर्स की कंप्लीट फीस

DMLT Course Fees दो चीजों पर निर्भर करती है। सबसे पहले तो कॉलेज सरकारी है या प्राइवेट, इसी के साथ कॉलेज की रेपुटेशन कैसी है, कंपसिंग कैसे मिलते हैं इन सभी बातों पर कोर्स की फीस डिपेंड करती है।

इसी तरीके से किसी भी प्राइवेट कॉलेज की फीस निर्धारित नहीं होती है क्योंकि हर कॉलेज अपने हिसाब से ही कोर्स की फीस को चार्ज करता है। आमतौर पर अगर बात की जाए प्राइवेट कॉलेज की फीस के बारे में तो वहां पर डेढ़ लाख से लेकर 3:50 लाख रुपए तक की फीस हो सकती है।

इसी के साथ-साथ अगर सरकारी कॉलेज की फीस की बात की जाए तो सरकारी कॉलेज में लगभग 30000 से लेकर ₹60000 तक फीस चार्ज की जाती है। वैसे हमने यहां पर जो राशि बताई गई है वह कोई निर्दिष्ट राशि नहीं है सभी कॉलेज अपने हिसाब से फीस चार्ज करते हैं इसीलिए कॉलेज के हिसाब से फीस ऊपर नीचे हो सकती है।

डीएमएलटी कोर्स में एडमिशन लेने की प्रक्रिया

सबसे पहले तो हम आपको बता दे की डीएमएलटी कोर्स में दो तरीके से एडमिशन लिया जाता है। सबसे पहले तो डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है या फिर एंट्रेंस परीक्षा देनी पड़ती है। उसी के आधार पर आपको एडमिशन मिलता है। जिस कॉलेज में डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है वहां पर आप सीधा कांटेक्ट कर सकते हैं और एडमिशन ले सकते हैं। इसी के साथ-साथ जहां पर एंट्रेंस एग्जाम देकर एडमिशन मिलता है वहां पर आपको एडमिशन के लिए सबसे पहले फॉर्म फिल करना होता है। इसके बाद वहां पर एंट्रेंस एग्जाम होता है। इसकी प्रक्रिया हम आपको नीचे बता रहे हैं:

  1. जिस कॉलेज में एडमिशन एंट्रेंस परीक्षा के आधार पर दिया जाता है, वहां पर सबसे पहले तो आपको ऑफिशल वेबसाइट पर जाना होगा।
  2. Official website पर जाने के बाद न्यू रजिस्ट्रेशन पर क्लिक कर दें। अब वहां पर अपना नाम, मोबाइल नंबर डालकर रजिस्ट्रेशन कर लें।
  3. जब आप वहां पर रजिस्ट्रेशन कर देते हैं तो आपको ID और Password मिल जाता है जिसे दर्ज करने के बाद आप उसे log in कर सकते हैं।
  4. अब यहां पर आपको अपना पता, शैक्षिक योग्यता और सभी जरूरी जानकारी डालकर अप्लाई करना होगा।
  5. पूरी तरह से फॉर्म फिल करने के बाद application submit के button पर क्लिक कर दे और इसके बाद Printout जरूर निकाल ले।
  6. समय-समय पर वेबसाइट पर visit करते रहे वहां पर आपको exam से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी मिल जाती है।
  7. जब Entrance Exam पूरा हो जाता है उसके बाद रैंक को देखते हुए ही एडमिशन का प्रोसेस आगे बढ़ाया जाता है।

डीएमएलटी कोर्स करने के लिए भारत के बेस्ट कॉलेज

  • गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, अमृतसर, पंजाब
  • राजीव गांधी कॉलेज, भोपाल, मध्य प्रदेश
  • Bankura Sammilani Medical College, Bankura, Paschim Bangal
  • महाराष्ट्र इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, पुणे, महाराष्ट्र
  • सरदार पटेल यूनिवर्सिटी वल्लभ विद्यानगर, गुजरात
  • मेवाड़ यूनिवर्सिटी, चितौड़गढ़, राजस्थान
  • नालंदा मेडिकल कॉलेज, पटना, बिहार
  • तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी, मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश
  • जवाहरलाल मेडिकल कॉलेज, भागलपुर, बिहार
  • Madurai Medical College, Madurai, Tamil Nadu
  • महाराजा इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस, विजयनगरम, आंध्र प्रदेश
  • माधव यूनिवर्सिटी, सिरोही, राजस्थान

डीएमएलटी कोर्स करने के बाद क्या करें

जब आप डीएमएलटी कोर्स कर लेते हैं तो आप जहां पर चाहे नौकरी कर सकते हैं या फिर आप अपनी एजुकेशनल क्वालीफिकेशन को आगे बढ़ा सकते हैं। अगर आप और भी आगे बढ़ना और पढ़ना चाहते हैं तो इसके लिए बीएमएलटी कोर्स कर सकते हैं। बीएमएलटी मतलब बैचलर इन मेडिकल लैबोरेट्री टेक्नोलॉजी कोर्स होता है। यह एक मेडिकल से जुड़ा हुआ ही कोर्स होता है। अगर आप जॉब करना चाहते हैं तो इसके लिए हम आपको कुछ रिक्रूटमेंट बता रहे हैं। आपको बता दे अगर आप चाहे तो डीएमएलटी कोर्स करने के बाद विदेश में भी नौकरी कर सकते हैं।

  • निजी अस्पताल तथा नर्सिंग होम में लैब टेक्नीशियन के रूप में काम कर सकते हैं।
  • अगर आप चाहे तो सरकारी अस्पताल में भी लैब टेक्नीशियन के तौर पर काम कर सकते हैं।
  • NGO Private Clinic में भी डीएमएलटी कोर्स करने के बाद काम किया जा सकता है।
  • इसके अलावा आप ब्लड बैंक, ब्लड कैंप इन सभी में भी काम कर सकते हैं।
  • सरकारी अस्पताल में भी लैब टेक्नीशियन का काम किया जा सकता है।
  • अगर आप चाहे तो खुद की डायग्नोसिस सेंटर खोलकर खुद का बिजनेस भी शुरू कर सकते हैं।

बहुत सारी ऐसी बड़ी-बड़ी कंपनी होती है जहां पर लैब टेक्नीशियन के लिए वैकेंसी आती है। अगर आप चाहे तो वहां पर भी अप्लाई कर सकते हैं।

People Also Read:-

12वीं साइंस के बाद लड़कियों के लिए कौन सा फील्ड बेस्ट होता है?

बार्बी बायोलॉजी में करने के बाद क्या-क्या बन सकते हैं?

बीए करने के बाद मेडिकल कोर्स कैसे कर सकते हैं?

लैब असिस्टेंट कैसे बने पूरा प्रोसेस जाने

डीएमएलटी कोर्स करने के बाद सैलरी

डीएमएलटी कोर्स करने के बाद अगर सैलरी की बात की जाए तो सरकारी क्षेत्र में बहुत ही अच्छी खासी सैलरी मिल सकती है। शुरुआती समय में लगभग 25000 से लेकर ₹30000 तक की डीएमएलटी कोर्स करने के बाद सैलरी दी जाती है।

वही अगर प्राइवेट सेक्टर की बात की जाए तो शुरुआती समय में ₹10000 से लेकर 17000 रुपए तक की सैलरी मिलती है। इसके बाद जैसे-जैसे आपका तजुर्बा और अनुभव बढ़ता है वैसे-वैसे आपकी सैलरी में भी बढ़ोतरी हो जाती है।

FAQ:-

1. डीएमएलटी कोर्स की फुल फॉर्म क्या होती है?

डीएमएलटी कोर्स की फुल फॉर्म डिप्लोमा इन मेडिकल लैबोरेट्री टेक्नोलॉजी होती है।

2. क्या डीएमएलटी एंट्रेंस एग्जाम हिंदी इंग्लिश या किसी दूसरी भाषा में भी होते हैं?

सारे राज्य में डीएमएलटी एंट्रेंस एग्जाम के प्रश्न पत्र इंग्लिश भाषा में ही जारी किए जाते हैं, परंतु कई राज्य ऐसे होते हैं जो इंग्लिश के साथ-साथ मातृभाषा में भी प्रश्न पत्र बनाते हैं।

3. क्या डीएमएलटी कोर्स करने के बाद पैथोलॉजी लैब खुद का शुरू किया जा सकता है?

जी हां, जब आप पूरा कोर्स कर लेते हैं तो आप खुद का पैथोलॉजी लैब शुरू कर सकते हैं।

4. DMLT Exam Pass करने के लिए कौन से सब्जेक्ट पर अधिक जोर देना पड़ता है?

इसके लिए फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी पर जोर देना होता है।

निष्कर्ष:-

इस आर्टिकल में हमने आपको DMLT Course के बारे में संपूर्ण जानकारी दी है, कि डीएमएलटी कोर्स क्या होता है। यह किस प्रकार किया जाता है। इसको करने के लिए कितनी समय अवधि की आवश्यकता होती है और डीएमएलटी कोर्स करने के बाद क्या-क्या ऑप्शन होते हैं। इन सभी के बारे में जानकारी दी है। अगर आप भी डीएमएलटी कोर्स करने के बारे में विचार कर रहे हैं तो यह एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है।