Net Exam क्या होता है? 2022 में नेट परीक्षा की सम्पूर्ण जानकारी

शिक्षा हासिल करने वाले हर विद्यार्थी को उच्च पद पर नौकरी करने की चाहत रहती है। शिक्षा के क्षेत्र में प्रोफेसर बनने का एक सुनहरा अवसर पाने की चाहत हर विद्यार्थी अपने मन में रखता है। शिक्षा के क्षेत्र में प्रोफेसर का पद उच्च पद होता है। और एक सम्मानजनक पद भी होता है।

कॉलेज में पढ़ाने वाले प्रोफेसर Net exam पास करने के बाद कॉलेज प्रोफेसर बनते हैं। कॉलेज के प्रोफेसर बनने के लिए नेट एग्जाम पास करना होता है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको नेट एग्जाम क्या होता है? (Net Exam Kya Hota Hai) इसके बारे में details में जानकारी देने का प्रयास करेंगे।

Net Exam Kya Hota Hai?

Net Exam Kya Hota Hai

प्रोफेसर बनने के लिए जरूरी नेट का एग्जाम क्या होता है। इसके बारे में बात करें तो नेट एक राष्ट्रीय स्तर की पात्रता परीक्षा है। इस एग्जाम के द्वारा कॉलेज में लेक्चरर और कॉलेज प्रोफेसर को नियुक्त किया जाता है। नेट परीक्षा का आयोजन National Testing Agency के द्वारा किया जाता है।

यह परीक्षा जो कंप्यूटर आधारित ऑनलाइन परीक्षा होती है। एग्जाम में भाग लेने वाले उम्मीदवारों को बताना चाहेंगे, कि सरकार के द्वारा इस एग्जाम का आयोजन प्रतिवर्ष दो बार किया जाता है। सरकारी और प्राइवेट सभी कॉलेज में प्रोफेसर के तौर पर पढ़ाने वाले शिक्षक के लिए नेट एग्जाम qualify करना जरूरी है। नेट एग्जाम को qualify करने के बगैर आप कॉलेज में प्रोफेसर के तौर पर नहीं पढ़ा सकते हैं।

नेट एग्जाम जो आपको महाविद्यालय और विश्वविद्यालय में शिक्षक और प्रोफेसर के तौर पर पढ़ाने की अनुमति प्रदान करता है। इस एग्जाम को सरकार के द्वारा ऑनलाइन करवाया जाता है। सरकार के द्वारा प्रतिवर्ष आयोजित होने वाले इस एग्जाम में हर बार 1000 अभ्यर्थी पास होते हैं और उन्हें प्रोफेसर पद पर काम करने और प्रोफेसर के तौर पर बढ़ाने की अनुमति प्रदान करवाई जाती है।

NET Full Form

नेट एक अंग्रेजी शब्द है, जिसका पूरा नाम यानी कि Net full form की जानकारी नीचे कुछ इस प्रकार से दी गई है।

NET Full Form In English: National Eligibility Test
NET Full Form In Hindi: राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा

नेट परीक्षा में आवेदन करने वाले आवेदन कर्ता के लिए जरूरी मापदंड

जो उम्मीदवार नेट परीक्षा में आवेदन करके कॉलेज प्रोफेसर की अनुमति हासिल करना चाहता है या कहने का मतलब यह है कि जो उम्मीदवार नेट परीक्षा में अपना आवेदन लगाकर कॉलेज लेक्चरर पद के तौर पर पढ़ाने की परमिशन लेना चाहता है, तो उस व्यक्ति के पास नेट परीक्षा में शामिल होने के लिए या फिर नेट परीक्षा में आवेदन करने के लिए कुछ इस प्रकार से मापदंड को पूरा करना होगा।

आवेदन करने वाले उम्मीदवार के पास Master डिग्री होना अनिवार्य है।
जो उम्मीदवार प्रोफ़ेसर पद के लिए आवेदन कर रहा है। उस आवेदन कर्ता की उम्र निर्धारित नहीं की गई है। लेकिन जूनियर रिसर्च फेलोशिप के लिए 30 वर्ष की उम्र निर्धारित की गई है।

Net Exam में आवेदन करने के लिए जरूरी योग्यता

जो उम्मीदवार नेट एग्जाम में अपना आवेदन करना चाहता है। उस उम्मीदवार के पास नीचे दी गई निम्नलिखित योग्यता होनी जरूरी हैः

  • आवेदन करने वाले उम्मीदवार के पास मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की डिग्री होना जरूरी है।
  • आवेदक के पास मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री 55% अंक के साथ होनी अनिवार्य है। 55% से कम अंक होने पर आप नेट के एग्जाम में आवेदन नहीं लगा पाएंगे।
  • साथ ही साथ आपके ग्रेजुएशन की डिग्री में भी 55% न्यूनतम अंक होने जरूरी है।
  • आवेदन करने वाले विद्यार्थी के दसवीं और बारहवीं कक्षा के सर्टिफिकेट की जरूरत पड़ती है।

अवश्य देखें:-  ग्रेजुएशन पास करने के बाद 1 Year diploma course की पूरी जानकारी।

नेट परीक्षा से जुड़े महत्वपूर्ण बिंदु

जो उम्मीदवार पोस्ट ग्रेजुएशन के अंतिम वर्ष में अध्यनरत है। उस विद्यार्थी को नेट के एग्जाम में आवेदन करने की अनुमति दी जाती है।
इसके अलावा जो विद्यार्थी मास्टर डिग्री की परीक्षा दे चुका है यार रिजल्ट का इंतजार कर रहा है। वह विद्यार्थी भी नेट एग्जाम में अपना आवेदन लगा सकता है।

नेट एग्जाम का फॉर्म कैसे भरें

  1. जो उम्मीदवार नेट एग्जाम में शामिल होना चाहता है। उस उम्मीदवार को सबसे पहले पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करनी होगी।
  2. जैसे ही पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल कर लेते हैं तो आपको नेट एग्जाम की एप्लीकेशन फॉर्म में आवेदन लगाना होगा।
  3. NDA के द्वारा जारी किए जाने वाले नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट एग्जाम का नोटिफिकेशन जारी किया जाता है।
  4. तब आपको उसमें अपना आवेदन लगाना होगा application form भरकर submit करना होगा।
  5. इसके लिए आपको सबसे पहले NDA की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा और वहां पर आपके application form को भरना होगा।
  6. Application form भरने के बाद आपको अपने दस्तावेज को upload करते हुए application form को submit करना है।
  7. ऑनलाइन एप्लीकेशन फीस वाले option पर click करते हुए application form को भरना होगा।
  8. पूर्णतया फार्म पूरा होने के बाद आपको इस फॉर्म को फाइनल तौर पर submit कर देना है। ऐसा करने से आपका आवेदन फॉर्म जमा हो जाएगा।

Net Exam की आवेदन fees कितनी है?

  • नेट एग्जाम मैं आवेदन लगाने वाले उम्मीदवार के लिए आवेदन फीस कि यदि हम बात करें तो सामान्य वर्ग से संबंध रखने वाले विद्यार्थियों को 1000 रुपए की आवेदन फीस देनी होगी।
  • ओ बी सी और इ डब्लू एस विद्यार्थियों को ₹500 की आवेदन फीस जमा करवानी होती है।
  • जो विद्यार्थी अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति से संबंधित है उन विद्यार्थियों को ₹250 की आवेदन शुल्क जमा करवानी होगी।

Net परीक्षा का Exam Pattern

जो उम्मीदवार कॉलेज प्रोफेसर के लिए नेट की परीक्षा में आवेदन कर रहे हैं या आवेदन कर चुके हैं। उन विद्यार्थियों के लिए नेट परीक्षा का एग्जाम पैटर्न क्या है। इसके बारे में जानकारी हम आपको नीचे प्रदान करवा रहे हैं।

नेट परीक्षा के कुल 2 पेपर होते हैं। पहला पेपर 50 अंक का होता है प्रत्येक प्रश्न दो नंबर का होता है। ऐसे में कुल अंक 100 हो जाते हैं। दूसरा पेपर दो प्रश्नों का होता है और 200 अंक का होता है। दोनों पेपर को हल करने के लिए आपको 3 घंटे का समय दिया जाता है। कुल 300 अंक के दोनों पेपर होते हैं।

नेट परीक्षा का सिलेबस

नेट परीक्षा की तैयारी करने से पहले आपको नेट परीक्षा के सिलेबस के बारे में जानकारी लेना बहुत ही जरूरी है। नेट परीक्षा में सिलेबस के तौर पर कौन-कौन से विषयों को शामिल किया गया है। उसकी जानकारी हम आपको नीचे कुछ इस प्रकार से प्रदान करवा रहे हैं।

यह भी पढ़ें:- पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद क्या करें? पूरी जानकारी।

यूनिट-1: शिक्षण अभिवृत्ति

शिक्षण: अवधारणाएं, उद्देश्य, शिक्षण का स्तर ( स्मरण शक्ति, समाज और विचारात्मक), विशेषताएँ और मूल अपेक्षाएं।
शिक्षार्थी की विशेषताएँ: किशोर और वयस्क शिक्षार्थी की अपेक्षाएँ (शैक्षिक, सामाजिक/ भावनात्मक और संख्यात्मक, व्यक्तिगत भिन्नताएं)
शिक्षण प्रभावक तत्व: शिक्षक, सहायक सामग्री, संस्थागत सुविधाएं, शैक्षिक वातावरण
उच्च अधिगम संस्थाओं में शिक्षण की पद्धति: अध्यापक केंद्रित बनाम शिक्षार्थी केंद्रित पद्धति, ऑफलाइन बनाम ऑनलाइन पद्धतियां ( स्वयं, स्वयं प्रभा, मूक्स इत्यादि)
शिक्षण सहायक प्रणाली: परंपरागत आधुनिक और आई सी टी आधारित

यूनिट-2: शोध अभिवृत्ति

शोध: अर्थ, प्रकार और विशेषताएं, प्रत्यक्षवाद एवं उत्तर- प्रत्यक्षवाद शोध के उपागम
शोध पद्धतियां: प्रयोगात्मक, विचारात्मक, ऐतिहासिक, गुणात्मक एवं मात्रात्मक
शोध के चरण
शोध प्रबंध एवं आलेख लेखन: फॉर्मेट और संदर्भ की शैली
शोध में आईसीटी का अनुप्रयोग
शोध नैतिकता

यूनिट-3: बोध

एक गद्यांश दिया जाएगा उस गद्यांश से पूछे गए प्रश्नों का उत्तर देना होगा।

यूनिट-4: संप्रेषण

संप्रेषण: संप्रेषण का अर्थ, प्रकार और अभिलक्षण
प्रभावी संप्रेषण
प्रभावी संप्रेषण की बाधाएं
जन-मीडिया एवं समाज

यूनिट-5: गणितीय तर्क और अभिवृत्ति

तर्क के प्रकार
संख्या श्रेणी, अक्षर श्रंखला, कूट और संबंध
गणितीय अभिवृत्ति

यूनिट-6: युक्तियुक्त तर्क

युक्ति के ढांचे का बोध
युक्ति के प्रकार
अनुरूपताएं
वेण का आरेख
भारतीय तर्कशास्त्र
प्रमाण
अनुमान की संरचना, प्रकार, व्याप्ति

यूनिट-7: आंकड़ों की व्याख्या

आंकड़ों का स्त्रोत, प्राप्ति और वर्गीकरण
गुणात्मक एवं मात्रात्मक आंकड़े
चित्रवत वर्णन
आंकड़ों की व्याख्या
आंकड़े और सुशासन

यूनिट-8: सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी)

ICT: सामान्य संक्षिप्तियां और शब्दावली
इंटरनेट
उच्च शिक्षा में डिजिटल पहल
आईसीटी और सुशासन

यूनिट-9: लोग विकास और पर्यावरण

विकास और पर्यावरण
मानव और पर्यावरण संव्यवहार
पर्यावरण परक मुद्दे
मानव स्वास्थ्य पर प्रदूषको का प्रभाव
प्राकृतिक जोखिम और आपदाएं: न्यूनीकरण की युक्तियां
पर्यावरण संरक्षण अधिनियम 1986
जलवायु परिवर्तन संबंधी राष्ट्रीय कार्य योजना
अंतरराष्ट्रीय समझौते/ प्रयास- मोंट्रियल प्रोटोकोल
रियो सम्मेलन
जैव विविधता सम्मेलन
क्योटो प्रोटोकॉल
पेरिस समझौता
अंतर्राष्ट्रीय सौर संधि

यूनिट-10: उच्च शिक्षा प्रणाली

उच्च अधिगम संस्थाएं और प्राचीन भारत में शिक्षा
स्वतंत्रता के बाद भारत में उच्च अधिगम और शोध का उद्भव
भारत में प्राचीन, पारंपरिक और गैर पारंपरिक अधिगम कार्यक्रम
मूल शिक्षा और पर्यावरणपरक शिक्षा
नीतियां, सुशासन, राजनीति और प्रशासन

नेट परीक्षा की तैयारी कैसे करें?

नेट परीक्षा जो प्रोफेसर बनने के लिए जरूरी पात्रता परीक्षा है। इस परीक्षा को पास किए बिना कोई भी उम्मीदवार प्रोफ़ेसर नहीं बन सकता है। नेट परीक्षा की तैयारी कैसे करें? इसके बारे में हम आपको नीचे जानकारी प्रदान कर आ रहे हैं।

  • परीक्षा की तैयारी करने के लिए आपको हर तरीके से एक शेड्यूल का निर्माण करना होगा और उसी शेड्यूल के आधार पर आपको अपने सब्जेक्ट के हिसाब से तैयारी करनी चाहिए।
  • चिंता से दूर रहकर नेट परीक्षा के सिलेबस को समझें और उसके बाद सब्जेक्ट के अनुसार टाइम टेबल का निर्माण है।
  • हर सब्जेक्ट को एक स्पेशल टाइम प्रदान करें और हर वीकली आपके द्वारा की गई पढ़ाई का रिवीजन जरूर करें।
  • नेट परीक्षा की तैयारी करने के लिए आप कोचिंग भी ज्वाइन कर सकते हैं और सेल्फ स्टडी करके भी नेट परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं।
  • नेट परीक्षा की तैयारी करने के लिए आपको अपने मास्टर डिग्री और ग्रेजुएशन डिग्री के सिलेबस को खंगालना होगा। क्योंकि ज्यादातर सवाल मास्टर डिग्री और ग्रेजुएशन डिग्री से संबंधित ही पूछा जाता है।
  • नेट परीक्षा की तैयारी करते समय आपको करंट अफेयर पर मुख्य रुप से ध्यान देना होगा करंट अफेयर की मुख्य रूप से तैयारी करना जरूरी है।
  • नेट परीक्षा की तैयारी करते समय आपको गणित और रिजनिंग के सवालों को भी सॉल्व करना और उनकी प्रेक्टिस करना जरूरी है। क्योंकि कई सवाल इन विषय पर भी पूछे जाते हैं।

निष्कर्ष

कॉलेज प्रोफेसर बनने के लिए आपको राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा में भाग लेकर इस परीक्षा को क्लियर करना होगा। इस परीक्षा को क्लियर करने के बाद आपको कॉलेज में प्रोफेसर बनने की अनुमति मिलती है। सरकारी और प्राइवेट दोनों तरह के कॉलेज में प्रोफेसर के पद पर कार्य करने और प्रोफेसर के तौर पर पढ़ाई करवाने के लिए आपको अनुमति की जरूरत पड़ती है। जो अनुमति आपको नेट परीक्षा क्लियर करने के बाद मिलती है।

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको नेट एग्जाम क्या होता है? (Net Exam Kya Hota Hai) इसके बारे में जानकारी दी है। हमें उम्मीद है, कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी। यदि किसी व्यक्ति को इस आर्टिकल से जुड़ा हुआ कोई भी सवाल है, तो वह हमें कमेंट के माध्यम से बता सकता है।

Leave a Comment