WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

ITI Kya Hai: आईटीआई कोर्स की सम्पूर्ण जानकारी | IIT Full Form in Hindi 2024

वर्तमान समय में आपने IIT (आईआईटी) का नाम तो सुना ही होगा। विशेष रूप से स्टूडेंट्स और अध्यापकों द्वारा आईआईटी नाम काफी लिया जाता है। लेकिन क्या आपको पता है कि आईआईटी क्या है? आईआईटी करने से क्या होता है? और अगर आप आईआईटी करना चाहते हैं, तो आईआईटी कैसे करेंगे? यह सब कुछ जानेंगे हम आज के इस आर्टिकल में। जिसके बाद आपको पता चल जाएगा कि आईआईटी क्या होता है और आईआईटी कैसे करते हैं? बता देते हैं कि IIT वह जगह होती है जहां पर दसवीं और 12वीं कक्षा पास करने के बाद विद्यार्थी जाना चाहते हैं इसमें साइंस स्ट्रीम से पढ़ रहे विद्यार्थी आईआईटी करते हैं।

जानकारी के अभाव के कारण साइंस स्ट्रीम के विद्यार्थियों को पता ही नहीं है कि दसवीं और बारहवीं कक्षा के बाद IIT जैसे संस्थानों में जाना चाहिए, क्योंकि उन्हें आईआईटी जैसे संस्थान के बारे में कोई जानकारी ही नहीं है। जानकारी के अभाव के कारण वर्तमान समय में भारत में लोग बिना आवश्यकता वाले अनेक सारे कोर्स करके अपना समय और पैसे दोनों व्यतीत करते हैं, जबकि IIT जैसे संस्थानों में जाते ही नहीं क्योंकि उन्हें इस बारे में जानकारी ही नहीं है। तो आज के इस आर्टिकल में हम आपको आईआईटी के बारे में बताएंगे, जिसके बाद आपको पता चल जाएगा कि आईआईटी जाने वाले विद्यार्थियों में और दूसरे विद्यार्थियों में आगे चलकर क्या अंतर देखने को मिलता है और आईआईटी आपके लिए किस तरह से बेहतरीन साबित हो सकता है।

ITI Kya Hai? (What is IIT in Hindi) —

ITI Kya Hai

सबसे पहले जानते हैं कि आईआईटी का फुल फॉर्म क्या होता है। IIT ka full form Indian Institute of Technology है, और IIT full form in Hindi “भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान” होता हैं। अब आप यह समझ चुके हैं कि इस संस्थान में प्रौद्योगिकी यानी टेक्नोलॉजी से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराई जाती है। टेक्नोलॉजी से संबंधित कोर्स करवाए जाते हैं, जिससे आगे चलकर हम टेक्नोलॉजी के जगत में काम करके अच्छी कमाई कर सकते हैं और बेहतर जीवन की कल्पना कर सकते हैं। बता देते हैं कि आप बिल्कुल सही सोच रहे हैं। वर्तमान समय की टेक्नोलॉजी को विभिन्न प्रकार के कोर्स के रूप में विद्यार्थियों को आईआईटी संस्थानों में पढ़ाया जाता है।

भारतीय टेक्नोलॉजी इंस्टिट्यूट स्टूडेंट को हाई क्वालिटी शिक्षा प्रदान करता है, जिसके बाद विद्यार्थी ना केवल भारत बल्कि दुनियाभर के प्रतिष्ठित संस्थानों पर कार्य कर सकता है, रिसर्च कर सकता है, टेक्नोलॉजिस्ट बन सकता है, वैज्ञानिक बन सकता है, इंजीनियर बन सकता है और अपने अनुसार कोई नया काम भी शुरू कर सकता है। आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि भारत का पहला IIT संस्थान खड़कपुर में था, जिसे भारत सरकार ने 1951 में स्थापित किया था। वही हम वर्तमान समय की बात करें, तो आज के समय में भारत में कुल 23 आईआईटी संस्थान है, जो देश के अलग-अलग राज्यों के अलग अलग शहरों में स्थित है और देश भर के लाखों विद्यार्थी इन संस्थाओं से स्टडी करते हैं।

बता देते हैं कि IIT करने के बाद देश ही नहीं बल्कि दुनिया भर की बड़ी-बड़ी कंपनियों में आसानी से नौकरी लग जाती है, जिसका कारण है कि आईआईटी के तहत आपको वर्तमान समय की टेक्नोलॉजी से रूबरू कराया जाता है, जिसके बाद आप दुनिया भर की बड़ी-बड़ी मल्टीलेवल टेक्नोलॉजी कंपनियों में उच्च स्तरीय पदों पर कार्य कर सकते हैं और एक बेहतरीन करियर का चयन कर पाते हैं। अक्सर आपने देखा होगा कि आईआईटी करने के बाद लोग गूगल, फेसबुक और माइक्रोसॉफ्ट जैसी बड़ी बड़ी विदेशी कंपनियों में नौकरी करने के लिए जाते हैं। जहां पर उन्हें लाखों रुपए की सैलरी मिलती है।

आईआईटी कैसे करते हैं? —

अब तक IIT के बारे में जानकर आप भी आईआईटी करने का मन बना चुके हैं, तो हम आपको बता देते हैं कि आईआईटी करने के लिए आपको पहले 12वीं कक्षा पास करनी होगी। साइंस स्ट्रीम से 12वीं कक्षा पास करने के बाद दो प्रकार के एंट्रेंस एग्जाम पास करने होते हैं। उसके बाद आईआईटी संस्थानों में आवेदन स्वीकार किया जाता है। बता देते हैं कि इन संस्थाओं में होने वाले एग्जाम को दुनिया के one of the toughest exam भी कहा जाता है।

आईआईटी करने की प्रक्रिया (IIT Me Admission Kaise Le) —

  • IIT करने के लिए कॉलेज में एडमिशन हेतु सबसे पहले jee main क्लियर करना होता है।
  • jee main क्लियर करने वाले मुख्य 2.5 लाख विद्यार्थियों आईआईटी के लिए एडमिशन हेतु jee advanced परीक्षा देते है।
  • इस परीक्षा को पास करने वाले टॉप 100000 विद्यार्थीयों कोही आईआईटी संस्थान में एडमिशन मिलता है
  • आईआईटी कॉलेज में अलग-अलग कोर्स होते है जिन्हें ‘branches’ कहते है।
  • आईआईटी संस्थानों में, सिविल इंजीनियरिंग, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग, मेकैनिकल, कंप्युटर साइंस ब्रांच इत्यादि कोर्स होते हैं।
  • यह सभी कोर्स स्टूडेंट की रैंक के अनुसार उपलब्ध कराए जाते हैं। निम्न रैंक वाले स्टूडेंट को सिविल और केमिकल जैसी ब्रांच में पढ़ना होता है।
  • आईआईटी संस्थान में विद्यार्थी भी ब्रांच का सिलेक्शन कर सकता है। लेकिन कंप्यूटर साइंस जैसे ब्रांच में एडमिशन लेने के लिए बहुत अच्छे अंक प्राप्त करना अनिवार्य है।
अवश्य देखें:- Gate एग्जाम के बिना IIT में एडमिशन लेने का मौका

Jee mains क्या है —

अभी हमने Jee mains के बारे में बात की है तो बता देते हैं कि JEE का फुल फॉर्म Joint Entrance Exam है। तथा JEE Mains नेशनल लेवल का एंट्रेंस एग्जाम है जो NIT, आईआईआईटी और सीएफटीआई कॉलेजों में अंडर ग्रेजुएशन इंजीनियरिंग कोर्सेज में एडमिशन के लिए आवश्यक निर्धारित किए गए हैं। इस परीक्षा को पास करने के बाद ही इन सभी महत्वपूर्ण संस्थानों में एडमिशन मिलता है।

Jee mains परीक्षा का आयोजन NTA  यानी National Testing Agency द्वारा करवाया जाता है। इस परीक्षा में 13 भारतीय भाषाओं को सम्मिलित किया गया है, जो English, Hindi, Assamese, Bengali, Gujarati, Kannada, Marathi, Malayalam, Odia, Punjabi, Tamil, Telugu एवं Urdu है। आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि JEE Main Exam पास करने के बाद jee advance exam को क्लियर करना पड़ता है। उसके बाद ही रैंकिंग के आधार पर आईआईटी संस्थानों में एडमिशन दिया जाता है।

आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि JEE Mains के दो पेपर होते है। पहला पेपर बीटेक (B.Tech) में एडमिशन के लिए और दूसरा B.Arch एडमिशन के लिए। ज्यादातर विद्यार्थियों द्वारा B.Tech करने के लिए ही JEE Mains का एग्जाम दिया जाता है बता देते हैं कि कुछ राज्यों में स्टेट इंजीनियरिंग कॉलेज में भी एडमिशन के लिए JEE Main एग्जाम का पास करना जरूरी है लेकिन यह सभी राज्यों के लिए नहीं है।

Jee advanced क्या है —

हाल ही में इस्तेमाल हुए Jee advanced के बारे में जान लेते हैं क्योंकि इस एग्जाम को पास करने के बाद ही आईआईटी में एडमिशन मिलता है बता देते हैं कि Jee advanced आईआईटी संस्थान में आवेदन पाने के लिए निर्धारित की गई दूसरी मुख्य प्रवेश परीक्षा है, जिसे पास करना अनिवार्य है। इस परीक्षा को पास किए बिना IIT संस्थान में आवेदन नहीं मिलता है। हर वर्ष विभाग द्वारा इस परीक्षा का आयोजन करवाया जाता है। जिसमें देशभर के लाखों विद्यार्थियों द्वारा हिस्सा लिया जाता है। लेकिन उनमें से कुछ ही विद्यार्थी इस परीक्षा को सफल कर पाते हैं और आईआईटी संस्थान में प्रवेश कर पाते हैं।

इस परीक्षा का आयोजन हर साल आईआईटी संस्थान खड़गपुर, आईआईटी कानपुर, आईआईटी मद्रास, आईआईटी दिल्ली, आईआईटी बॉम्बे, आईआईटी गुवाहाटी और भारतीय विज्ञान संस्थान बैंगलोर में प्रवेश के लिए करवाया जाता है इस परीक्षा की निगरानी Joint Admission Board (JAB) द्वारा की जाती है। Jee-advanced exam में भाग लेने के लिए छात्रों को पहले jee mains exam को पास करना जरूरी होता है। JEE Mains के टॉप ढाई लाख बच्चों को JEE Advanced एग्जाम के लिए योग्य घोषित किया जाता है।

IIT करने के लिए योग्यता —

अब तक आप समझ चुके हैं कि आईआईटी संस्थान जाने के लिए आपको क्या-क्या करना होता है और यह भी समझ चुके हैं कि आईआईटी संस्थान कितने महत्वपूर्ण है। यहां पर हर किसी के जाने का सवाल ही पैदा नहीं होता तो यहां पर जाने के लिए कुछ योग्यता निर्धारित की गई है जिसका होना आवश्यक है —

  • IIT करने के लिए विद्यार्थी को विज्ञान वर्ग से 12वीं कक्षा पास करने जरूरी है।
  • 12वीं कक्षा में गणित और फिजिक्स का होना अनिवार्य है।
  • 12वीं कक्षा में तीसरे सब्जेक्ट के अंतर्गत केमिस्ट्री या बायो टेक्नोलॉजी विषय का होना आवश्यक है।
  • आईआईटी जाने के लिए विद्यार्थी को 12वीं कक्षा में 75% अंक हासिल करने होंगे।
  • SC, ST, PWD की श्रेणी में आने वाले विद्यार्थियों के लिए 65% का प्रावधान है।
  • इन सबके अलावा सभी स्टूडेंट्स को टॉप 20% स्टूडेंट्स में भी होना जरूरी है।

IIT Exam Pattern in Hindi 2024—

इस परीक्षा को बहुत कठिन परीक्षा माना जाता है। इसीलिए इस परीक्षा को पास करने के लिए आपको इसका एग्जाम पैटर्न भी जान लेना चाहिए ताकि परीक्षा को आसानी से पास की जा सके —

B.Tech / B.E. के लिए फिजिक्स केमिस्ट्री एवं मैथ विषय निर्धारित किए गए हैं, इसमें कुल 75 प्रश्न आते हैं। प्रत्येक विषय में 25 प्रश्न होते हैं। यह परीक्षा कुल 3 घंटों के लिए आयोजित करवाई जाती है यह परीक्षा कंप्यूटर के माध्यम से ली जाती है। इस परीक्षा के लिए 300 अंक निर्धारित किए जाते हैं।

B.Arch के लिए Maths, Aptitude Test & Drawing Test विषय को शामिल किया गया है। यह परीक्षा 77 प्रश्नों की होती है। 3 घंटे की परीक्षा 400 अंकों के लिए आयोजित करवाई जाती है परीक्षा का बोर्ड कंप्यूटर है। लेकिन ड्राइंग के लिए पेन और पेपर की आवश्यकता होती है।

B Planing के लिए Maths, Aptitude Test, & Planning विषय को शामिल किया गया है इस परीक्षा में 100 प्रश्न आते हैं। यह परीक्षा 3 घंटों की होती है। यह परीक्षा 400 अंकों के लिए होती है इस परीक्षा का माध्यम कंप्यूटर है।

आईआईटी की फीस कितनी है? (IIT Fee Structure in Hindi 2024) —

IIT यानी इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में जाने के लिए उम्मीदवारों को इसके फीस के बारे में भी जान लेना चाहिए। बता देते हैं कि आईआईटी करने के लिए कोई भी फीस निर्धारित की गई फिक्स नहीं है। आईआईटी की फीस अलग-अलग संस्थानों पर निर्भर करती है। इसके अलावा अलग-अलग ब्रांच के आधार पर भी फीस अलग-अलग होती है। लेकिन सामान्य तौर पर बात की जाए तो बीटेक के लिए आईआईटी की फीस हर साल लगभग दो लाख से लेकर ढाई लाख रुपए होती है, जो 4 साल में 800000 से लेकर ₹1000000 हो जाती है, जबकि SC, ST & PH students के लिए आईआईटी कॉलेज की फीस कम होती है। इन विद्यार्थियों के लिए 4 सालों की कुल फीस 2-4 लाख होती है।

भारत में कितने आईआईटी कॉलेज है? (IIT Colleges in India)—

आईआईटी यानी इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के भारत में कुल 23 संस्थान है, जो भारत के अलग-अलग राज्यों के अलग-अलग शहरों में है। आप अपनी रुचि के आधार पर या अपने नजदीकी एटीट्यूट से आईआईटी कर सकते हैं। भारत के कुल 23 आईआईटी कॉलेज के नाम इस प्रकार हैं —

  1. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, खड़गपुर
  2. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मुंबई
  3. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, गांधीनगर
  4. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, जोधपुर
  5. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, पटना
  6. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, हैदराबाद
  7. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, गोवा
  8. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, मंडी
  9. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, जम्मू
  10. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, पलक्कड़
  11. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, इंदौर
  12. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, दिल्ली
  13. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, कानपुर
  14. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, मद्रास
  15. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, धनबाद
  16. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, रोपड़
  17. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, भिलाई
  18. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, धारवाड़
  19. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, रुड़की
  20. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, गुवाहाटी
  21. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, भुवनेश्वर
  22. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, वाराणसी
  23. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, तिरुपति

आईआईटी करने के फायदे –

अगर आप IIT करने के फायदे जानना चाहते हैं, तो हम आपको बता देते हैं कि आईआईटी करने से आपको वर्तमान समय के टेक्नोलॉजी का ज्ञान हो जाता है जिसके बाद आप दूसरे लोगों की तुलना में काफी बुद्धिमान हो जाते हैं और आपको सामान्य व्यक्ति की तुलना में कहीं गुना अधिक सैलरी मिलती है। आप अपना खुद का बिजनेस भी शुरू कर सकते हैं और टेक्नोलॉजी जगत में कुछ नया काम भी कर सकते हैं। आईआईटी करने से आपको हाई क्वालिटी की एजुकेशन मिलती है। इसमें विभिन्न प्रकार के हाई क्वालिटी के कोर्स को शामिल किया गया है।

बता देते हैं कि देश के सभी IIT कॉलेज में बेहतरीन प्रोफेसर द्वारा पढ़ाया जाता है, जो अपने अपने क्षेत्र में जाने जाते हैं। आईआईटी पढ़ने के बाद विद्यार्थी देश के सबसे बुद्धिमान लोगों की सूची में शामिल हो जाते हैं। फाइनेंशली रूप से वे काफी मजबूत हो जाते हैं और स्कॉलरशिप प्राप्त करके इंटरशिप के लिए दुनिया की जानी-मानी यूनिवर्सिटीज में भी जाने का अवसर पा लेते हैं। यहां पर पढ़ाई के अलावा दूसरी अतिरिक्त गतिविधियां भी खूब होती है जिसकी वजह से यहां पर हर कोई जाना चाहता है।

People Also Read:-

भारत में सर्वश्रेष्ठ NIT कॉलेज कौनसे हैं?

Conclusion

आईआईटी का नाम तो आपने जरूर सुना ही होगा। IIT यानी इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, जिसे हिंदी में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कहते हैं। यहां पर वर्तमान समय की विभिन्न प्रकार की टेक्नोलॉजी के बारे में जानकारी दी जाती है। विभिन्न प्रकार के निर्धारित कोर्स करने के बाद विद्यार्थी देश और दुनिया भर की मल्टीलेवल और मल्टीनेशनल तथा बड़ी-बड़ी टेक्नोलॉजी कंपनियों में उच्च स्तर पर जॉब कर सकता है और यहां पर लाखों रुपए सैलरी के रूप में मिलते हैं। इसके अलावा फाइनेंशियल रूप से भी व्यक्ति मजबूत हो जाता है और दूसरों की तुलना में काफी समझदार भी हो जाते हैं। इसीलिए आज के समय में अधिकांश विद्यार्थी आईआईटी जाना चाहते हैं जबकि अनेक सारे विद्यार्थियों को तो इस विषय में कोई जानकारी ही नहीं है। इसीलिए आपको यह आर्टिकल अंत तक पढ़ना चाहिए ताकि आपको आईआईटी के बारे में पूरी जानकारी पता चल सकें।