Railway Loco Pilot kaise bane? 2022 में लोको पायलट से जुड़ी पूरी जानकारी।

Railway के अंतर्गत Loco Pilot kaise bane? इस बारे में पूरी जानकारी इस आर्टिकल में हम आपको विस्तारपूर्वक बताएंगे! जिसके बाद आपको पता चल जाएगा कि Railway Loco Pilot कैसे बनते हैं? आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि भारतीय रेलवे नेटवर्क दुनिया के सबसे बड़े रेलवे नेटवर्क में से एक है तथा यह भारत का सबसे बड़ा नियोक्ता भी कहा जाता है यानी कि भारतीय रेलवे देश के दूसरे सभी विभाग के मुकाबले सबसे अधिक नौकरियां उत्पन्न करता है और सबसे अधिक लोगों को नौकरी प्रदान करता है। हर वर्ष रेलवे में नौकरी करने के लिए विभिन्न प्रकार की परीक्षाओं का आयोजन करवाया जाता है और तरह-तरह के पदों पर नियुक्तियां प्रदान की जाती है।

भारतीय रेलवे नेटवर्क बहुत बड़ा रेल नेटवर्क है। इसीलिए यहां पर विभिन्न प्रकार की नौकरियां उत्पन्न होती है। विभिन्न प्रकार के पदों पर कार्य करने के लिए नियुक्तियां मांगी जाती है। भारतीय रेलवे के अंतर्गत Railway Loco Pilot की भी एक पोस्ट होती है जो एक महत्वपूर्ण और मुख्य पोस्ट मानी जाती है। आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि भारतीय रेलवे हर रोज 2 करोड से भी अधिक लोगों को उनकी मंजिल तक पहुंचाता है। यह आंकड़ा बहुत बड़ा है जो दुनिया के अनेक सारे देशों की आबादी से भी कई गुना ज्यादा है। ऐसी स्थिति में भारतीय रेलवे के अंतर्गत नौकरी करने के लिए विभिन्न प्रकार के विकल्प उत्पन्न हो जाते हैं।

Railway Loco Pilot भारतीय रेलवे के अंतर्गत एक महत्वपूर्ण पद माना जाता है जो लोगों को उनकी मंजिल तक पहुंचाता है तथा विशेष रूप से ट्रेन के उचित रखरखाव का पालन करता है। अगर आप रेलवे के अंतर्गत लोको पायलट बनना चाहते हैं तो हम आपको बता देते हैं कि इस पद पर सीधे तौर पर नियुक्ति प्रदान नहीं की जाती है क्योंकि यह महत्वपूर्ण पद है। इसीलिए यहां पर अनुभव व्यक्ति को ही नियुक्त किया जाता है ऐसी स्थिति में आपको रेलवे द्वारा आयोजित की गई परीक्षा पास करनी होगी। उसके बाद अनुभव के आधार पर आपका प्रमोशन करके रेलवे लोको पायलट बना दिया जाएगा। तो आइए जानते हैं कि किस तरह से रेलवे लोको पायलट बनते हैं।

लोको पायलट कौन होते हैं?

भारतीय रेलवे विभाग के अंतर्गत Railway Loco Pilot एक सीनियर लेवल का पद होता है, जो रेल को चलाने का काम करता है। तथा रेल के आने जाने के दौरान रेल के व्यवस्थित रखरखाव का कार्य करता है। रेलवे लोको पायलट की जिम्मेदारी लोगों की सुरक्षा से जुड़ी हुई होती है। इसीलिए यह पद महत्वपूर्ण माना जाता है जिस तरह से हवाई जहाज को चलाने के लिए एक विशेष Pilot की आवश्यकता होती है। बस कुछ लाने के लिए एक विशेष बस ड्राइवर की आवश्यकता होती है। ठीक उसी प्रकार रेल को चलाने के लिए लोको पायलट की आवश्यकता होती है।

Railway Loco Pilot एक महत्वपूर्ण तथा सम्मानजनक पद होता है। यहां पर अच्छी सैलरी मिलती है। इसीलिए अधिकांश युवा सरकारी नौकरी के तहत रेलवे विभाग के अंतर्गत लोको पायलट बनना चाहते हैं। हर वर्ष रेलवे द्वारा विभिन्न प्रकार के पदों पर आवश्यकता के अनुसार भर्ती का आयोजन करवाया जाता है। आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि रेलवे के अंतर्गत आने वाले विभिन्न प्रकार के पद चार अलग-अलग ग्रुप में विभाजित किए गए हैं। रेलवे लोको पायलट का पद ग्रुप बी के अंतर्गत आता है। बड़े पदों के लिए संघ लोक सेवा (UPSC) द्वारा परीक्षा का आयोजन करवाया जाता है।

अक्सर हमें भारत में विभिन्न प्रकार के रेल हादसों के बारे में सूचना मिलती है। ऐसी स्थिति में रेलवे द्वारा बेहतर से बेहतर लोको पायलट को ट्रेन चलाने के लिए नियुक्त किया जाता है। भारत का रेलवे नेटवर्क बहुत बड़ा है। इसीलिए यहां पर अतिरिक्त पदों पर नियुक्तियां की जाती है ताकि समय आने पर पद खाली ना रहे और कम से कम समय विशेष पदों के लिए अधिकारियों को काम करने के लिए दिया जाए, जिससे अधिकारियों की तरफ से हादसा होने की कोई गुंजाइश नहीं रहेगी। परंतु ट्रेन चलाने वाले लोको पायलट की ही जिम्मेदारी होती है कि ट्रेन में मौजूद हजारों की संख्या में लोगों को सुरक्षित उनकी मंजिल तक पहुंचाएं।

लोको पायलट बनने के लिए योग्यता (Loco Pilot Eligibility in Hindi 2022)

लोकतांत्रिक देश में किसी भी पद के लिए कुछ योग्यता निर्धारित की जाती है। रेलवे लोको पायलट एक महत्वपूर्ण पद है इसीलिए इस पद के लिए भी कुछ महत्वपूर्ण योग्यता निर्धारित की गई है। इन योग्यता के आधार पर कोई भी व्यक्ति लोको पायलट बनने के लिए आवेदन कर सकता है। योग्यता सिद्ध होने के बाद उसे Railway Loco Pilot के पद पर नियुक्त कर दिया जाएगा। लोको पायलट बनने की योग्यता इस प्रकार है —

  • रेलवे लोको पायलट बनने के लिए आपका भारत का नागरिक होना आवश्यक है।
  • लोको पायलट बनने वाले उम्मीदवार की आयु कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए।
  • कम से कम उम्मीदवार को दसवीं अथवा 12वीं कक्षा पास करनी होगी।
  • उम्मीदवार की अधिकतम आयु सीमा 30 वर्ष निर्धारित की गई है।
  • 12वीं कक्षा पास करने के बाद उम्मीदवार को RTI के तहत 2 वर्ष का कोर्स करना होगा।
  • आरक्षित वर्ग के लोगों को आयु सीमा में विशेष रूप से छूट प्रदान की जाती है।
  • लोको पायलट बनने वाला उम्मीदवार मानसिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए।
  • पूर्व सैनिकों को इस पद के लिए आयु सीमा में अतिरिक्त छूट प्रदान की जाती है।
  • उम्मीदवार शारीरिक रूप से पूरी तरह से स्वस्थ होना चाहिए।

लोको पायलट के प्रकार (Types of Loco Pilot in Hindi)

भारतीय रेलवे विभाग के अंतर्गत लोको पायलट के विभिन्न प्रकार के पद होते हैं। परीक्षा पास करते ही जिस पद पर नियुक्त किया जाता है। उसके बाद अनुभव के आधार पर प्रमोशन मिलने के बाद ही उन्हें लोको पायलट बनाया जाता है तथा इसके अलावा विभिन्न प्रकार के पद भी होते हैं जो लोको पायलट की श्रेणी में आते हैं। भारतीय रेलवे के अंतर्गत आने वाले लोको पायलट के प्रकार निम्नलिखित हैं —

  • लोको सुपरवाइजर
  • वरिष्ठ सहायक लोको पायलट
  • लोको फायरमैन
  • चालक दल नियंत्रक
  • पावर कंट्रोलर
  • सहायक लोको पायलट

लोको पायलट कैसे बनें? (Loco Pilot kaise Bane in Hindi 2022)

Railway Loco Pilot kaise bane?

Railway Loco Pilot एक महत्वपूर्ण पद होता है। इसीलिए आपको निर्धारित की गई एक प्रक्रिया से होकर गुजरना होगा। अगर आप लोको पायलट बनना चाहते हैं, तो इसके लिए कुछ योग्यता निर्धारित की गई है जिसके बारे में हम आपको ऊपर जानकारी बता दी हैं। उसके आधार पर आप लोको पायलट बनने के लिए आवेदन कर सकते हैं। लोको पायलट बनने की प्रक्रिया इस प्रकार है —

12वीं कक्षा पास करें —

अगर आप रेलवे विभाग के अंतर्गत Railway Loco Pilot बनने के इच्छुक हैं, तो आपको सबसे पहले 12वीं कक्षा पास करनी होगी। किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं कक्षा पास कर सकते हैं। आपको बारहवीं कक्षा के अंतर्गत कम से कम 50% अंक प्राप्त होने चाहिए। आप भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से SSC परीक्षा भी पास कर सकते हैं यह भी माननीय होगी।

Associate Degree —

12वीं कक्षा पास करने के बाद लोको पायलट बनने के लिए बैचलर की डिग्री प्राप्त करनी होती है या ITI करनी होती है। अगर बैचलर की डिग्री करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको विभिन्न प्रकार की यूनिवर्सिटी से मैकेनिक, Electronics, अंग्रेजी, गणित, भौतिकी, Computer इसके अलावा Technology रेल परिवहन इत्यादि के अंतर्गत डिग्री हासिल करनी होगी।

ITI प्रोग्राम‌ —

12वीं कक्षा पास करने के बाद रेलवे लोको पायलट बनाने हेतु आप ITI Program भी कर सकते हैं। किसी भी भारतीय मान्यता प्राप्त संस्था से आईटीआई क्वालीफाई कर सकते हैं। आप आईटीआई के तहत इलेक्ट्रॉनिक्स, मैकेनिक्स, आटोमोटिव, इंजीनियरिंग इत्यादि कोई भी डिप्लोमा डिग्री प्राप्त कर सकते हैं।

लोको पायलट की परीक्षा —

Railway Loco Pilot बनने के लिए रेलवे द्वारा हर वर्ष आवश्यकता के अनुसार पदों के लिए नियुक्तियों हेतु आवेदन मांगे जाते हैं। इन पदों पर आवेदन करने के लिए आपको रेलवे द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षा पास करनी होती है। यह परीक्षा तीन भागों में संपन्न होती है। पहले भाग में लिखित परीक्षा होती हैं और दूसरे भाग में Interview लिया जाता है। उसके बाद आपका Medical Examination भी पूरा किया जाता है। यह एक महत्वपूर्ण परीक्षा है जिसके अंतर्गत आपको अंक तथा निर्धारित किए गए समय प्रदान किया जाता है।

लिखित परीक्षा —

Railway Loco Pilot बनने के लिए आयोजित की जाने वाली परीक्षा के प्रथम चरण में लिखित परीक्षा होती है। इस परीक्षा को उम्मीदवार को पास करना जरूरी होता है क्योंकि इस परीक्षा को पास करने के बाद ही आपको अगले चरण की परीक्षा के लिए नियुक्त किया जाएगा। इस लिखित परीक्षा के अंतर्गत 120 अंक निर्धारित किए जाते हैं। इस परीक्षा में कुछ सामान्य ज्ञान से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। यह प्रश्न पत्र पूरा करने के लिए 90 मिनट का समय दिया जाता है। इस परीक्षा को सफलतापूर्वक पास करने वाले विद्यार्थियों को अगले चरण की परीक्षा अर्थात इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।

साक्षात्कार परीक्षा —

अगर आपने प्रथम चरण की लिखित परीक्षा सफलतापूर्वक पास कर ली है तो अब आप इस परीक्षा को दे सकते हैं। यह एक प्रकार का इंटरव्यू होता है जिसमें आपका व्यक्तिगत परीक्षण किया जाता है। आपकी सूझबूझ और अचानक से लिए जाने वाले फैसलों से संबंधित आपका व्यक्तित्व इंटरव्यू के द्वारा रखा जाएगा। जिनमें कुछ सामान्य व्यक्तित्व से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। इस परीक्षा को पास करने के बाद आपको अगले यानी तृतीय चरण की आखिरी परीक्षा मेडिकल एग्जामिनेशन के लिए बुलाया जाता है।

मेडिकल एग्जामिनेशन —

यह तृतीय और आखिरी चरण की मेडिकल परीक्षा होती है। इसके अंतर्गत लोको पायलट बनने वाले उम्मीदवार का मेडिकल टेस्ट किया जाता है, जिसके बाद ही निर्धारित की गई मेरिट लिस्ट के अनुसार Railway Loco Pilot के पद पर नियुक्त किया जाता है। यहां पर आंखों का टेस्ट किया जाता है जिसके अंतर्गत दूरदृष्टि इत्यादि की जांच की जाती है। इसके अलावा सुनने का टेस्ट, सीने का एक्सरे, चश्मे का लेंस, ब्लड टेस्ट इत्यादि विभिन्न प्रकार की जांच की जाती है।

रेलवे में Job कैसे पाए पूरी जानकारी?

रेलवे टिकट कलेक्टर (TC/TT/TTE) कैसे बने 2022 में पूरी जानकारी?

रेलवे ग्रुप डी की जॉब कैसे पाए पूरी जानकारी?

बीए के बाद महिलाओं के लिए सरकारी नौकरी कौन सी होती है?

लोको पायलट की सैलरी (Loco Pilot Salary in India 2022)

Railway Loco Pilot कितना महत्वपूर्ण पद होता है।‌ यह बात आप अब तक जान चुके हैं और इस पद पर पहुंचने की प्रक्रिया और योग्यता क्या है? इस बारे में भी हम आपको बता चुके हैं तो अब हम आपको बता देते हैं कि लोको पायलट की सैलरी कितनी होती है। आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि लोको पायलट को सालाना तौर पर 700000 से लेकर ₹800000 तक प्रदान किए जाते हैं। इसके अलावा विभिन्न प्रकार की सरकारी सुविधा प्रदान की जाती है और अनुभव तथा समय के अनुसार सैलरी भी बढ़ाई जाती है।

Conclusion

Railway Loco Pilot कैसे बनें? रेलवे लोको पायलट क्या होता है? रेलवे लोको पायलट बनने की योग्यता क्या है? रेलवे लोको पायलट कैसे बनते हैं? रेलवे लोको पायलट बनने की प्रक्रिया क्या है? रेलवे लोको पायलट की सैलरी कितनी होती है? इत्यादि से संबंधित सभी प्रश्नों के उत्तर आप इस आर्टिकल में प्राप्त कर सकते हैं क्योंकि इस आर्टिकल में हम आपको रेलवे लोको पायलट से संबंधित विस्तार पूर्वक जानकारी बता चुके हैं। हमें उम्मीद है यह जानकारी आपको जरूर पसंद आई होगी। अगर आपका इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी प्रश्न है? तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं। हम आपके द्वारा पूछे गए प्रश्नों का समय पर उत्तर देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Leave a Comment