Rajasthan PTI Teacher कैसे बने? 2022 में पीटीआई टीचर की पूरी जानकारी

राजस्थान में हर सरकारी नौकरी को पाने के लिए विद्यार्थियों की लाइन बहुत बड़ी है। राजस्थान का हो चाहे बाहर का हर विद्यार्थी सरकारी नौकरी हासिल करने के पीछे लगा हुआ है।
PTI बनने की प्रक्रिया सभी जगह सम्मान ही होती है। हर विद्यार्थी अपने जीवन में आगे जाकर कुछ न कुछ मुकाम हासिल करना चाहता है। विद्यार्थी के मन में हमेशा अपने भविष्य को लेकर कई तरह से चिंता सता रही होती है।

विद्यार्थी हमेशा अपने भविष्य को किस तरह से सवारना है और आगे जाकर बड़ा होकर क्या करना है। इस बारे में सोचता रहता है। पीटीआई बनने का एक मौका विद्यार्थी के पास होता है। विद्यार्थी पीटीआई की भर्ती में आवेदन लगाकर और पीटीआई के लिए जरूरी कोर्स को पूरा करके PTI बना जा सकता है। आज के आर्टिकल में हम आपको राजस्थान PTI कैसे बने (Rajasthan PTI Teacher kaise bane) इसके बारे में जानकारी देने का प्रयास करेगें।

पीटीआई क्या होता है?

Rajasthan PTI Teacher kaise bane

पीटीआई एक अध्यापक का पद है। पीटीआई को फिजिकल ट्रेंनिंग इंस्ट्रक्टर कहा जाता है। शारीरिक ट्रेनिंग देने वाले अध्यापक को पीटीआई कहा जाता है पीटीआई के लिए आपको कई प्रकार के कोर्स करने होते हैं और उसके पश्चात सरकारी पीटीआई बनने के लिए सरकार के द्वारा निकाली गई, भर्ती में आवेदन करके आपको पीटीआई पद और नौकरी के लिए चयनित होना होगा। इसके लिए आपको आयोजित परीक्षा में अपनी उपस्थिति होगी और उस परीक्षा को पास करना होगा।

PTI Teacher Full Form

PTI टीचर की फुल फॉर्म अंग्रेजी में “Physical Training Instructor” और हिंदी में “शारीरिक प्रशिक्षण अनुदेशक” होता है।

राजस्थान पीटीआई कितने प्रकार के होते हैं?

राजस्थान में पीटीआई पद पर कार्यरत उम्मीदवार को तीन भागों में विभाजित किया गया है। अलग-अलग उम्मीदवार की क्वालिफिकेशन और लेवल के आधार पर तीन तरह से विभाजित कुछ इस प्रकार से किया गया है:

शारीरिक प्रशिक्षण अनुदेशक ग्रेड प्रथम(PTI)

जिस प्रकार से प्रथम श्रेणी यानी फर्स्ट ग्रेड टीचर की भर्ती होती है। उसी प्रकार से शारीरिक परीक्षण अनुदेशक फर्स्ट ग्रेड की भर्ती होती है। जो ग्यारहवीं व बारहवीं कक्षा के लिए पीटीआई अध्यापक को चयनित करते हैं। सरकार के द्वारा शारीरिक परीक्षण अनुदेशक ग्रेड प्रथम परीक्षा के तहत ग्यारहवीं व बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए पीटीआई अध्यापक का चयन किया जाता है। इन्हें प्रथम श्रेणी पीटीआई अध्यापक कहा जाता है।

शारीरिक प्रशिक्षण अनुदेशक ग्रेड द्वितीय(PTI)

अन्य विषय वर्ग में जिस प्रकार से द्वितीय श्रेणी सेकंड सेकंड ग्रेड टीचर की भर्ती को निकाला जाता है। उसी प्रकार के शारीरिक परीक्षण अनुदेशक सेकंड ग्रेड की भर्ती का आयोजन सरकार के द्वारा किया जाता है। इस भर्ती के माध्यम से आठवीं से दसवीं तक के विद्यार्थियों के लिए पीटीआई पद पर अध्यापक को चयनित किया जाता है। इन्हें दितीय श्रेणी अध्यापक कहा जाता है।

शारीरिक प्रशिक्षण अनुदेशक ग्रेड तृतीय(PTI)

विषय वर्ग में जिस प्रकार के तृतीय श्रेणी यानी थर्ड ग्रेड टीचर को चयनित किया जाता है। उसी प्रकार से पीटीआई के लिए भी शारीरिक परीक्षण अनुदेशक ग्रेड तृतीय भर्ती को निकाला जाता है और इस भर्ती के जरिए सरकार के द्वारा थर्ड ग्रेड पीटीआई टीचर को चयनित किया जाता है। पहली से आठवीं तक पीटीआई के तौर पर फिजिकल ट्रेनिंग देने वाले अध्यापक को थर्ड ग्रेड पीटीआई कहा जाता है।

राजस्थान पीटीआई बनने के लिए आयु सीमा

राजस्थान में प्रतिवर्ष पीटीआई पदों की भर्ती का आयोजन सरकार के द्वारा किया जाता है। इसके अलावा सरकार के द्वारा पीटीआई पद के लिए निकाली गई भर्ती में आवेदन करने वाले आवेदन कर्ता की उम्र वर्ग का भी निर्धारण किया गया है। सरकार के द्वारा न्यूनतम उम्र 18 साल और अधिकतम उम्र 28 वर्ष रखी गई है।

हालांकि आरक्षित जातियों को यहां पर अलग-अलग जाति वर्ग के अनुसार उम्र में छूट भी प्रदान करवाई जाती है। यहां पर अन्य पिछड़ा वर्ग से संबंध रखने वाले उम्मीदवार को 3 साल की छूट दी जाती है और अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों को 5 साल की छूट प्रदान करवाई जाती है।

यह भी पढ़ें:-

राजस्थान पीटीआई कैसे बने? (Rajasthan PTI Teacher kaise bane)

राजस्थान में पीटीआई बनने के लिए कोई विशेष प्रकार की प्रक्रिया से गुजरने की जरूरत नहीं है, कि बनने की प्रक्रिया सभी राज्य में लगभग समान ही है। लेकिन आज के आर्टिकल में हम आपको नीचे स्टेप बाय स्टेप राजस्थान पीटीआई कैसे बने इसके बारे में जानकारी देने का प्रयास कर रहे हैं।

12वीं कक्षा पास करें

जो विद्यार्थी राजस्थान में पीटीआई पद पर कार्यरत होना चाहता है और विद्यार्थी को पीटीआई बनने के लिए सबसे पहले 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करनी होगी 12वीं कक्षा विद्यार्थी किसी भी विषय वर्ग से पास कर सकता है। विज्ञान वर्ग वाला विद्यार्थी बीपीटीआई बन सकता है और वाणिज्य वर्ग वाला विद्यार्थी भी पीटीआई बन सकता है। 12वीं कक्षा पास करने के बाद पीटीआई के लिए आपको आगे ग्रेजुएशन या डिप्लोमा कोर्स लेना होगा।

D P.ed डिप्लोमा हासिल करें

12वीं कक्षा पास करने के बाद आपको डिप्लोमा के तौर पर D P.ed का डिप्लोमा हासिल करना होता है। यह डिप्लोमा लेने के बाद आप कक्षा पहली से लेकर आठवीं तक के विद्यार्थियों के लिए पीटीआई अध्यापक के तौर पर उन्हें फिजिकल ट्रेनिंग दे सकते हैं। यह डिप्लोमा कोर्स 2 साल का होता है। वह साल का यह डिप्लोमा कोर्स हासिल करने के बाद सरकार के द्वारा निकाली गई आठवीं कक्षा तक की सीधी भर्ती में आवेदन लगा सकते हैं और पीटीआई में बन सकते हैं।

B P.ed

पीटीआई बनने के क्षेत्र में यह बैचलर डिग्री है। जिसे बैचलर ऑफ फिजिकल एजुकेशन कहा जाता है। जो विद्यार्थी डिप्लोमा नहीं करने की वजह डिग्री करना चाहते हैं। उन विद्यार्थियों के लिए B P.ed की डिग्री करने का एक मौका होता है। विद्यार्थी 4 वर्षीय B P.ed की डिग्री कर सकता है और दसवीं तक विद्यालय में पीटीआई के पद पर कार्यरत हो सकता है। यह डिग्री लेने के पश्चात सरकार के द्वारा निकाली जाने वाली पीटीआई की भर्ती में आपको आवेदन लगाना होगा और कंपटीशन एग्जाम को फाइट करते हुए आपको आप दसवीं तक के विद्यालय में पीटीआई बन सकते हैं।

M. Ped

पीटीआई बनने के क्षेत्र में यह मास्टर डिग्री है। जिसे मास्टर ऑफ फिजिकल एजुकेशन कहा जाता है। M. Ped करके विद्यार्थी 12वीं कक्षा तक के विद्यालय में पीटीआई पद पर नौकरी प्राप्त कर सकता है। पीटीआई के क्षेत्र में यह सबसे ऊंचा पद माना जाता है। मास्टर ऑफ फिजिकल एजुकेशन की डिग्री 2 साल की होती है इस 2 वर्षीय डिग्री को हासिल करके आप पीटीआई बनने का एक सुनहरा मौका हासिल कर सकते हैं। यह मास्टर डिग्री हासिल करने के सरकार के द्वारा निकाली जाने वाली भर्तियों में अपना आवेदन लगा सकते हैं और कंपटीशन एग्जाम को फाइट करते हुए, मास्टर डिग्री के साथ 12वीं कक्षा तक के विद्यालय में पीटीआई बन सकते हैं।

राजस्थान पीटीआई बनने में खर्चा कितना आएगा

राजस्थान में यदि पीटीआई पद पर कार्यरत होना चाहते हैं सरकारी व प्राइवेट दोनों में से किसी भी पद पर कार्यरत होने के लिए प्रक्रिया समान रहती है। हालांकि एक अंतिम भर्ती परीक्षा का फर्क रहता है। क्योंकि प्राइवेट में किसी भी कंपटीशन एग्जाम से गुजरने की जरूरत नहीं पड़ती है। राजस्थान पीटीआई बनने के लिए आप डिग्री करते हैं। उसका खर्चा अनुमानित प्रतिवर्ष 30000 से 50 हजार तक आता है। यदि आप सिर्फ बैचलर डिग्री करते हैं तो अनुमानित ₹200000 के खर्चे में B P.ed की डिग्री कर सकते हैं। लेकिन यदि आप मास्टर डिग्री करना चाहते हैं तो वह साल का अतिरिक्त खर्च आया ने कुल ₹300000 का खर्चा आएगा।

निष्कर्ष

राजस्थान सरकार के द्वारा प्रतिवर्ष पीटीआई पद के लिए भर्तियों का आवेदन किया जाता है। अलग-अलग Grade के हिसाब से अलग-अलग भर्तियों का आयोजन सरकार कर रही है। आज के इस आर्टिकल में हमने आपको राजस्थान पीटीआई कैसे बने? इसके बारे में डिटेल में जानकारी दी है। हमें उम्मीद है, कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी। यदि आपको हमारे आर्टिकल से जुड़ा हुआ कोई भी सवाल है, तो आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं।

10 thoughts on “Rajasthan PTI Teacher कैसे बने? 2022 में पीटीआई टीचर की पूरी जानकारी”

  1. मैं इस साल ग्रेजुएट हुआ हूँ… मैं कराटे (कूडो) ब्लैक बेल्ट व कोच हूँ. मैं M . Ped कर सकता हूँ.. उम्र 24 वर्ष h 5.6..

    Reply

Leave a Comment