WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

ग्राम पंचायत सचिव कैसे बने? | Gram Sachiv Kaise Bane in Hindi 2024

आज के समय में भी भारत की अधिक आबादी गांव में बसी हुई है। सभी गांव का विकास करने के लिए सरकार कई तरह के कदम भी उठाती है इसीलिए गांव में इन सभी कार्यों को पूरा करने के लिए ग्राम सचिव की नियुक्ति गांव में की जाती है। यह ग्राम सचिव ही गांव के विकास के लिए उत्तरदायी माने जाते हैं। सभी सरकारी योजनाओं को गांव तक पहुंचाने का काम ग्राम सचिव ही करते हैं।

इसके अलावा गांव से संबंधित जो भी कार्य होते हैं उन सभी से संबंधित जानकारी केवल ग्राम सचिव के पास ही होती है। परंतु आज के आर्टिकल में हम आपको इस बात की जानकारी देने जा रहे हैं कि Gram Sachiv Kaise bane, इसके लिए क्या योग्यता होती है। कितनी सैलरी दी जाती है। क्या-क्या काम किए जाते हैं। इत्यादि सभी की जानकारी देने जा रहे हैं तो पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए आर्टिकल में अंत तक बने रहे।

Contents hide

ग्राम सचिव कहते किसे हैं?

Gram Sachiv kaise bane

सबसे पहले तो हम बात करते हैं कि ग्राम सचिव किसे कहते हैं। जी हां, ग्राम सचिव किसी एक गांव का सेवक या सचिव होता है। यह ग्राम के विकास से जुड़े हुए सभी कार्यों को करता है। ग्राम सचिव की नियुक्ति सरकार के द्वारा की जाती है। इसके जरिए ही ग्राम पंचायत और सरकार के बीच की कड़ी जुड़ी हुई रहती है। जितने भी लोग गांव में निवास करते हैं वह अपनी समस्याओं का निवारण ग्राम पंचायत सचिव के पास जाकर ही करवाते हैं। इसी के साथ-साथ सरकारी योजनाओं को गांव तक पहुंचाने के लिए ग्राम सचिव का सहारा ही लिया जाता है, इसीलिए एक गांव में ग्राम सचिव बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होता है।

ग्राम पंचायत का सचिव कैसे बने? (Gram Panchayat Sachiv Kaise Bane)

अलग-अलग ग्राम पंचायत में ग्रामीण विकास विभाग सरकारी नियम के अनुसार अलग-अलग ग्राम सचिव की नियुक्ति की जाती है। ग्राम सचिव के खाली स्थानों को भरने के लिए ग्रामीण विकास के जरिए विज्ञापन जारी किया जाता है, जो व्यक्ति दिलचस्पी रखता है वह आवेदन कर सकता है और इसके लिए बताई गई चयन प्रक्रिया से भी गुजरना पड़ता है। जैसे कि

  • जब ग्रामीण विकास विभाग द्वारा नौकरी अधिसूचना जारी की जाती है तब ही इसके आवेदन किए जा सकते हैं।
  • आवेदन करने के बाद परीक्षा देनी अनिवार्य होती है और उसमे सफलता प्राप्त करना जरूरी होता है।
  • परीक्षा सफल करने के पश्चात ही आप का चुनाव किया जाता है।

ग्राम पंचायत सचिव की योग्यताएं (Gram Sachiv Eligibility in Hindi 2024)

ग्राम पंचायत सचिव बनने के लिए कुछ योग्यताएं जारी की गई है जिनका होना अनिवार्य होता है। जैसे कि-

  1. जो व्यक्ति आवेदक है उसकी इंटरमीडिएट उत्तीर्ण होनी अनिवार्य है।
  2. जो व्यक्ति आवेदन करना चाहता है उसने मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री प्राप्त की हो।
  3. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि स्नातक की डिग्री प्राप्त करने वाला ही व्यक्ति ग्राम सचिव के लिए आवेदन कर सकता है।
  4. ग्राम सचिव की नियुक्ति के लिए कम से कम आयु 18 वर्ष और अधिक से अधिक आयु 35 वर्ष होने अनिवार्य है।
  5. यह सभी योग्यताएं अगर किसी व्यक्ति में है तो वह ग्राम सचिव आवेदन की प्रक्रिया में भाग ले सकता है।

ग्राम सचिव के लिए परीक्षा और स्टेप्स

1. रोजगार समाचार तक जांच करें:- ग्राम सचिव के पद के लिए समय-समय पर रोजगार समाचार और सरकारी नौकरी वेबसाइट पर नियुक्ति विज्ञापन जारी किए जाते हैं। आपको रोजगार समाचार और सरकारी वेबसाइट पर नवीनतम अधिसूचना है देखते रहने की जरूरत है।

2. आवेदन पत्र भरे:- जब भी ग्राम सचिव की नियुक्ति के लिए विज्ञापन जारी होते हैं तब आपको नियुक्ति प्रक्रिया में शामिल होने के लिए इसका आवेदन पत्र भरना अनिवार्य होता है। आवेदन पत्र में आपको व्यक्तिगत जानकारी शैक्षिक योग्यताएं अनुभव इत्यादि का विवरण देना होता है।

3. परीक्षा उत्तीर्ण करें:- अगर आपने ग्राम सचिव के लिए आवेदन किया है तो इसके लिए आपको इसकी परीक्षा उत्तीर्ण करने अनिवार्य होती है। इसमें आपको दो पेपर देने होते हैं सबसे पहले इसमें लिखित परीक्षा जारी की जाती है।

लिखित परीक्षा का समय 2 घंटे का होता है। इसमें आपको 300 नंबर के 150 प्रश्न करने के लिए दिए जाते हैं। यह प्रश्न ऑब्जेक्टिव होते हैं। इसमें 1/2 नेगेटिव मार्किंग भी की जाती है। इस पेपर में अलग-अलग सब्जेक्ट के प्रश्न पूछे जाते हैं।

4. जनरल हिंदी:- इस पेपर में हिंदी से संबंधित प्रश्न किए जाते हैं इसमें वचन, संधि, समास, अलंकार, वाक्यांश के लिए एक शब्द निर्माण, पर्यावरण, तद्भव और तत्सम, लोकोक्तियां एवं मुहावरे, विलोम और अनेकार्थी शब्द से संबंधित प्रश्न होते हैं।
जनरल इंटेलिजेंस – इस प्रश्न पत्र में कोडिंग एवं डिकोडिंग, अर्थमैटिकल, नॉन वर्बल सीरीज, प्रॉब्लम सॉल्विंग, ब्लड रिलेशन, डाटा इंटरप्रिटेशन, स्टेटमेंट एंड ऑक्यूपेशन सिमिलरिटी एंड कॉन्क्लूज़न, नंबर सीरीज, सीटिंग अरेंजमेंट, क्वालिफिकेशन और क्लासेज से रिलेटेड प्रश्न पूछे जाते हैं।
जनरल नॉलेज – इसके बाद जीके से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं जैसे कि महत्वपूर्ण तिथियां, अंतरराष्ट्रीय मुद्दे, इतिहास, प्रसिद्ध स्थान, भूगोल, नए आविष्कार, संगीत और साहित्य वैज्ञानिक, अवलोकन खेल, ऐतिहासिक महत्व के पर्यटन स्थल, राजनीतिक विज्ञान, भारत के प्रसिद्ध स्थान, भारतीय संस्कृति, राष्ट्रीय नृत्य, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मामले, सामान्य विज्ञान, करंट अफेयर्स इत्यादि से संबंधित प्रश्न किए जाते हैं।

इसके बाद डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन

जब आप इस लिखित परीक्षा को उत्तीर्ण कर लेते हैं उसके बाद डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन किया जाता है और उसके लिए आपको बुलाया जाता है। इसमें आपको निम्नलिखित डॉक्यूमेंट दिखाने होते हैं:

  1. चार पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  2. 10वीं और 12वीं की मार्कशीट
  3. आधार कार्ड
  4. परीक्षा का एडमिट कार्ड
  5. स्नातक की डिग्री या मार्कशीट
  6. CCC सर्टिफिकेट
  7. जाति प्रमाण पत्र

अगला स्टेप इंटरव्यू

लिखित परीक्षा और डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन को जब पूरा कर लिया जाता है उसके बाद इंटरव्यू भी होता है और इस में भाग लेना अनिवार्य होता है। इंटरव्यू क्लियर करने के बाद ही आपको ट्रेनिंग के लिए आगे भेजा जाता है। इसमें लगभग 6 महीने की ट्रेनिंग दी जाती है। इस ट्रेनिंग को पूरा करने के बाद ही विद्यार्थी को जिले में ग्राम पंचायत सचिव के पद पर नौकरी प्राप्त होती है।

ग्राम सचिव परीक्षा का शुल्क

सभी राज्य अपने अपने हिसाब से इस परीक्षा के लिए फीस तय करते हैं इसीलिए इस राशि को पूरी तरह से बताना संभव नहीं है।

ग्राम सचिव के कार्य

  • गांव का विकास करने के लिए ग्राम सचिव की नियुक्ति की जाती है और वह उसका उत्तरदायी होता है।
  • ग्राम सचिव को गांव में हो रहे लिपकीय कार्य और पैसो का भी पूरा हिसाब रखना होता है।
  • सरकारी योजनाओं का प्रचार प्रसार करना और ग्रामीण तक सभी प्रकार की योजनाओं का पहुंचाना ग्राम सचिव का काम होता है।
  • ग्राम सचिव ही सरकार और गांव के बीच में एक अहम जुड़ी हुई कड़ी होती है।
  • ग्राम पंचायत के द्वारा पारित किए गए प्रस्ताव का रिकॉर्ड रखना और उसका क्रियान्वयन करना ग्राम सचिव का काम होता है।
  • ग्राम पंचायत सचिव को ग्राम सेवक भी कहा जाता है।

ग्राम सचिव की सैलरी

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ग्राम पंचायत के पद पर जिस व्यक्ति की नियुक्ति होती है उसे अच्छा खासा वेतन दिया जाता है। इसके जरिए वह अपने परिवार को ठीक तरह से चला सकता है। शुरुआती समय में 22000 से ₹28000 तक सैलरी दी जाती है। उसके बाद ग्राम सचिव की तनख्वाह ₹35000 से लेकर ₹40000 प्रति माह तक होती है।

ग्राम सचिव का प्रमोशन

अगर आप इस पद पर अपनी जिम्मेदारी को पूरी ईमानदारी से निभाते हैं और अच्छी तरह से काम करते हैं तो लगभग 8 से 10 साल के बाद आपका प्रमोशन सहायक विकास अधिकारी के पद पर कर दिया जाता है। इसी के साथ सहायक विकास अधिकारी के पद पर कुछ साल काम करने के बाद आपका प्रमोशन बड़े पद पर जिसे हम खंड विकास अधिकारी के नाम से जानते हैं, लेकिन इसके लिए आपको मेहनत ईमानदारी के साथ अपने काम को करने की जरूरत होती है।

यह भी देखें:-

MLC क्या होता है कैसे बने?

सरपंच कैसे बने पूरी जानकारी?

पटवारी कैसे बनते हैं संपूर्ण जानकारी?

Online पैसा कमाने के 10 आसान तरीका

FAQ: (ग्राम पंचायत सचिव से जुड़े सवाल जवाब)

ग्राम पंचायत सचिव को कौन-कौन से नामों से जाना जाता है?

ग्राम विकास अधिकारी, पंचायत सेवक और ग्राम सेवक।

ग्राम पंचायत सचिव बनने के लिए क्या आयु सीमा निर्धारित की गई है?

न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम आयु 35 वर्ष।

ग्राम पंचायत सचिव बनने के लिए शैक्षिक योग्यता क्या होनी चाहिए?

दसवीं और बारहवीं उत्तीर्ण होनी चाहिए। इसी के साथ स्नातक की डिग्री और CCC सर्टिफिकेट होना अनिवार्य है।

ग्राम पंचायत सचिव की सैलरी कितनी होती है?

शुरुआती समय में 22000 से 30000 तक इसके बाद 35000 से 40000 तक हो जाती है।

ग्राम पंचायत सचिव कौन होते हैं?

ग्राम पंचायत सचिव गांव का एक जिम्मेदार व्यक्ति होता है जिसे ग्रामसेवक भी कहा जाता है, जो गांव से संबंधित सभी कार्यों पर ध्यान देता है।

ग्राम सचिव का क्या काम होता है?

यह ग्राम सचिव गांव से संबंधित सभी कार्यों को करता है और सरकारी योजनाओं को गांव तक लाने का काम करता है जैसे कि विधवा पेंशन, सड़के बनवाना, राशन कार्ड, पानी की व्यवस्था करना इत्यादि।

निष्कर्ष

दोस्तों आज के इस पोस्ट में हमने आपको इस बात की जानकारी दी है कि ग्राम पंचायत सचिव कैसे बने? इसके बारे में संपूर्ण जानकारी दी गई है। इसी के साथ ग्राम पंचायत सचिव कौन होते हैं? ग्राम सचिव का क्या काम होता है, इसके लिए क्या योग्यता होती है, प्रमोशन कैसे होता है, सिलेक्शन प्रोसेस, सैलेरी इन सभी के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई है।

उम्मीद करते हैं आपको हमारी जानकारी पसंद आई होगी। अगर आप भी ग्राम सचिव के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो अपने राज्य से जुड़े हुए सभी प्रक्रिया को जान ले उसके बाद आवेदन करें।