पोस्ट ग्रेजुएशन क्या होता है और कैसे करें? पूरी जानकारी

विद्यार्थी अपने भविष्य में उच्च शिक्षा के लिए Post Graduation की डिग्री हासिल करता है। आज के इस प्रतिस्पर्धा के दौर में लोगों के लिए Post Graduation की degree करना भी बहुत ज्यादा जरूरी हो गया है। क्योंकि ग्रेजुएशन डिग्री में कई ऐसे सरकारी नौकरी के अवसर मौजूद नहीं होते हैं, जो पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के बाद विद्यार्थी के लिए उपलब्ध हो जाते हैं। Post Graduation की degree लेने के बाद कई अन्य ने नौकरी के अवसर मिलने शुरू हो जाते हैं।

पोस्ट ग्रेजुएशन जो विद्यार्थी के लिए शिक्षा की श्रेणी में उच्च शिक्षा होती है। इसे हासिल करने के बाद आपको हाई लेवल की जॉब आराम से मिल जाती है। पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद लोगों की डिमांड बढ़ जाती है और छात्रों का अच्छे पद पर चयन भी हो सकता है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको पोस्ट ग्रेजुएशन क्या है और पोस्ट ग्रेजुएशन कैसे करें इसके बारे में जानकारी देंगे।

पोस्ट ग्रेजुएशन क्या होता है? (Post Graduation Kya Hota Hai)

पोस्ट ग्रेजुएशन क्या होता है और कैसे करें? पूरी जानकारी

ग्रेजुएशन के पश्चात जो मास्टर डिग्री के तौर पर 1 वर्षीय से लेकर 4 वर्षीय कोर्स लिया जाता है। उसे पोस्ट ग्रेजुएशन कहा जाता है। पोस्ट ग्रेजुएशन को अक्सर मास्टर डिग्री के नाम से पहचानते हैं। यह बैचलर डिग्री लेने के बाद उच्च शिक्षा के तौर पर हासिल किया जाता है, जिसे हिंदी में स्नातकोत्तर कहते हैं।

सरकार के द्वारा कई ऐसी सरकारी भर्तियों को निकाला जाता है। जिन भर्तियों में आवेदन करने के लिए विद्यार्थी के पास पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री होना जरूरी है। पोस्ट ग्रेजुएशन से कई प्रकार के करियर के नए-नए अवसर और विकल्प उपलब्ध हो जाते हैं।

अच्छी नौकरी हासिल करने के लिए विद्यार्थी के पास उसकी योग्यता होना जरूरी है और ऐसे में विद्यार्थी को अपने उच्च शिक्षा जाने की पोस्ट ग्रेजुएशन पर सबसे पहले ध्यान देना चाहिए।

पोस्ट ग्रेजुएशन कितने साल का होता है?

पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री मुख्य तौर पर 2 वर्ष की होती है। 2 वर्ष में पोस्ट ग्रेजुएशन के हर विषय वर्ग में डिग्री को हासिल किया जा सकता है। लेकिन कई ऐसे विशेष कोर्स है। जहां 1 साल के पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स होते हैं और कई ऐसे विषय वर्ग है। जहां पर 3 साल और 4 साल पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के लिए लगते हैं।

पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए जरूरी योग्यता

जो विद्यार्थी पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री लेना चाहता है। उस विद्यार्थी के लिए जरूरी योग्यता के तौर पर ग्रेजुएशन की डिग्री होना अनिवार्य है। ग्रेजुएशन की डिग्री के साथ-साथ विद्यार्थी को कई मुख्य बातें ध्यान रखनी होगी, जो कुछ इस प्रकार के हैंः

  • ग्रेजुएशन की डिग्री 55% अंक के साथ
  • विशेष कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम को फाइट करना

पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स कैसे करें? (Post Graduation kaise Kare in 2022)

पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के लिए विद्यार्थी को सबसे पहले अपने ग्रेजुएशन डिग्री को पूरा करना होगा। ग्रेजुएशन डिग्री पूरी करने के पश्चात ही विद्यार्थी पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए आवेदन कर सकता है। पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स कैसे करें इसकी जानकारी कुछ इस प्रकार से दी गई हैः

  • पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए विद्यार्थी को सबसे पहले किसी भी विषय में ग्रेजुएशन डिग्री कंप्लीट करनी होगी।
  • जो विद्यार्थी ग्रेजुएशन डिग्री अच्छे अंकों के साथ पूरी कर लेता है। उसे टॉप लेवल के पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए कॉलेज मिल जाते हैं।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन में एडमिशन लेने से पहले आपको विषय का चयन करना होगा।
  • उसके पश्चात आपको PG के लिए कॉलेज में एडमिशन लेना है।
  • अब आपको अपने सेमेस्टर के अनुसार अच्छे से पढ़ाई करते हुए पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री को पूरा करना है।
  • इसके जब आपको पोस्ट ग्रेजुएशन की मार्कशीट मिल जाती है तो आप मास्टर डिग्री धारक विद्यार्थी बन जाते हैं।
  • हालांकि कई विद्यार्थी 12वीं कक्षा पास करने के पश्चात सीधे 5 साल के इंटीग्रेटेड कोर्स के माध्यम से भी मास्टर डिग्री और पोस्ट ग्रेजुएशन हासिल कर सकते हैं, जैसे कि इंटीग्रेटेड एमएससी।

ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन में अंतर

12वीं कक्षा पास करने के बाद जोड़ डिग्री कोर्स किया जाता है उसे ग्रेजुएशन डिग्री कहा जाता है। यह  कोर्स 3 वर्षीय होता है और इसे हिंदी में स्नातक कहते हैं।

लेकिन ग्रेजुएशन के बाद जो उच्च शिक्षा के तौर पर 2 वर्षीय 3 वर्षीय या 4 वर्षीय डिग्री कोर्स किया जाता है, उसे पोस्ट ग्रेजुएशन कहां जाता है और हिंदी में स्नातकोत्तर पर कहते हैं।

ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के पश्चात विद्यार्थी स्नातक धारी कहलाता है। लेकिन पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के बाद स्नातकोत्तर धारी कहलाता है।

अवश्य देखें:- Graduation के बाद 1 साल वाले Diploma Course in 2022

ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के पश्चात विद्यार्थी B.Ed करके आठवीं तक यानी की Third ग्रेड टीचर में आवेदन लगा सकता है। लेकिन पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री लेने के पश्चात विद्यार्थी भी ऐड करके सेकंड ग्रेड टीचर के लिए आवेदन लगा सकता है।

ग्रेजुएशन डिग्री लेने की अवधि 3 वर्ष से 5 वर्ष के बीच होती है और पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री लेने की अवधि 1 वर्ष से 4 वर्ष के बीच होती है। सामान्य तौर पर पोस्ट ग्रेजुएशन 2 साल का ही होता है।

पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए बेहतरीन कॉलेज

पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए इंडिया के सबसे टॉप लेवल कॉलेज कि यदि बात की जाए, तो टॉप लेवल पीजी कॉलेज की सूची नीचे कुछ इस प्रकार से दी गई है।

  • नेशनल लॉ स्कूल आफ इंडिया
  • यूनिवर्सिटी भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली,खड़कपुर, कानपुर,रुड़की
  • लेडी श्री राम कॉलेज फॉर वुमेन
  • श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स
  • जय नारायण व्यास यूनिवर्सिटी ऑफ जोधपुर
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग एंड न्यूट्रिशन
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन

पोस्ट ग्रेजुएशन करने के फायदे

पोस्ट ग्रेजुएशन के फायदों की एटीएम बात की जाए तो पोस्ट ग्रेजुएशन के फायदे कुछ इस प्रकार से नीचे दिए गए हैंः

  • पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के पश्चात विद्यार्थी के पास नई जॉब के कई विकल्प उपलब्ध हो जाते हैं और कैरियर बनाने के बेहतरीन ऑप्शन मिलते रहते हैं।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री करने के बाद विद्यार्थी का ज्ञान बढ़ता है और विद्यार्थी उच्च शिक्षा हासिल किया हुआ व्यक्ति माना जाता है।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद कई प्रकार की सरकारी नौकरी में आप आवेदन लगा सकते हैं। जिनमें ग्रेजुएशन के बाद आवेदन नहीं लगा सकते हैं।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद व्यक्ति का सम्मान बढ़ता है और सैलरी सरकारी क्षेत्र में और प्राइवेट सेक्टर में भी बढ़ती है।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन की अहमियत बहुत अधिक होती है पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद आप टीचिंग में अपना कैरियर मुख्य रूप से बना सकते हैं।

पोस्ट ग्रेजुएशन के लोकप्रिय Course in 2022

ग्रेजुएशन डिग्री लेने के पश्चात अलग-अलग विषय के आधार पर बहुत सारे मास्टर डिग्री कोर्स उपलब्ध है। जिन्हें पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स भी कहते हैं। पीजी डिग्री लेने के लिए कुछ लोकप्रिय और नीचे दिए गए हैंः

  • M.A
  • M.SC
  • M.COM
  • M.D
  • M.S
  • M.Tech
  • M.BA
  • M.SW
  • M.CA
  • M.ED
  • M.PED

पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद क्या करें?

पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद व्यक्ति अलग-अलग क्षेत्र में अपने कैरियर बना सकता है। कई प्रकार की सरकारी नौकरी में भी व्यक्ति एलिजिबल हो जाता है। जिसकी जानकारी नीचे कुछ इस प्रकार से दी जा रही है।

1. दसवीं कक्षा तक विद्यार्थी की भर्ती सेकंड ग्रेड टीचर भर्ती में आवेदन लगाने के लिए योग्य हो जाता है।

2. बैंकिंग की भर्तियों में आवेदन लगाने के लिए योग्य

3. प्राइवेट स्कूल में पढ़ाने के योग्य हो जाता है।

4. पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद प्राइवेट सेक्टर में भी उच्च लेवल की जॉब प्राप्त की जा सकती है।

5. पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद विद्यार्थी आगे कॉलेज लेक्चरर बनने के लिए NET का Exam फाइट कर सकता है।

6. कॉलेज प्रोफेसर बनने के लिए विद्यार्थी PhD कर सकता है।

8. रिसर्च के फील्ड में जा सकता है।

निष्कर्ष

पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के लिए विद्यार्थी को सबसे पहले ग्रेजुएशन पूरा करना होगा। ग्रेजुएशन धारी विद्यार्थी ही पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री लेने के लिए eligibility होते हैं। पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री जो शिक्षा के क्षेत्र में उच्च श्रेणी की डिग्री मानी जाती है।

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको Post Graduation kya hota hai और Post Graduation kaise kare? इसके बारे में डिटेल में जानकारी दी है। हमें पूरी उम्मीद है, कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी। यदि किसी व्यक्ति को हमारे इस आर्टिकल से जुड़ा हुआ कोई भी सवाल है, तो आप हमें कमेंट के जरिए बता सकते हैं।

Leave a Comment