IRDA में जॉब कैसे पाए? 2022 में IRDA full form से Salary तक पूरी जानकारी

IRDA भारत सरकार द्वारा निर्मित की गई एक ऐसी संस्था है, जो भारतीय बाजार में चल रही बीमा कंपनियों का निर्वहन करती है। आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि वर्तमान समय में भारत का बीमा बाजार बहुत बड़ा हो चुका है। इसीलिए इसको रेगुलेट करने हेतु भारत सरकार द्वारा एक अलग से संस्था का निर्माण किया गया है, जिस तरह से भारत में Banking Sector को भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा निर्धारित किया जाता है, ठीक उसी प्रकार भारत के बीमा बाजार को IRDA द्वारा निर्धारित किया जा रहा है। यह संस्था लोगों के हितों की रक्षा करता है। इसीलिए इस संस्था के बारे में हमें विशेष तथा महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होनी आवश्यक है।

जीवन बीमा, स्वास्थ्य बीमा, वाहन बीमा, दुर्घटना बीमा इत्यादि विभिन्न प्रकार के Insurance के नाम तो आपने अवश्य सुने ही होंगे। आपके घर में भी किसी ना किसी सदस्य ने अपना जीवन बीमा (Life Insurance) अवश्य करवाया होगा, या फिर आपके घर में गाड़ी है तो उसका भी बीमा अवश्य होगा क्योंकि मोटर वाहन अधिनियम के तहत प्रत्येक गाड़ी का बीमा होना आवश्यक है। बीमा करवाने के बाद किसी भी दुर्घटना में हुए नुकसान की भरपाई बीमा कंपनी द्वारा नियम और शर्तों तथा निर्धारित किए गए समय सीमा के दौरान की जाती है। इसीलिए वर्तमान समय में अधिकांश लोग तरह-तरह के insurance खरीदते हैं, जिसकी वजह से वर्तमान समय में बीमा बाजार बहुत बड़ा हो चुका है।

इस संस्था के अंतर्गत कार्य करने वाले अधिकारियों को अच्छी सैलरी दी जाती है तथा विभिन्न प्रकार की सुविधाएं सरकार द्वारा उपलब्ध कराई जाती है। इसीलिए आज के समय में अधिकांश युवा IRDA Agency के अंतर्गत कार्य करना चाहते हैं। यहां पर job करना चाहते हैं। लेकिन उन्हें पता नहीं होता है कि इस संस्था का मुख्य काम क्या है? तथा यहां पर क्या काम करना होता है? कितनी सैलरी दी जाती है और यहां पर नौकरी कैसे पाते हैं। तो आज के इस आर्टिकल में हम आपको भारत सरकार द्वारा बनाई गई बीमा सेक्टर को निर्धारित करने के लिए IRDA संस्था के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से प्रदान करने वाले हैं। तो चलिए शुरू करते हैं —

IRDA क्या है? (IRDA full form in Hindi)

IRDA full form

IRDA भारत सरकार की एक संस्था है, जो भारतीय बीमा बाजार को ऑपरेट करती है। IRDA full form “insurance regulatory and development authority of India” (इन्शुरन्स रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया) होता है। इसे हिंदी में भारतीय बीमा विनियामक एवं विकास प्राधिकरण कहा जाता है। इस संस्था का मुख्य कार्य लोगों के हितों की रक्षा करना होता है क्योंकि भारतीय बीमा बाजार बड़ा होने की वजह से इस बात का पता नहीं चलता है कि कौन सी कंपनी सही है और कौन सी कंपनी fraud है। इसके अलावा कौन सी कंपनी लोगों के साथ कैसा व्यवहार करती है, या लोगों के साथ ठगी करती है। इत्यादि सभी जानकारी को ऑपरेट करने के लिए इस संस्था का निर्माण किया गया है।

यहां संस्था भारत के बीमा उद्योगों को कंट्रोल में रहता है और उस पर पूरी तरह से निगरानी रखता है। भारत में बीमा से संबंधित होने वाली गतिविधियां इस संस्था के अंतर्गत होती है, जिससे कोई भी लोग बिमा के नाम पर ठगी का शिकार नहीं होता है और कोई भी कंपनी लोगों से पैसे लेकर फरार नहीं हो सकती क्योंकि यह संस्था ही निर्धारित करती है कि कौन सी कंपनी भारत में बीमा बेच सकती है। इस संस्था की स्थापना सन 1999 में की गई। इस प्राधिकरण का मुख्यालय भारत के हैदराबाद के तेलंगाना में है। यह संस्था इस बात पर भी नजर रखती है कि किस कंपनी के पास लोगों से लिया हुआ कितना पैसा है और उन्हें वापस लौट आने का पूरा पैसा जमा है या नहीं!

IRDA की संरचना —

अगर आप इस संस्था के अंतर्गत नौकरी करना चाहते हैं, तो इसके सरचना को समझ लीजिए क्योंकि इस इस रचना के आधार पर नौकरी प्रदान की जाती है। आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि आईआरडीए के अंतर्गत 10 लोगों का एक संगठन बना हुआ होता है, जिनमें से एक व्यक्ति अध्यक्ष होता है अध्यक्ष का कार्यकाल केवल 5 वर्ष का होता है। कोई भी व्यक्ति अधिकतम 60 वर्ष की आयु सीमा के अंतर्गत इस संस्था का अध्यक्ष बन सकता है।

इस संस्था के अंतर्गत पांच व्यक्ति पूर्णकालिक सदस्य होते हैं। इन 5 लोगों का कार्यकाल भी 5 वर्ष का होता है। यह व्यक्ति 62 वर्ष की अधिकतम आयु सीमा के साथ नियुक्त हो सकते हैं। अब इस संस्था के अंतर्गत बाकी बचे हुए 4 सदस्य अंशकालीन सदस्य कहलाते हैं इनके कार्यकाल की अवधि भी 5 वर्ष तक की ही होती है। आपकी जानकारी के लिए बता देता है कि अगर आप इस संस्था के अंतर्गत नौकरी करना चाहते हैं, तो यहां के सभी सदस्य और अध्यक्ष की नियुक्ति भारत सरकार द्वारा ही की जाती है। इसीलिए इतनी छोटी सी टीम के अंतर्गत भारत सरकार द्वारा नियुक्ति पाना कोई आसान काम नहीं है।

IRDA के कार्य —

IRDA (Insurance Regulatory and Development Authority of India) का मुख्य कार्य बीमा उद्योग से संबंधित सभी प्रकार की गतिविधियों पर कड़ी निगरानी रखना है। यह संस्था पॉलिसी धारकों के हितों की रक्षा करता है तथा बीमा बाजार और ग्राहकों के बीच निष्पक्ष व्यवहार को बढ़ावा देता है। यह संस्था बिना किसी विवाद के तेजी से समस्या का समाधान करती है और मापदंडों के अनुसार ग्राहक और बीमा कंपनी के बीच तालमेल को कायम करती है। यह संस्था पॉलिसी धारक के अधिकारों को सुनिश्चित करती है तथा बीमा उद्योग को बढ़ावा देने का कार्य भी करती है।

वर्तमान समय में प्रत्येक सेक्टर में तरह-तरह के फ्रॉड हो रहे हैं। तरह-तरह की फर्जी कंपनियां विकसित हो रही है। ऐसी स्थिति में लोगों को फ्रॉड का शिकार नहीं बनने देने के लिए भारत सरकार ने इस संस्था का आयोजन किया है। यह संस्था सुनिश्चित करती है कि कौन सी कंपनी भारत में बीमा भेज सकती है और किस प्रकार का बीमा बेचा जा सकता है न। बीमा की धनराशि की सीमा भी यही संस्था तय करती है न। वर्तमान समय में भारत का बीमा उद्योग बहुत बड़े पैमाने पर फैला रहा है। इसलिए यह संस्था बीमा उद्योग से संबंधित हर तरह की गतिविधि पर निगरानी रखता है। यह एजेंसी बीमा धारक का सहयोग करता है और बीमा उद्योग को बढ़ावा देता है।

IRDA में नौकरी कैसे पाएं? (How to get IRDA job in Hindi 2022)

बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण के तहत नौकरी करने के लिए आपको इस संस्था द्वारा आयोजित परीक्षा को पास करना होगा। इस परीक्षा के लिए Eligibility Syllabus and Exam Pattern 2022 निर्धारित किया गया है। इसके अनुसार आप नौकरी की तैयारी कर सकते हैं और परीक्षा में पास होने के बाद भारत सरकार द्वारा इस संस्था के अंतर्गत नियुक्ति भी पा सकते हैं यह कोई बहुत बड़ी संस्था नहीं है। इसलिए यहां पर अधिक पदों की आवश्यकता नहीं होती है। आमतौर पर प्रत्येक 4 या 5 वर्ष के बाद इस संस्था के अंतर्गत आवश्यकता के अनुसार भर्ती का आयोजन करवाया जाता है।

IRDA में हर वर्ष के आधार पर परीक्षा का आयोजन नहीं करवाया जाता है क्योंकि जब इस संस्था के अंतर्गत प्रति की आवश्यकता होती है, तभी परीक्षा का आयोजन करवाया जाता है। जिन जिन पदों पर भर्ती का आयोजन कराया जाता है उन पदों के नाम इस प्रकार है — सहायक प्रबंधक, प्रबंधक ग्रेड बी, सहायक महाप्रबंधक ग्रेड सी, उप महाप्रबंधक ग्रेड डी, महाप्रबंधक ग्रेड ई इत्यादि 5 पदों पर आयोजन करवाया जाता है।‌ इस संस्था के अंतर्गत नौकरी पाने के लिए न्यूनतम आयु 45 वर्ष निर्धारित की गई है। अधिकतम 60 वर्ष से लेकर 62 वर्ष की आयु सीमा निर्धारित की गई है।

इस संस्था के अंतर्गत नौकरी करने के लिए आवेदक के पास कम से कम स्नातक की डिग्री होनी चाहिए। इस डिग्री के तहत आपको कम से कम 60% अंक हासिल करने होंगे। तभी आप यहां पर आवेदन करने के योग्य माने जाएंगे। इस संस्था के अंतर्गत सहायक प्रबंधक पद के लिए उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 21 वर्ष निर्धारित की गई है तथा अधिकतम आयु सीमा 30 वर्ष है कुछ श्रेणियों से संबंधित उम्मीदवार को आयु सीमा में छूट प्रदान की जाती है। आरक्षित वर्ग के लोगों को अधिकतम 10 वर्ष तक की आयु सीमा में छूट प्रदान की जाती है।

IRDA (आईआरडीए) परीक्षा Pattern in Hindi 2022

इस संस्था के अंतर्गत नौकरी करने के लिए आयोजित की जाने वाली परीक्षा का पैटर्न निर्धारित किया गया है। इस परीक्षा को 3 चरणों में आयोजित करवाया जाता है 3 चरणों में कोई भी परीक्षार्थी सफल होता है, तो उसे बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण भारतीय संस्था में नौकरी प्रदान की जाती है। इस संस्था के अंतर्गत निर्धारित किया गया Exam Pattern एवं चयन प्रक्रिया इस प्रकार है —

प्रारंभिक परीक्षा (Pre Exam) —

इस संस्था के अंतर्गत भर्ती का आयोजन तीन चरणों में संपन्न होता है। प्रथम चरण की परीक्षा को प्रारंभिक परीक्षा कहा जाता है। इस परीक्षा के अंतर्गत कुल 90 मिनट में 160 अंकों के प्रश्न पूछे जाते हैं, जिसमें सामान्य ज्ञान, जागरूकता, अंग्रेजी, भाषा विचार तथा मात्रात्मक रुझान इत्यादि विषय शामिल है। इस प्रश्न पत्र के अंतर्गत प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1/4 अंक कट कर दिए जाते हैं।

मुख्य परीक्षा (Mains Exam) —

इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अंतर्गत नौकरी करने के लिए आयोजित परीक्षा का दूसरा चरण मुख्य परीक्षा कहलाता है। इस परीक्षा के अंतर्गत कौन 3 घंटे में 300 अंको के विभिन्न प्रकार के विषय से संबंधित प्रश्नों के उत्तर देने होते हैं। इस परीक्षा में मुख्य रूप से आर्थिक व सामाजिक मुद्दे तथा सामान्य ज्ञान से संबंधित विभिन्न प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं।

साक्षात्कार परिक्षा (Interview) —

जब आप प्रथम चरण की प्रारंभिक परीक्षा तथा द्वितीय चरण की मुख्य परीक्षा सफलतापूर्वक पास कर लेते हैं, तब आपको तृतीय चरण की परीक्षा साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है। यानी कि आखिरी चरण में आपको इंटरव्यू देना होता है। यहां पर आपके ज्ञान और सूझबूझ को परखा जाता है। प्रथम चरण की परीक्षा और द्वितीय चरण की परीक्षा के कुल अंकों को इंटरव्यू के अंतर्गत जोड़कर शॉर्टलिस्ट लिस्ट तैयार की जाती है।

आईआरडीए परीक्षा पाठ्यक्रम (IRDA Syllabus in Hindi 2022)

इस संस्था के अंतर्गत विभिन्न प्रकार के पदों पर नियुक्तियों के लिए भर्ती का आयोजन किया जाता है। इस आयोजन के अंतर्गत परीक्षाएं आयोजित की जाती है। यह परीक्षा 3 चरणों में संपन्न होती है इस परीक्षण के अंतर्गत विभिन्न प्रकार के भागों से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं तथा कुछ सामान्य पाठ्यक्रम को भी शामिल किया गया है। सामान्य ज्ञान से संबंधित विषयों के आधार पर आईआरडीए परीक्षा का पाठ्यक्रम इस प्रकार है —

शब्दावली, पूर्वसर्ग, एरर स्पॉटिंग, मतभेद, मौखिक, आंकड़ा वर्गीकरण, समानताएं, भेदभाव, समानार्थी शब्द, हिंदी व्याकरण, समझ, वर्तनी, विलोम शब्द, काल नियम, अंकगणितीय तर्क, निर्णय लेना, अंकगणितीय संख्या श्रृंखला,‌ समस्या को सुलझाना, अवधारणाएं, अवलोकन, अंतरिक्ष दृश्य, दृश्य स्मृति, विश्लेषण और निर्णय, सादृश्य, क्षेत्रमिति, शंकु, गोला, समय और दूरी, सरलीकरण, महत्वपूर्ण दिन, किताबें और लेखक, वर्तमान घटनाएं, विज्ञान, आविष्कार और खोजें, भारतीय वित्तीय प्रणाली, प्रमुख वित्तीय समाचार, खेल, औसत, कार्य समय, सर्ड और सूचकांक, द्विघात समीकरण, उम्र पर समस्याएं, डेटा व्याख्या, साधारण ब्याज, चक्रवृद्धि ब्याज, संभावना, प्रतिशत, संक्षिप्ताक्षर, बजट, अंतर्राष्ट्रीय, राष्ट्रीय संगठन, क्रमपरिवर्तन, संयोजन, मिश्रण, आरोप,‌ अनुक्रम, श्रृंखला, लाभ हानि, पंचवर्षीय योजनाएं, संख्या प्रणाली, पुरस्कार और सम्मान, रेखीय समीकरण, अनुपात और अनुपात, डेटा पर्याप्तता, संख्या श्रृंखला।

आईआरडीए के तहत सैलरी (IRDA Salary in India)

इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अंतर्गत कार्य करने वाले लोगों को अच्छी सैलरी दी जाती है तथा उन्हें विभिन्न प्रकार की सरकारी सुविधाएं भी प्रदान की जाती है। यह भारत सरकार की एक संस्था है जो भारतीय बीमा बाजार को ऑपरेट करती है। भारतीय बीमा बाजार के अंतर्गत सभी प्रकार की बीमा कंपनियां और संबंधित ग्राहकों पर कड़ी नजर रखती है। इस संस्था के अंतर्गत समय-समय पर अधिकारियों की आवश्यकता के आधार पर भर्ती का आयोजन करवाया जाता है। निर्धारित की गई परीक्षा के अनुसार चयनित हुए अधिकारियों को हर महीने वेतन के रूप में ₹30,000 से लेकर ₹1,00,000 तक अलग-अलग पदानुसार किया जाता है।

People Also Read:-

Income Tax Inspector कैसे बने?

GST Inspector कैसे बनते हैं पूरी जानकारी?

LIC Insurance Agent कैसे बने पूरी जानकारी?

सरकारी नौकरी कैसे पाएं पूरी जानकारी?

बीए के बाद महिलाओं के लिए सरकारी नौकरियां कौन-कौन सी होती हैं?

Conclusion

इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया एक सरकार की संस्था है। इस संस्था का मुख्य कार्य बीमा से संबंधित लोगों के हितों की रक्षा करना होता है तथा बीमा उद्योग को बढ़ावा देना और उसे सही ढंग से ऑपरेट करना होता है। इस संस्था के अंतर्गत समय-समय पर विभिन्न प्रकार के पदों पर आवश्यकता होती है। इसीलिए भर्ती का आयोजन करवाया जाता है निर्धारित की गई परीक्षा 3 चरणों में संपन्न होती है। इस परीक्षा को पास करने के बाद भारतीय विनियामक और विकास प्राधिकरण के तहत नौकरी उपलब्ध कराई जाती है। अधिक जानकारी इस आर्टिकल में बता दी गई है। हमें उम्मीद है यह जानकारी आपको जरूर पसंद आई होगी। अगर आपका इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी प्रश्न है? तो आप कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Leave a Comment