MBBS कोर्स कैसे करें? 2022 में एमबीबीएस की संपूर्ण जानकारी

आज के समय में डॉक्टर बनने और इंजीनियर बनने का सपना विद्यार्थी और विद्यार्थी के माता-पिता अक्षर देखते हैं। जैसे ही विद्यार्थी आठवीं कक्षा व दसवीं कक्षा पास कर लेता है। तो उसके माता पिता और बच्चे के खुद के दिमाग में भी डॉक्टर और इंजीनियर बनने के ख्वाब आने शुरू हो जाते हैं। डॉक्टर और इंजीनियर बनने का सपना देखना आज के समय में बहुत आम हो गया है। लेकिन जितना आसान सपना देखना है।

उतना आसान डॉक्टर और इंजीनियर बनना नहीं है। डॉक्टर बनने के लिए विद्यार्थी को सबसे पहले कौन सी कौन सी डिग्री करनी होगी। कौन से एंट्रेंस एग्जाम में भाग लेना होगा इसके बारे में जानकारी लेना बहुत जरूरी है। डॉक्टर बनने के लिए विद्यार्थी को एमबीबीएस की डिग्री करना जरूरी है। आज के आर्टिकल में हम आपको MBBS Course कैसे करें? इसके बारे में डिटेल में जानकारी देने का प्रयास करेंगे।

MBBS क्या होता है?

MBBS कोर्स कैसे करें? 2022 में एमबीबीएस की संपूर्ण जानकारी

एमबीबीएस शब्द एजुकेशन के क्षेत्र में अक्सर काफी लोकप्रिय शब्द माना जाता है। इसका प्रयोग विज्ञान वर्ग के विद्यार्थी मुख्य तौर पर करते रहते हैं। एमबीबीएस एक प्रकार का बैचलर डिग्री कोर्स है। जिसे डॉक्टर डिग्री कोर्स भी कहा जाता है। क्योंकि Doctor बनने के लिए एमबीबीएस डिग्री लेना बहुत ही ज्यादा जरूरी है। यदि आप डॉक्टर बनना चाहते हैं, तो एमबीबीएस की डिग्री आपको लेनी ही होगी इसके बिना आप डॉक्टर नहीं बन पाएंगे।

एमबीबीएस की डिग्री 4 से 5 साल के बीच पूरी होती है। हर 6 महीने में एक सेमेस्टर होता है। इस प्रकार से आपको 8 से 10 सेमेस्टर की पढ़ाई करते हुए एमबीबीएस की डिग्री हासिल करनी होगी। एमबीबीएस की डिग्री डिग्री लेना हर डॉक्टर बनने वाले विद्यार्थी के लिए जरूरी है। एमबीबीएस की डिग्री कैसे करें इसके बारे में हम आपको नीचे डिटेल में जानकारी देने का प्रयास कर रहे हैं।

MBBS की Full Form क्या होती है?

हर अंग्रेजी शब्द की एक विशेष फुल फॉर्म होती है। उसी प्रकार से एमबीबीएस जो अंग्रेजी का एक शार्ट फॉर्म शब्द है। इसका पूरा नाम हिंदी में इंग्लिश में नीचे कुछ इस प्रकार से दिया गया हैः

MBBS Full Form In English: Bachelor Of Medicine And Bachelor Of Surgery

MBBS Full Form In Hindi: चिकित्सा स्नातक और शल्य चिकित्सा स्नातक

MBBS के लिए जरूरी योग्यता in Hindi 2022

एमबीबीएस की डिग्री लेने वाले विद्यार्थी के लिए कई तरह से जरूरी योग्यता का निर्धारण किया गया है और उन जरूरी योग्यता को पूरा करने वाले विद्यार्थी को एमबीबीएस डिग्री लेने के लिए कॉलेज में एडमिशन दिया जाएगा। एमबीबीएस के लिए निर्धारित की गई जरूरी योग्यता जो कुछ इस प्रकार से हैः

  • विद्यार्थी को सर्वप्रथम दसवीं कक्षा अच्छे अंकों के साथ पास करनी होगी और उसके बाद 11वीं और 12वीं कक्षा में विज्ञान बायोलॉजी विषय के साथ अच्छे अंकों के साथ पास करनी होगी।
  • विज्ञान वर्ग में 50% अंक होने अनिवार्य है।
  • उसके पश्चात उम्मीदवार को विज्ञान वर्ग से 12वीं पास करने के बाद NEET एंट्रेंस एग्जाम में भाग लेना होगा।
  • एमबीबीएस की डिग्री वर्तमान समय में एम्स कॉलेज के द्वारा करवाई जा रही है। जिसके लिए विद्यार्थियों को एम्स का एंट्रेंस एग्जाम पास करना होता है।
  • विद्यार्थी NEET या फिर एम्स का एंट्रेंस एग्जाम पास करके एमबीबीएस की कॉलेज में भाग ले सकता है।
  • विद्यार्थी की उम्र एमबीबीएस करने के लिए निर्धारित की गई है। विद्यार्थी की न्यूनतम उम्र 17 वर्ष होना अनिवार्य है और अधिकतम उम्र 25 वर्ष होना जरूरी है।

MBBS कैसे करें? (MBBS kaise kare in Hindi 2022)

जो विद्यार्थी डॉक्टर बनने का सपना देख रहा है और उस विद्यार्थी को एमबीबीएस के लिए कॉलेज में एडमिशन लेना है। तो विद्यार्थी को नीचे दिए गए निम्नलिखित चरणों को फॉलो करना होगाः

  • सर्वप्रथम विद्यार्थी को विज्ञान वर्ग के साथ 12 वीं कक्षा अच्छे अंकों के साथ पास करनी होगी।
  • 12वीं कक्षा के साथ-साथ विज्ञान वर्ग के विद्यार्थी को एमबीबीएस में एडमिशन के लिए NEET Exam की तैयारी बेहतर तरीके से करनी होगी।
  • 12वीं कक्षा पास करते ही विद्यार्थी नीट एग्जाम में अपना आवेदन लगा सकता है।
  • नीट परीक्षा में पास होने वाले विद्यार्थी को मेडिकल कॉलेज मिल जाएगा यानी कि नीट परीक्षा में पास होने वाले विद्यार्थियों में जिन विद्यार्थियों का नाम मेरिट लिस्ट में आएगा उनको मेडिकल कॉलेज मिल जाएगा।
  • नीट परीक्षा की रैंकिंग के आधार पर ही मेडिकल कॉलेज का निर्धारण किया जाता है।
  • जब मेडिकल कॉलेज में एडमिशन मिल जाता है, तो उसके पश्चात आपको एमबीबीएस की डिग्री 4 से 5 साल की अवधि के दौरान पढ़ाई करते हुए पूरी करनी होगी।
  • इस दौरान आपको अच्छे अंकों के साथ एमबीबीएस की डिग्री पूरी करके सर्टिफिकेट हासिल करना है।
  • यहां पर 4 साल की एमबीबीएस की डिग्री की पढ़ाई होती है। और 1 साल के लिए आपको मेडिकल कॉलेज में इंटर्नशिप के तहत गुजारना होता है।
  • कुल मिलाकर एमबीबीएस का कोर्स 5 साल का होता है इंटरशिप पूरा करने के बाद आपको अनुभवी डॉक्टर का एक सर्टिफिकेट मिल जाएगा।
  • जिसके बाद आप अस्पताल में डॉक्टर के तौर पर काम कर सकते हैं।
  • उसके बाद आप मास्टर डिग्री के तौर पर मास्टर ऑफ सर्जन व  मास्टर ऑफ Dental इस प्रकार से किसी भी डिग्री का चयन करके अपने आप को और अधिक परफेक्ट बना सकते हैं और मास्टर डिग्री हासिल कर सकते हैं।

Psychologist कैसे बने पूरी जानकारी?

Judge कैसे बने जानिए संपूर्ण जानकारी?

MBBS की Fees कितनी होती है?

एमबीबीएस की डिग्री लेने वाले सभी विद्यार्थियों के मन में एमबीबीएस की फीस को लेकर कई प्रकार के सवाल पैदा होते हैं। विद्यार्थी जब छोटी कक्षाओं में पढ़ रहा होता है तब उसे डॉक्टर बनने का सपना होता है। लेकिन उसे फीस के बारे में कोई अंदाजा नहीं होता है। डॉक्टर बनने के लिए आपको अच्छी खासी फीस भी देनी होती है। एमबीबीएस की फीस का निर्धारण किया गया है।

सरकारी कॉलेज में एमबीबीएस की फीस काफी कम होती है। लेकिन निजी कॉलेज में आप एडमिशन लेते हैं। तो आपको बहुत ज्यादा फीस देनी पड़ती है। सरकारी कॉलेज में एमबीबीएस की फीस बिल्कुल डिग्री की तरह ही होती है। यहां पर आप ₹4000 से लेकर ₹5000 के बीच प्रतिवर्ष फीस के साथ एमबीबीएस की डिग्री हासिल कर सकते हैं।

लेकिन प्राइवेट कॉलेज की फीस की बात करें तो प्राइवेट कॉलेज में 1200000 रुपए से लेकर 2000000 रुपए प्रति वर्ष एमबीबीएस की फीस लगती है। इतनी ज्यादा फीस के साथ आपको एमबीबीएस की डिग्री 5 सालों तक पूरी करनी होगी ऐम्स कॉलेज के माध्यम से जो विद्यार्थी पढ़ाई करते हैं। या एम्स कॉलेज के माध्यम से जो विद्यार्थी एमबीबीएस की डिग्री करते हैं। उनको मात्र ₹1000 प्रतिवर्ष फीस देनी होती है।

MBBS करने के बाद करियर के Scope

जो विद्यार्थी एमबीबीएस कर लेता है। उसके पश्चात विद्यार्थी के लिए करियर में स्कोप की कोई कमी नहीं होती है। क्योंकि पढ़ाई के क्षेत्र में डॉक्टर और इंजीनियर सबसे सर्वोच्च पद के तौर पर माने जाते हैं और यदि आप एमबीबीएस की डिग्री ले लेते हैं तो आप डॉक्टर बन जाते हैं और ऐसे में आपके सामने कई करियर के इसको मौजूद हो जाते हैं।

यदि आप मास्टर डिग्री लेना चाहते हैं तो एमबीबीएस की डिग्री के बाद मास्टर डिग्री ले सकते हैं या डॉक्टर बनने के लिए आने वाली भर्तियों में आवेदन लगाकर सरकारी डॉक्टर बन सकते हैं। साथ ही साथ आप प्राइवेट अस्पतालों में भी डॉक्टर के पद पर कार्यरत हो सकते हैं। अपना खुद का क्लीनिक खोल सकते हैं और मास्टर डिग्री लेने के बाद आप अपना खुद का हॉस्पिटल भी खोल सकते हैं।

एम्स के एंट्रेंस एग्जाम को पास करके जो विद्यार्थी एम्स कॉलेज से एमबीबीएस करते हैं। उनके लिए किसी भी प्रकार के डॉक्टर बनने के लिए भर्तियों में आवेदन लगाने की जरूरत नहीं होती है। उन विद्यार्थियों को सीधा एमबीबीएस पूरा होते ही एम्स हॉस्पिटल में डॉक्टर के पद पर चयनित कर दिया जाता है।

MBBS Doctor की सैलरी कितनी होती है?

डॉक्टर की सैलरी के बारे में यदि बात की जाए तो देश में सबसे ज्यादा पैसा अगर कोई कमा रहा है तो डॉक्टर कमा रहा है क्योंकि डॉक्टर अपने टैलेंट अपने अनुभव के दम पर जितना चाहे उतना पैसा कमा सकता है। सरकारी डॉक्टर की सैलरी ₹200000 प्रति महीना होती है। हालांकि अलग-अलग विभाग में अलग-अलग सैलरी का निर्धारण किया जाता है। इससे कम या ज्यादा भी सैलरी मिल सकती है।

डॉक्टर बनने के बाद यदि आप प्राइवेट हॉस्पिटल में तीन से चार घंटा टाइम देते हैं और इस प्रकार से तीन हॉस्पिटल ज्वाइन करते हैं तो आप ₹300000 आराम से कमा सकते हैं। यदि आप अपना खुद का क्लीनिक खोलते हैं तो प्रति महीना ₹300000 से ₹500000 या इससे अधिक भी कमा सकते हैं और आप अपना खुद का अस्पताल खोल कर लाखों रुपए प्रति महीना यानी कि 15 लाख, 20 लाख व 50 लाख रुपए प्रति महीना भी कमा सकते हैं।

भारत के बेहतरीन MBBS के कॉलेज

भारत में एमबीबीएस कॉलेज के बारे में बात की जाए तो भारत के कुछ बेहतरीन एमबीबीएस कॉलेज की सूची हम आपको नीचे प्रदान करवा रहे हैंः

  • ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेस नई दिल्ली
  • मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज नई दिल्ली
  • ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस जोधपुर
  • इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस बनारस
  • ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस भोपाल
  • हिंदी मेडिकल यूनिवर्सिटी वाराणसी
  • ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस रायपुर
  • किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी लखनऊ
  • ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस पटना
  • गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल चंडीगढ़
  • ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसे  ऋषिकेश
  • एसएन मेडिकल कॉलेज जोधपुर

निष्कर्ष

हर विद्यार्थी अपने आप करियर को संवारने के लिए कई तरीके के प्रयास करता है और विद्यार्थी को अपने करियर को लेकर हमेशा चिंता रहती है। लेकिन विज्ञान वर्ग में जो विद्यार्थी काफी टैलेंटेड है। कहने का मतलब यह है, कि विद्यार्थी विज्ञान वर्ग में अच्छी रुचि रखते हैं और भविष्य में डॉक्टर बनने का सपना देख रहे हैं। तो उन विद्यार्थियों के लिए एमबीबीएस करना एक सुनहरा मौका है। आज के आर्टिकल में हमने आपको MBBS कैसे करें? इसके बारे में डिटेल में जानकारी दी है। उम्मीद है, कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी।

Leave a Comment