ग्रेजुएशन क्या होता है? 2022 में Graduation की पूरी जानकारी

विद्यार्थी अपने जीवन में कुछ शिक्षा हासिल करने के लिए ग्रेजुएशन की डिग्री लेता है। जब विद्यार्थी 12वीं कक्षा उत्तीर्ण कर लेता है, तो उस विद्यार्थी को बैचलर डिग्री या अंडर ग्रेजुएशन डिग्री लेने का मौका मिलता है। विद्यार्थी को अपने आगे की पढ़ाई को सुचारु रुप से जारी रखने के लिए ग्रेजुएशन डिग्री लेना बहुत ज्यादा जरूरी है।

ग्रेजुएशन डिग्री ही पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री तक पहुंचाने के लिए विद्यार्थी को मदद करती है। ग्रेजुएशन डिग्री क्या होती है और ग्रेजुएशन कैसे करें इसके बारे में जानकारी हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से देने का प्रयास करेंगे।

ग्रेजुएशन क्या होता है? (Graduation Kya Hota Hai)

ग्रेजुएशन क्या होता है? 2022 में Graduation की पूरी जानकारी

12वीं कक्षा पास करने के बाद जो 3 से 5 वर्षीय डिग्री कोर्स किया जाता है, उसे ग्रेजुएशन कहते हैं। ग्रेजुएशन का हिंदी में मतलब स्नातक होता है। जो विद्यार्थी बैचलर डिग्री पाने के लिए कोर्स करता है। इस कोर्स की अवधि 3 साल से 5 साल के बीच हो सकती है। ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स में अलग-अलग प्रकार के कई कोर्स मौजूद होते हैं। स्नातक जिसे अंग्रेजी में ग्रेजुएशन कहा जाता है और स्नातक का मतलब “किसी के द्वारा ग्रेजुएशन करना” यदि किसी ने ग्रेजुएशन डिग्री कर ली है, तो उसे स्नातक पास या ग्रेजुएट बोला जाता है।

ग्रेजुएशन को कई अलग अलग नाम से पुकारा जाता है जैसे ग्रेजुएशन, बैचलर, स्नातक, अंडर ग्रेजुएशन, डिग्री पूर्व स्नातक डिग्री के नाम से भी जाना जाता है। ग्रेजुएशन की बहुत सारी अलग-अलग प्रकार की पोस्ट है। रिजर्वेशन पोस्ट के लिए विद्यार्थी के पास 12वीं कक्षा उत्तीर्ण का सर्टिफिकेट होना अनिवार्य है। लेकिन कई इंजीनियरिंग कॉलेज और एमबीबीएस एवं डेंटल कोर्स के लिए मेडिकल कॉलेज लेने पर आपको एंट्रेंस एग्जाम यानी कि एआईपीएमटी, नीट या फिर एंट्रेंस एग्जाम फाइट करते हुए कॉलेज में अपना एडमिशन फिक्स करना होगा।

यह भी देखें:- BA के बाद महिलाओं के लिए सरकारी नौकरियां 2022

ग्रेजुएशन के under आने वाले Course

12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद विद्यार्थी के सामने बहुत सारे ग्रेजुएशन के कोर्स उपलब्ध होते हैं, जो कुछ इस प्रकार से है।

  1. Bachelor of Arts
  2. Bachelor of Science
  3. Bachelor of Commerce
  4. Bachelor of Computer Applications
  5. BA with Bachelor of Law
  6. Bachelor of Design
  7. Bachelor of Architecture
  8. Bachelor of Technology
  9. Bachelor of Computer Science
  10. Bachelor of Fine Arts
  11. Bachelor of Engineering
  12. Bachelor of Hotel Management
  13. Bachelor of Dental Surgery
  14. Bachelor Of Medical And Bachelor Of Surgery

ऊपर बताया कि सभी ग्रेजुएशन कोर्स जो देश के सबसे ज्यादा पॉपुलर वेकेशन हुआ है। इनके अलावा अलग-अलग यूनिवर्सिटी के द्वारा कई तरह से अलग अलग कोर्स भी उपलब्ध कराए जाते हैं।

ग्रेजुएशन के लिए योग्यता (Graduation ke liye qualification in Hindi)

जो विद्यार्थी ग्रेजुएशन का डिग्री कोर्स लेना चाहता है उस विद्यार्थी को न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता के तौर पर 12वीं कक्षा पास करना बहुत ही जरूरी है। हालांकि कई कॉलेज और यूनिवर्सिटी के द्वारा 12वीं कक्षा के बाद ग्रेजुएशन की डिग्री के लिए एंट्रेंस एग्जाम या प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाता है। अतः ऐसे में आपको प्रवेश परीक्षा से भी गुजरना होता है।

अंडर ग्रेजुएशन कोर्स में प्रवेश करने के लिए स्टूडेंट को आईआईटी जी मैंस एग्जाम क्लियर करना होता है और दूसरी तरफ एमबीबीएस व बीडीएस जैसे ग्रेजुएशन कोर्स की डिग्री हासिल करने के लिए कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए आपको नीट का एग्जाम क्लियर करना होता है।

सामान्यत सभी कोर्स में विद्यार्थियों को एंट्रेंस एग्जाम में प्रवेश के लिए स्टेट लेवल के सभी यूनिवर्सिटी के द्वारा 12वीं कक्षा के नंबर के आधार पर ही एडमिशन दे दिया जाता है। लेकिन कई कॉलेज के द्वारा एंट्रेंस एग्जाम को भी आयोजित किया जाता है और उच्च लेवल डिग्रियां जैसे इंजीनियरिंग की डिग्री और डॉक्टर की डिग्री के लिए ऑल इंडिया लेवल पर होने वाले एंट्रेंस एग्जाम में भाग लेकर इसे फाइट करना होता है।

ग्रेजुएशन कैसे करें? (Graduation kaise kare in 2022)

ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स लेना कोई खास बात नहीं है। ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स लेना बिल्कुल आम बात हो गई है। 12वीं के पश्चात हर विद्यार्थी ग्रेजुएशन डिग्री लेने की इच्छा रखता है। यदि आप 12वीं कक्षा पास कर चुके हैं और आपको किसी भी कॉलेज या यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन डिग्री लेनी है, तो आप नीचे दिए गए निम्नलिखित चरण को फॉलो करें।

1. सबसे पहले आपको ग्रेजुएशन डिग्री के लिए टॉप कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए 12वीं कक्षा में अच्छे अंक लाने होंगे। 12वीं कक्षा में अच्छे अंक के बिना आपको टॉप यूनिवर्सिटी में एडमिशन नहीं मिलेगा।

2. यदि आप बी टेक डिग्री के लिए एंट्रेंस एग्जाम जी मैन फाइट करने के लिए तेरी कर रहे हैं, तो आपको यह एग्जाम फाइट करने के साथ-साथ 12वीं कक्षा में मैथ में 75% से ज्यादा अंक होने जरूरी है और जी मैन एग्जाम के मेरिट लिस्ट में आपका नाम आना जरूरी है।

3. इसी तरह से मेडिकल कॉलेज के लिए होने वाली एंट्रेंस एग्जाम बीच में भी विद्यार्थी का मेरिट लिस्ट में नाम आएगा। तो विद्यार्थी को डेंटल कॉलेज या एमबीबीएस की कॉलेज मिलती है।

4. अच्छे प्राइवेट कॉलेज में भी एडमिशन के लिए 80% से अधिक नंबर होना बेहतर जरूरी है।

5. हालांकि सामान्य डिग्रियां जैसे बैचलर ऑफ आर्ट्स, बैचलर ऑफ साइंस, बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी, बैचलर ऑफ कॉमर्स इन सभी के लिए 12वीं कक्षा पास करना ही काफी होता है। क्योंकि कई टॉप लेवल यूनिवर्सिटी में कुछ मार्क की जरूरत होती है। लेकिन अन्य यूनिवर्सिटी में आप बिना किसी अच्छे मार्क भी इन सभी डिग्री के लिए आवेदन लगा सकते हैं और कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं।

6. एडमिशन लेने के बाद आपको सभी सेमेस्टर में बेहतर तरीके से पढ़ाई करनी चाहिए सभी सेमेस्टर को अच्छी तरीके से पढ़ते हुए आगे बढ़ना है।

7. हर साल में 2 सेमेस्टर का आयोजन होता है। जितने साल का आपका ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स है। उस हिसाब से आपके सेमेस्टर भी विभाजित किए जाते हैं।

8. प्रत्येक सेमेस्टर को आपको बेहतर अंकों के साथ पास करते हुए अपने ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स को पूरा करना होगा।

ग्रेजुएशन करना क्यों जरूरी है

बारहवीं कक्षा के बाद विद्यार्थियों के लिए ग्रेजुएशन एकमात्र सबसे लोकप्रिय परी का बचता है। ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करके विद्यार्थी कई प्रकार की सरकारी नौकरी पाने के अवसर को बढ़ा सकता है। ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के पश्चात विद्यार्थी के पास अलग-अलग तरह की कई सरकारी नौकरी हासिल करने के अवसर मौजूद हो जाते हैं। ग्रेजुएशन करना क्यों जरूरी है। इसकी जानकारी नीचे कुछ इस प्रकार से दी गई हैः

  • ग्रेजुएशन करने से विद्यार्थी के ज्ञान में बढ़ोतरी होती है। क्योंकि यह बारहवीं कक्षा के बाद अगले लेवल का एक कोर्स है। जिसके पश्चात विद्यार्थी अपने विषय वर्ग में ज्ञान की और अधिक बढ़ोतरी कर सकता है।
  • ग्रेजुएशन डिग्री किसी भी क्षेत्र में काम करने के अवसर को बढ़ाने और नए रोजगार के अवसर उत्पन्न करने में मददगार है।
  • मास्टर डिग्री लेने के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता के तौर पर आपके पास ग्रेजुएशन की डिग्री होना जरूरी है।
  • ग्रेजुएशन की डिग्री सरकारी नौकरी के अवसर पर बढ़ा देती है।
  • ग्रेजुएशन करने के पश्चात आप बीएड की डिग्री करके टीचर बनने की योग्यता की श्रेणी में शामिल हो सकते हैं।

ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन में अंतर

ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन दोनों अलग-अलग प्रकार के डिग्री कोर्स है। ग्रेजुएशन जिसे अंडर ग्रेजुएशन के नाम से भी पहचाना जाता है और पोस्ट ग्रेजुएशन को मास्टर डिग्री के नाम से भी पहचाना जाता है। जब विद्यार्थी 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के पश्चात जो 3 वर्षीय से 5 वर्षीय बैचलर डिग्री कोर्स करता है, उसे ग्रेजुएशन कहते हैं और ग्रेजुएशन के पश्चात जो मास्टर डिग्री के तौर पर 2 वर्षीय कोर्स किया जाता है उसे पोस्ट ग्रेजुएशन कहा जाता है।

ग्रेजुएशन डिग्री जैसे बैचलर ऑफ आर्ट्स, बैचलर ऑफ साइंस, बैचलर ऑफ कॉमर्स इसी प्रकार से बहुत सारे बैचलर डिग्री कोर्स उपलब्ध है। पोस्ट ग्रेजुएशन में मास्टर ऑफ आर्टस्, मास्टर ऑफ साइंस, मास्टर ऑफ कॉमर्स इत्यादि को शामिल है।

निष्कर्ष

बैचलर की डिग्री को ग्रेजुएशन कहां जाता है। ग्रेजुएशन की डिग्री को अलग अलग नाम से भी पहचाना जाता है। हर विद्यार्थी 12वीं कक्षा पास करने के बाद उच्च शिक्षा के तौर पर ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करता है। ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करने के बाद विद्यार्थी के जीवन में सरकारी नौकरी पाने और रोजगार के नए अवसर उत्पन्न हो जाते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको ग्रेजुएशन क्या होता है और ग्रेजुएशन कैसे करें, इसके बारे में संपूर्ण जानकारी दी है। हमें पूरी उम्मीद है, कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी। यदि किसी व्यक्ति को हमारे इस आर्टिकल से जुड़ा हुआ कोई भी सवाल है, तो वह हमें कमेंट के माध्यम से बता सकता है।

Leave a Comment