WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आज भी लोगों की जिंदगी बदलने के लिए प्रेरणादायक है गांधी के उपदेश, गांधी जी की जयंती पर जानिए कुछ विशेष

नई दिल्ली:- आज 2 अक्टूबर है. 2 अक्टूबर को भारत में महान व्यक्ति महात्मा गांधी का जन्म हुआ था. 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के रूप में मनाया जाता है. न केवल भारत बल्कि पूरी दुनिया में गांधी ज़ी के काफी फॉलोअर है. हर कोई गांधी जी के विचारों से बहुत जल्दी प्रभावित हो जाता था. मार्टिन लुथर किंग जूनियर से लेकर नेल्सन मंडेला और बराक ओबामा तक हर किसी पर गांधी जी की विचारधारा ने प्रभाव डाला हैं.

हर किसी के लिए प्रेरणा रहे महात्मा गांधी के उपदेश

gandhi ji ke anmol vichar in hindi 2023

महात्मा गांधी के उपदेश के जरिए पूरे विश्व में कई लोगों के जीवन बदल गए. उन्होंने गांधी जी के विचारों को अपनी प्रेरणा बनाया और अपने जीवन को सफल किया. आज महात्मा गांधी जी की जयंती है तो ऐसे में आइएजानते हैं कि उनके उपदेश आपके फाइनेंशियल लाइफ (Financial life) के लिए किस तरह लाभदायक हो सकते हैं.

ICICI बैंक ने बनाया एक कैंपेन

देश के सबसे बड़े बैंकों में से एक आईसीआईसीआई बैंक ने गांधी जयंती पर एक खास कैंपेन बनाया है. उस कैंपेन में प्राइवेट सेक्टर के इस बैंक ने महात्मा गांधी के फाइनेंशियल विज्डम के बारे में जानकारी दी. कैंपेन में आईसीआईसीआई बैंक ने महात्मा गांधी के प्रसिद्ध कथनों की मदद ली है और उनकी तरह ही फाइनेंस की उक्तियां तैयार की है.

HDFC Bank ने भी किया महात्मा गांधी की सीख का वर्णन

वैल्यू के मुताबिक देश का सबसे बड़ा Bank बन चुका एचडीएफसी बैंक भी एक ब्लॉग में गांधी से मिलने वाली Financial सीख के बारे में वर्णन करता है. Bank का कहना है कि गांधी के जीवन से स्व अनुशासन और धैर्य का ज्ञान मिलता है. वित्तीय मामलों में आजादी के लिए हर किसी में यह दो गुण जरूर होने चाहिए.

यह भी देखें:-

प्रधानमंत्री विश्वकर्म योजना का फायदा कैसे मिलेगा?

उत्तर प्रदेश बेरोजगारी भत्ता के रजिस्ट्रेशन और स्टेटस से जुड़ी जानकारी

झारखंड में होने जा रहा है रोजगार मेला

सरकार दे रही है फ्री में लैपटॉप आप भी उठाएं लाभ

महात्मा गांधी के 3 बड़े उपदेश

  1. सबसे पहले महात्मा गांधी का वो फैमस कोटेशन ध्यान है, जिसमें गांधी बताते हैं कि दुनिया में हर किसी की जरूरत के लिए तो सभी चीजें हैं, मगर लालच के लिए नहीं. इसकी तर्ज पर बैंक कहता है कि फाइनेंशियल स्टेबिलिटी के लिए इच्छाओं पर जरूरतों को पहले रखना चाहिए.
  2. गांधी ज़ी कहते हैं- ताकत शारीरिक क्षमता से नहीं आती है, बल्कि यह इच्छाशक्ति पर आधारित होती है. आईसीआईसीआई बैंक उसी तर्ज पर कहता है- वित्तीय ताकत बैंक बैलेंस से नहीं मिलती है, बल्कि वित्तीय योजना यानी फाइनेंशियल प्लानिंग से प्राप्त की जाती है.
  3. गांधी ज़ी कहते हैं- भविष्य इस बात पर निर्भर करता है कि आज आप क्या कर रहे है. आईसीआईसीआई बैंक इस तर्ज पर कहता है- अपने फाइनेंशियल फ्यूचर के लिए आज सेविंग और इन्वेस्ट करें.