जीएनएम कोर्स क्या है | GNM Course Details in Hindi 2023

विद्यार्थी के 12वीं कक्षा पास कर लेता है, तो उसके पश्चात विद्यार्थी के सामने कई अलग-अलग तरह के ऑप्शन मौजूद हो जाते हैं। उनमें से किसी भी एक ऑप्शन का चयन करते हुए विद्यार्थी को डिग्री व डिप्लोमा लेकर अपने करियर को सेट करना होता है। जीएनएम कोर्स के बारे में तो आपने सुना ही होगा। जीएनएम मेडिकल लाइन का कोर्स है। जिसके माध्यम से विद्यार्थी नर्सिंग स्टाफ की नौकरी हासिल कर सकता है। जीएनएम करने के लिए विद्यार्थी को सबसे पहले 12वीं कक्षा पास करनी होती है और उसके बाद आगे जीएनएम का कोर्स करना पड़ता है। आज के आर्टिकल में हम आपको GNM Course क्या है और GNM Course कैसे करें? GNM Course details in Hindi के बारे में जानकारी देने का प्रयास करेंगे।

GNM Course Kya Hai?

GNM Course Details in Hindi

GNM Course का full form General Nursing & Midwifery होता है। जीएनएम डिप्लोमा कोर्स है। जो नर्सिंग के क्षेत्र में करियर बनाने वाले विद्यार्थियों के लिए काफी उचित रहता है। यह डिप्लोमा करने के बाद विद्यार्थी नर्सिंग ऑफिसर बनने का सपना पूरा कर सकता है या मेडिकल वह होम केयर सेंटर में नर्सिंग स्टाफ के तौर पर नौकरी हासिल कर सकता है। विद्यार्थी के लिए नर्सिंग के सिलेबस को पढ़ते हुए नर्सिंग का कोर्स पूरा करने के बाद 6 महीने की इंटरशिप होती है। जिसमें विद्यार्थी को प्रेक्टिकल के तौर पर किसी भी अस्पताल में 6 महीने इंटरशिप अवधि के दौरान हर काम को सीखना होता है।

जीएनएम कोर्स करने के लिए जरूरी योग्यता (GNM Course Eligibility in 2023)

GNM (General Nursing & Midwifery) का कोर्स करने वाले उम्मीदवारों के पास न्यूनतम 12 वीं कक्षा विज्ञान वर्ग से होना अनिवार्य है। विज्ञान वर्ग में फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी ग्रुप से 12वीं कक्षा पास होना अनिवार्य है और न्यूनतम उम्र के तौर पर 17 वर्ष की उम्र होना भी जरूरी है। 12वीं कक्षा पास करने के बाद जीएनएम कोर्स के लिए विद्यार्थी आगे आवेदन कर सकता है। हालांकि बारहवीं कक्षा के लिए न्यूनतम 45% अंक अनिवार्य किए गए हैं।

GNM Course Kaise Kare in 2023? (GNM Course Details in Hindi)

जीएनएम कोर्स करने के लिए कैंडिडेट को सबसे पहले 12वीं कक्षा पास करनी होती है। 12वीं कक्षा पास करने के बाद विद्यार्थी को आगे की पढ़ाई पर ध्यान देना है। जीएनएम कोर्स करने की कुछ प्रक्रिया हम आपको नीचे कर बता रहे हैं।

GNM Course के लिए Entrance Exam

12वीं कक्षा पास करने के बाद उम्मीदवारों को सर्वप्रथम एंट्रेंस एग्जाम में भाग लेकर जीएनएम कोर्स के लिए बेहतरीन कॉलेज में दाखिला लेना होता है। हालांकि कई ऐसे कॉलेज प्राइवेट सेक्टर में मौजूद है, जो बिना किसी एंट्रेंस एग्जाम की आपको कॉलेज में दाखिल कर देते हैं।

लेकिन वहां आपको अधिक फीस का भुगतान करना होता है। लेकिन एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से यदि आप जीएनएम कॉलेज में दाखिल होते हैं। तो आपको कम फिस के साथ आपको यह  कोर्स करने का मौका मिल जाता है।

जीएनएम कोर्स के लिए एंट्रेंस एग्जाम कौन कौन से होते हैं। उसके बारे में नीचे कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है:

  • केजीएमयू नृसिंग एंट्रेंस एग्जाम
  • बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी नृसिंग एंट्रेंस एग्जाम
  • एम्स नृसिंग एंट्रेंस एग्जाम
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड एजुकेशन रिसर्च
  • इग्नू नृसिंग एंट्रेंस एग्जाम
  • अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी नर्सिंग एंट्रेंस एग्जाम
  • हिमांचल प्रदेश नृसिंग एंट्रेंस एग्जाम
  • पीजीआईएमआर नृसिंग एंट्रेंस एग्जाम
  • एमजीएम सेट नर्सिंग एंट्रेंस एग्जाम
  • हेमवती नंदन बहुगुणा यूनिवर्सिटी बीएससी नृसिंग एंट्रेंस एग्जाम
  • आरयूएचएस नृसिंग एंट्रेंस एग्जाम
  • यूपी नृसिंग एंट्रेंस एग्जाम
  • एमजीपी रुहेलखंड यूनिवर्सिटी नृसिंग एंट्रेंस एग्जाम
  • गुरुघासीदास यूनिवर्सिटी नृसिंग एंट्रेंस एग्जाम, आदि।

जीएनएम कोर्स में दाखिला

जब एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से उम्मीदवारों का जीएनएम कॉलेज में दाखिला हो जाता है। तो विद्यार्थी को 3 साल तक कॉलेज में पढ़ाई करते हुए इस डिप्लोमा को पूरा करना है और उसके बाद विद्यार्थी को 6 महीने अतिरिक्त इंटरशिप के माध्यम से अपने इंटरशिप कार्य और प्रैक्टिकल को पूरा करते हुए इस डिप्लोमा को कंप्लीट करके सर्टिफिकेट हासिल करना है। GNM Course करने के बाद उम्मीदवार कई तरह से अलग-अलग विभागों में नौकरी हासिल कर सकता है और नर्सिंग स्टाफ के तौर पर अपनी सेवा दे सकता है।

GNM Course की Fees कितनी होती हैं?

जीएनएम कोर्स के बीच की बात की जाए तो डिप्लोमा कोर्स करने के लिए यदि आप एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से कॉलेज में एडमिशन लेते हैं। तो आप को प्रतिवर्ष ₹30000 से लेकर ₹150000 तक की फीस देनी पड़ सकती है। लेकिन यदि आप बिना किसी एंट्रेंस एग्जाम के डायरेक्ट प्राइवेट कॉलेज में दाखिल होते हैं। तो आपको ₹100000 से लेकर ₹400000 के बीच फीस देनी पड़ती है।

People Also Read:-

ANM Course क्या है कैसे करें पूरी जानकारी?

NEET परीक्षा क्या है तैयारी कैसे करें full details in Hindi.

दसवीं के बाद ज्यादा सैलरी देने वाली नौकरियां कौन सी होती है?

BSC Course क्या होता है कैसे करें?

GNM Nursing Course के बाद Job के अवसर (Career After GNM Nursing in Hindi)

जीएनएम नर्सिंग कोर्स करने के बाद विद्यार्थी चिकित्सा के क्षेत्र में नर्सिंग डिपार्टमेंट में स्टाफ के तौर पर काम कर सकता है। नर्सिंग स्टाफ की आज के समय में काफी वैल्यू होती है और वर्तमान समय में बहुत सारे अस्पताल में नर्सिंग स्टाफ की जरूरत रहती हैं। नर्सिंग स्टाफ को Doctor का right hand भी कहा जाता है। क्योंकि Doctor के बाद मरीजों की देखभाल में Nursing Staf अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

इसके अलावा होम केयर सेंटर में भी नर्सिंग स्टाफ की जरूरत होती है। उम्मीदवार 12वीं कक्षा पास करके जीएनएम डिप्लोमा करने के बाद नर्सिंग स्टाफ के तौर पर चिकित्सा और होम केयर सेंटर में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका देकर अपने करियर को संभाल सकता है और यहां नौकरी करके अच्छा पैसा भी कमा सकता है।

सरकार के द्वारा भी प्रतिवर्ष नर्सिंग स्टाफ की भर्ती निकाली जाती है। इस भर्ती के माध्यम से सरकारी अस्पताल के लिए नर्सिंग स्टाफ के तौर पर कई उम्मीदवारों को चयनित किया जाता है। अतः नर्सिंग का डिप्लोमा ले चुके विद्यार्थी सरकार द्वारा निकाली जाने वाली भर्ती में आवेदन लगाकर सरकारी नौकरी भी प्राप्त कर सकें। Nurse बनने के बाद उम्मीदवार कौन-कौन से विभाग में नौकरी पा सकता है। उसके बारे में नीचे कुछ जानकारी दी गई है:

  • Hospital Nurse
  • क्लीनिकल नर्स
  • स्टाफ नर्स
  • मिलिट्री नर्स
  • डिपार्टमेंट सुपरवाइजर
  • नर्सिंग सर्विस एडमिनिस्ट्रेटर
  • नृसिंग डायरेक्टर
  • कम्युनिटी नर्स
  • असिस्टेंट नर्सिंग सुपरिंटेंडेंट
  • कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर
  • इंडिस्ट्रीयल सुपरवाइजर
  • नृसिंग टीचर

GNM Nursing के कार्य

नर्सिंग ऑफिसर के पद पर काम करने वाले उम्मीदवार को कई प्रकार की महत्वपूर्ण भूमिका निभानी होती है। जो कुछ इस प्रकार से है:

  • अस्पताल में मरीजों की देखभाल करना और उनकी सेवा करने का काम नर्सिंग ऑफिसर का होता है।
  • रोगियों के इलाज के दौरान डॉक्टर के साथ असिस्टेंट के तौर पर काम करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभानी पड़ती है।
  • मरीजों को समय पर उनकी दवाएं देना और नियमित चेकअप करना जैसे कि ब्लड शुगर और टेंपरेचर चेक करने का काम करना होता है।
  • दवाइयों के साथ-साथ मरीजों के खानपान संबंधित कई प्रकार की मुख्य बातों को भी ध्यान रखना होता है।
  • मरीजों को स्वास्थ्य कंडीशन कैसी है इसके बारे में देखभाल करना और जो मरीज ठीक हो चुके हैं उन्हें अस्पताल से छुट्टी देने का काम भी करना होता है।
  • मरीज एडमिट होने से लेकर हॉस्पिटल से जाने तक दवाइयों की देखभाल करने का काम इंजेक्शन लगाने का काम नर्सिंग ऑफिसर का ही होता है।

GNM का सिलेबस क्या है? (GNM Syllabus 2023 in Hindi)

जीएनएम का सिलेबस यानी कि जीएनएम के 3 साल की अवधि के दौरान आपको कौन-कौन से विषय को पढ़ना होता है। उसके बारे में बात की जाए तो जीएनएम का सिलेबस हर साल के अनुसार नीचे कुछ इस प्रकार से दिया गया है। प्रत्येक वर्ष आपको इन इन सब्जेक्ट को पढ़ते हुए आगे बढ़ना है। GNM का सिलेबस नीचे दिया गया है:

1st Year Syllabus– एनाटोमी एंड फिजियोलॉजी, फिजियोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी, सोशियोलॉजी, फर्स्ट एड, पर्सनल हाइजीन

2nd Year Syllabus– मेडिकल- सर्जिकल नृसिंग1, कम्युनिकेबल डिजीज, ओनोकोलॉजी/स्किन, एअर, नोज एंड थ्रोट, मेन्टल हेल्थ एंड सैक्रेटिक हेल्थ, कम्युनिटी हेल्थ, कंप्यूटर

3rd Year Syllabus– कम्युनिटी हेल्थ नर्सिंग2, मिडवाइफरी एंड जिनेकोलोगिकल नर्सिंग, पीडियाट्रिक नृसिंग

Best GNM College कौन से हैं?

भारत में जीएनएम डिप्लोमा के बहुत सारे कॉलेज मौजूद है। लेकिन जब भारत के बेहतरीन जीएनएम डिप्लोमा कॉलेज के बारे में बात करें तो भारत के कुछ बेहतरीन जीएनएम डिप्लोमा कॉलेज की सूची नीचे इस प्रकार से दी गई है:

  • Christian Medical College Vellore
  • Christian Medical College Ludhiana
  • Institute of Postgraduate Medical Education and Research (IPGMER) Kolkata
  • KIIT Bhubaneswar
  • Government Medical College Kozhikode
  • Government Medical College and Hospital Chandigarh
  • TD Medical College Alappuzha
  • Maharajah’s Institute of Medical Sciences Vizianagaram
  • Baba Farid University of Health Sciences Faridkot
  • RR Nursing Institutions
  • St. John’s Medical College Bangalore
  • Bankura Sammilani Medical College Bankura
  • SRM Kanchipuram Chennai
  • IRT Perundurai Medical College Perundurai
  • IPGMER Nursing College
  • Indira Gandhi Institute of Medical Sciences
  • MJP Ruhelkhand university
  • Banars Hindu University
  • Lucknow university
  • Chandigrah University
  • Aandhra University

GNM नर्सिंग ऑफिसर की Salary (GNM Nursing Salary in India)

जीएनएम की डिग्री करने के बाद उम्मीदवार मुख्य तौर पर नर्सिंग ऑफिसर के पद पर कार्यरत होता है। सरकारी नर्सिंग ऑफिसर पद पर काम करने वाले उम्मीदवार को प्रति महीने ₹40000 से लेकर ₹50000 तक की सैलरी मिलती है और कई सरकारी अस्पताल में इससे अधिक भी सैलरी मिल जाती है। इसके अलावा प्राइवेट अस्पताल में नर्सिंग ऑफिसर के सैलरी की बात की जाए तो यहां सैलरी काफी कम शुरुआत के समय में मिलती है। शुरुआत के समय प्राइवेट हॉस्पिटल में नर्सिंग ऑफिसर को ₹8000 से लेकर 15000 के बीच की सैलरी मिल पाती है। लेकिन जैसे जैसे विद्यार्थी के पास अनुभव बढ़ता जाता है। विद्यार्थी आराम से 20 से ₹30000 की कमाई प्राइवेट सेक्टर से भी कर सकता है।

निष्कर्ष

विद्यार्थी 12वीं कक्षा पास करने के बाद किसी ने किसी डिप्लोमा और डिग्री करने के लिए कॉलेज में दाखिला लेते हैं। जीएनएम कोर्स करना उन विद्यार्थियों के लिए बेहतरीन है। जो बायोलॉजी विषय से 12वीं कक्षा पास कर चुके हैं। और मेडिकल लाइन में अपना करियर बनाना चाहते हैं। आज के आर्टिकल में हमने आपको GNM Course क्या होता है और GNM Course कैसे करें। GNM Course details in Hindi के बारे में जानकारी दी है। हमें उम्मीद है, कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपको यह जानकारी helpful लगी हो तो इसे आपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें, धन्यवाद।

Leave a Comment