Math Teacher कैसे बने? गणित अध्यापक बनने की पूरी जानकारी

अध्यापक बनना हर व्यक्ति का सपना होता है। अध्यापक बनने के लिए विद्यार्थी शुरुआत से ही मेहनत करनी शुरू कर देता है। अध्यापक का पद एक सम्मानजनक पद माना जाता है। अध्यापक पद के लिए लाखों लोग तैयारियां कर रहे हैं। अध्यापक बनाने के लिए विद्यार्थी को दसवीं कक्षा उत्तीर्ण करते ही अपने लक्ष्य को निर्धारित करते हुए तैयारी और पढ़ाई करनी चाहिए। ताकि विद्यार्थी जल्द से जल्द अपने मुकाम तक पहुंच सके। आज के इस आर्टिकल में हम आपको गणित अध्यापक या Math Teacher कैसे बने? इसके बारे में जानकारी देंगे।

Math Teacher कैसे बने?

Math Teacher kaise bane

अध्यापक के पद पर काम करने वाले उम्मीदवार को अंग्रेजी में Teacher कहा जाता है। टीचर और अध्यापक जो अलग-अलग भाषाओं के दो स्वरूप है। टीचर बनने की प्रक्रिया सभी विषय की समान होती है। सभी विषय के टीचर समान रूप से तैयारी करके अध्यापक बन सकते हैं। यदि हम गणित टीचर कैसे बने इसके बारे में बात करें, तो इसकी जानकारी नीचे कुछ इस प्रकार से दी जा रही है।

Math Teacher बनने के लिए क्या करें?

गणित विषय के अध्यापक बनने के लिए आपको नीचे दिए गए निम्नलिखित प्रक्रिया को सही तरीके से फॉलो करना होगाः

1. 11वीं और 12वीं कक्षा साइंस मैथमेटिक्स के साथ करें

सबसे पहले आपको 10 वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद 11वीं कक्षा में विज्ञान वर्ग का चयन करना होगा और विज्ञान वर्ग में साइंस मैथमेटिक्स सब्जेक्ट को चयन करते हुए 11वीं और 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करनी होगी। जब आप विज्ञान वर्ग में साइंस मैथमेटिक्स से 11वीं और 12वीं कक्षा उत्तीर्ण कर लेते हैं, तो उसके पश्चात आपको आगे ग्रेजुएशन डिग्री के लिए जाना होगा।

2. बीएससी की डिग्री हासिल करें

12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद आपको साइंस मैथमेटिक्स सब्जेक्ट से बीएससी की डिग्री हासिल करनी होगी। बीएससी मैथमेटिक्स से करने के पश्चात आपको मास्टर डिग्री के लिए जाना होता है। बीएससी की डिग्री 3 साल की होती है।

3. मैथमेटिक्स से मास्टर डिग्री हासिल करें

बीएससी 3 साल का डिग्री कोर्स पूरा करने के बाद आपको मैथमेटिक्स से मास्टर डिग्री M.Sc को पूरा करना होगा। मास्टर डिग्री 2 साल की होती है। यदि आप बीएससी की डिग्री अच्छे अंकों के साथ उत्तीर्ण करते हैं तो आपको मास्टर डिग्री के लिए बेहतरीन सरकारी कॉलेज मिल जाएगा। अन्यथा आप प्राइवेट कॉलेज से भी मास्टर डिग्री कर सकते हैं।

4. B.Ed की डिग्री हासिल करें

किसी भी विषय से अध्यापक बनने के लिए आपको B.Ed की डिग्री हासिल करना बहुत ही जरूरी है। B.ed एक प्रकार का बेसिक कोर्स है। जहां पर शिक्षा कैसे प्रदान करवानी है कहने का मतलब यह है कि किस प्रकार से आप को पढ़ाना है। उसका ज्ञान प्राप्त होता है। B.Ed को प्री शिक्षक कोर्स के रूप में भी जाना जाता है।

5. पीएचडी की डिग्री हासिल करें

कॉलेज लेक्चरर के रूप में गणित के पिक्चर बनना चाहते हैं तो ऐसे में आपको मास्टर डिग्री के बाद पीएचडी का कोर्स करना होगा। उसी के बाद आपको कॉलेज लेक्चरर के रूप में गणित विषय से पढ़ाने का मौका मिलेगा।

गणित/Math के अध्यापक बनने के लिए जरूरी डिग्रियां

गणित के अध्यापक जो फर्स्ट ग्रेड टीचर के तौर पर भी होते हैं और सेकंड ग्रेड टीचर के तौर पर भी होते हैं। इसके अलावा गणित के अध्यापक कॉलेज लेक्चरर के रूप में भी होते हैं। अलग-अलग पद पर नौकरी पाने के लिए अलग-अलग प्रकार की डिग्रियों की जरूरत पड़ती है। जिसकी जानकारी हम आपको नीचे कुछ इस प्रकार से प्रदान करवा रहे हैंः

1. सेकंड ग्रेड Math टीचर बनने के लिए जरूरी डिग्रीयां

  • मैथमेटिक्स सब्जेक्ट बैचलर ऑफ साइंस की डिग्री
  • एमएससी की डिग्री

2nd ग्रेड अध्यापक कैसे बने?

2. फर्स्ट ग्रेड Math टीचर के लिए जरूरी डिग्रियां

  • फर्स्ट ग्रेड अध्यापक बनने के लिए आपके पास बैचलर ऑफ साइंस की डिग्री होना जरूरी है।
  • साथ ही साथ मास्टर डिग्री मैथमेटिक्स सब्जेक्ट से होना जरूरी है।
  • और B.Ed की डिग्री भी होना जरूरी है।

1st ग्रेड अध्यापक कैसे बने?

3. कॉलेज लेक्चरर गणित अध्यापक के लिए जरूरी डिग्रियां

कॉलेज लेक्चरर बनने के लिए बैचलर ऑफ साइंस और मास्टर ऑफ साइंस की डिग्री के साथ साथ बीएड और पीएचडी की डिग्री होना जरूरी है। सभी डिग्री लेने के बाद ही आप कॉलेज लेक्चरर पद पर कार्यरत हो सकता है।

सरकारी Math Teacher की सैलरी

जिस प्रकार से हमने पहले भी आपको बताया है, कि गणित के टीचर दो प्रकार के होते हैं। फर्स्ट ग्रेड टीचर और सेकंड ग्रेड टीचर फर्स्ट ग्रेड गणित टीचर की सैलरी ₹100000 प्रति महीना होती है और सेकंड ग्रेड टीचर की सैलरी करीब ₹70000 प्रति महीना होती है। इसके अलावा कई प्रकार के सरकारी भत्ते दिए जाते हैं। यदि उम्मीदवार कॉलेज लेक्चरर के पद पर कार्यरत है, तो उसे सरकारी कॉलेज लेक्चरर के तौर पर डेढ़ लाख रुपए प्रति महीने की सैलरी और सरकारी भत्ते प्रदान कराए जाते हैं।

अवश्य देखें:-

Private Math Teacher की सैलरी

यदि प्राइवेट स्कूल या प्राइवेट कॉलेज में उम्मीदवार गणित टीचर के तौर पर पड़ा रहा है तो ऐसे में आपके अनुभव के आधार पर आप प्राइवेट स्कूल से सैलरी के तौर पर पैसा ले सकते हैं। प्राइवेट टीचर के तौर पर आप 20 हजार से लेकर ₹70000 तक प्रति महीना गणित टीचर पद पर कार्यरत रहते हुए आराम से कमा सकते हैं। प्राइवेट ग्रेड टीचर की सैलरी पिक नहीं होती है।.प्राइवेट यदि आप अपना कोचिंग सेंटर खोल देते हैं तो आप गणित टीचर पद पर कार्यरत रहते हुए लाखों रुपए भी कमा सकते हैं।

निष्कर्ष:-

विद्यार्थी जब दसवीं कक्षा उत्तीर्ण करता है तो उस विद्यार्थी को अपने भविष्य को लेकर काफी चिंता होना शुरू हो जाती है और कई विद्यार्थी दसवीं कक्षा पास करने से पहले ही अपने भविष्य के लिए सोच लेते हैं। जो विद्यार्थी गणित टीचर बनने का सपना देखते हैं।

उन विद्यार्थियों के लिए आज के इस आर्टिकल में हमने Math Teacher कैसे बने? इसके बारे में डिटेल में जानकारी दी है हमें उम्मीद है, कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित हुई होगी। यदि किसी व्यक्ति को इस आर्टिकल से जुड़ा हुआ कोई भी सवाल है तो वह हमें कमेंट के जरिए बता सकता है।

हम आपके सवाल का जवाब जल्द से जल्द देने का प्रयास करेंगे। हमारे आर्टिकल में रुचि दिखाने के लिए आपका धन्यवाद हम आपको रोजाना ऐसे ही क्लियर से जुड़े आर्टिकल साझा करने का प्रयास करेंगे।

Leave a Comment