RAS कैसे बने? 2022 में RAS की पूरी जानकारी

विद्यार्थी जब अपने पढ़ाई में उच्च स्तर पर पहुंचता है। तो विद्यार्थी की ख्वाहिश भी बड़ी होनी शुरू हो जाती है। विद्यार्थी अपने सपनों को हमेशा बड़ा रखता है। हालांकि कई लोग अपने सपनों को पूरा नहीं कर पाते हैं। लेकिन विद्यार्थी दसवीं कक्षा पास करने के पश्चात ही बड़े सपने देखना शुरू कर देता है।

विद्यार्थी के मन में हमेशा बड़े पद पर नौकरी हासिल करने की इच्छा रहती है। कई ग्रामीण इलाकों में टीचर पद को काफी बड़ा पद माना जाता है। लेकिन आज के समय में लोग टीचर की नौकरी हासिल करने से ज्यादा इच्छुक इससे भी ऊंचे पदों पर नौकरी हासिल करने के लिए रहते हैं।

विद्यार्थी के आज के समय में आई ए एस और आर ए एस जैसे: पद पर नौकरी हासिल करने की इच्छा अक्षर रहती है। राज्य स्तर पर आयोजित होने वाली सभी बड़ी पोस्ट में सबसे पहले RAS और IAS का नाम शामिल है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको आर ए एस कैसे? (RAS kiase bane?) बने इसके बारे में डिटेल में जानकारी देने का प्रयास करेंगे।

RAS क्या होता है? (RAS kya hota hai?)

RAS एक राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित होने वाली राज्य स्तरीय सिविल परीक्षा है। इस परीक्षा में चयनित होने वाले विद्यार्थियों और उम्मीदवार को राज्य और अधीनस्थ सेवा संयुक्त के तौर पर सर्वोच्च राज्य सेवा करने का मौका मिलता है।

राजस्थान के लिए r.a.s. पद काफी सम्मानजनक और ऊंचा पद माना जाता है। राजस्थान राज्य के अंदर RAS सबसे बड़ा पद है। आर ए एस ऑफिसर बनने के पश्चात व्यक्ति बहुत सारी जिम्मेदारियों के साथ राज्य में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

R.a.s. जिसे राजस्थान एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेज भी कहा जाता है। यह एक तरह का पद है। जिसकी परीक्षा राजस्थान लोक सेवा आयोग आरपीएससी के द्वारा आयोजित की जाती है। यह सिविल परीक्षा है। जिसमें भाग लेने वाले प्रतियोगी यदि पास होते हैं, तो उन्हें इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है और इंटरव्यू के पश्चात उन्हें आर ए एस के पद पर कार्यरत कर दिया जाता है।

Ras परीक्षा का स्तर देखा जाए तो यह एक राजीव स्तरीय परीक्षा है। परीक्षा का प्रकार ऑनलाइन ऑनलाइन दोनों माध्यम से होता है। RAS परीक्षा हिंदी भी इंग्लिश दोनों माध्यम से की जाती है और इसकी अधिकारी क्वीन साइड जहां से आप परीक्षा के आवेदन कर सकते हैं। वह Rpsc.rajasthan.gov.in हैं।

अवश्य पढ़ें:- आर्ट्स के बाद best करियर Option in 2022.

RAS की फुल फॉर्म क्या है? (RAS full form in Hindi)

हर अंग्रेजी शार्ट फॉर्म की एक विशेष फुल फॉर्म होती है। आर ए एस की भी एक फुल फॉर्म है। RAS का पूरा नाम राजस्थान प्रशासनिक सेवा होता है और इसी अंग्रेजी में Rajasthan Administrative Services कहते हैं।

RAS बनने के लिए जरूरी योग्यता

जो उम्मीदवार आर ए एस बनने के लिए तैयारी कर रहा है। उम्मीदवार को कई प्रकार की योग्यता जो राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित होने वाली परीक्षा के लिए निर्धारित की गई है। उन योग्यता को पूरा करते हुए खुद को आर ए एस की परीक्षा के लिए योग्य बनाना होगा। उसके पश्चात ही विद्यार्थी आर ए एस की परीक्षा में आवेदन लगा सकेगा आर ए एस की परीक्षा के लिए जरूरी योग्यता नीचे कुछ इस प्रकार से दी गई हैः

1. आर ए एस बनने के लिए विद्यार्थी के पास परीक्षा देने हेतु योग्यता के तौर पर 12वीं कक्षा पास होने के साथ-साथ मान्यता प्राप्त विद्यालय थे बैचलर की डिग्री होना बहुत ही ज्यादा जरूरी है।

2.विद्यार्थी की उम्र 21 वर्ष न्यूनतम और अधिकतम 40 वर्ष होनी चाहिए हालांकि कई आरक्षित जाति वर्ग को आर ए एस की परीक्षा में विशेष प्रकार की छूट प्रदान करवाई जाती है।

आर ए एस कैसे बने? (RAS kaise bane in 2022)

RAS kaise bane

विद्यार्थियों के मन में आर ए एस बनने के लिए कई प्रकार के सवाल खड़े होते रहते हैं कि आर एस बनने के लिए क्या-क्या करना होता है। आर ए एस बनने के लिए विद्यार्थी को नीचे दिए गए कुछ मापदंड को पूरा करना होगा जो इस प्रकार से हैः

  • राज्य की टॉप लेवल नौकरी आर ए एस की है और राजस्थान राज्य में रहने वाले सभी लोगों के लिए RAS बनना एक गर्व की बात होती है।
  • आर ए एस बनने के लिए आपके पास Bachelor Degree होनी जरूरी है।
  • उसके पश्चात राज्य स्तर पर राजस्थान लोक सेवा आयोग के द्वारा निकाली जाने वाली भर्ती में आपको आवेदन लगाना होगा।
  • उस भर्ती की परीक्षा को पास करते हुए आपको मुख्य परीक्षा में प्रवेश करना होगा।
  • मुख्य परीक्षा पास करने के पश्चात एक इंटरव्यू की प्रक्रिया से गुजरना होगा।
  • जब आप इंटरव्यू की प्रक्रिया से गुजरते हैं और उसके पश्चात एक फाइनल मेरिट लिस्ट का निर्धारण किया जाता है।
  • यदि आप मेरिट लिस्ट में चयनित होते हैं तो आपको आर ए एस अधिकारी बनने का मौका मिलता है।
  • RAS अधिकारी बनने के लिए उम्र का निर्धारण 21 वर्ष से लेकर 40 वर्ष तक किया गया है।

यह भी पढ़ें:- BA के बाद महिलाओं के लिए सरकारी नौकरी in 2022.

आर ए एस की चयन प्रक्रिया (RAS Joining Process in Hindi)

हर परीक्षा के लिए विशेष चयन प्रक्रिया का निर्धारण पहले से ही किया जाता है और उसी चयन प्रक्रिया के आधार पर आयोजित होने वाली परीक्षा के तहत विद्यार्थियों को चयनित किया जाता है। आर ए एस बनने के लिए आर ए एस ऑफिसर के लिए एक विशेष सिलेक्शन प्रोसेस का निर्धारण किया गया है, जो कुछ इस प्रकार से है।

1. प्रारंभिक परीक्षा (Prelims)

विद्यार्थियों के लिए प्रारंभिक परीक्षा के तौर पर आर ए एस की चयन प्रक्रिया में पहला पढ़ाओ आता है। प्रारंभिक परीक्षा जो कुल 200 अंक की ऑनलाइन माध्यम पर होने वाली परीक्षा है। इस परीक्षा में 200 प्रश्न पूछे जाते हैं।

प्रत्येक प्रश्न एक नंबर का होता है और इस प्रश्न पत्र को हल करने के लिए विद्यार्थी को कुल 3 घंटे का समय मिलता है जो विद्यार्थी प्रारंभिक परीक्षा पास कर लेता है, तो उसे मुख्य परीक्षा के लिए योग्य मानते हुए अगले चरण के लिए नियुक्त किया जाता है और उसे मुख्य परीक्षा के लिए बुलाया जाता है। प्रारंभिक परीक्षा में पूछे जाने वाले सभी सवाल बहुविकल्पीय यानी ऑब्जेक्टिव टाइप के होते हैं।

2. मुख्य परीक्षा (Mains)

मुख्य परीक्षा में 1 विद्यार्थियों को मौका मिलता है जो प्रारंभिक परीक्षा पास कर चुके हैं। प्रारंभिक परीक्षा पास कर चुके विद्यार्थी मुख्य परीक्षा के लिए योग्य माने जाते हैं यह एक लिखित परीक्षा होती है और इस परीक्षा में कुल 4 पेपर आते हैं।

प्रत्येक पेपर 200 अंक का होता है यहां पर आपको ऑब्जेक्टिव टाइप का कोई भी प्रश्न देखने को नहीं मिलेगा यहां आपको हर सवाल के जवाब को विवरण के रूप में लिखकर अपने उत्तर तालिका को जमा करवाना होगा और उसके पश्चात आप की उत्तर तालिका को चेक किया जाएगा। और मुख्य परीक्षा के रिजल्ट की घोषणा कुछ समय बाद राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा की जाती है।

यदि आपका सलेक्शन मुख्य परीक्षा के रिजल्ट में हो जाता है। तो उसके पश्चात आपको अगले चरण के तौर पर चयनित किया जाता है और वह चरण विद्यार्थियों के लिए काफी कठिन भी साबित होता है, उसका नाम इंटरव्यू है।

3. इंटरव्यू (Interview)

प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा पास करने वाले विद्यार्थियों को आर ए एस के इंटरव्यू में शामिल होने का मौका मिलता है। यह आर ए एस के चयन प्रक्रिया का आखिरी पड़ाव है। जो विद्यार्थी इंटरव्यू में उपस्थित होता है और इंटरव्यू में उपस्थित होने के पश्चात आपको 100 अंक का एक इंटरव्यू पास करना होता है। यहां कुल 100 अंक होते हैं।

जिन्हें आप को सामान्य ज्ञान लॉजिक ज्ञान और कई प्रकार की अन्य तरह तरह की घटनाएं करंट अफेयर से संबंधित कहानी इंटरव्यू में पूछे जाते हैं। इंटरव्यू का कोई भी पाठ्यक्रम नहीं होता है। इंटरव्यू के मार्क्स आने के पश्चात ए फाइनल मेरिट लिस्ट की घोषणा होती है और उस मेरिट लिस्ट के आधार पर ही आर ए एस ऑफिसर का चयन विभिन्न पदों पर किया जाता है।

4. दस्तावेज सत्यापन (Document Verification)

विद्यार्थी के लिए दस्तावेज सत्यापन की प्रक्रिया फाइनल मेरिट लिस्ट में विद्यार्थी का सिलेक्शन होने के पश्चात जारी की जाती है। इस प्रक्रिया के तहत विद्यार्थी को अपने दस्तावेज को सत्यापित करते हुए जॉइनिंग लेटर हासिल करना होता है। जॉइनिंग लेटर से पहले एक मुख्य दस्तावेज सत्यापन की प्रक्रिया को जारी किया जाता है।

आर ए एस बनने के बाद क्या करें?

राजस्थान का सबसे टॉप लेवल पद r.a.s. माना जाता है। लेकिन कई लोगों का यह सवाल मुख्य रूप से रहता है कि आर ए एस बनने के पश्चात उम्मीदवार आगे क्या कर सकता है। आपको बताना चाहूंगा कि आर ए एस बनने के पश्चात आप आईएएस बन सकते हैं। आईएएस बनने के लिए विद्यार्थियों को UPSC की परीक्षा में भाग लेकर अपने चयन प्रक्रिया के तहत खुद को आईएएस ऑफिसर बनाने के लिए मेहनत करनी होगी।

आर ए एस बनने के पश्चात आर ए एस की सैलरी (RAS ki Salary in Hindi)

आर ए एस जी के राजस्थान का सबसे टॉप लेवल पद माना जाता है। यह राजस्थान का सबसे ऊंचा और सम्मानजनक पद है। इस पद पर कार्यरत उम्मीदवार को सैलरी कितनी दी जाएगी इस बारे में हर व्यक्ति जानकारी लेने की इच्छा रखता है।

r.a.s. पद पर कार्यरत उम्मीदवार को सैलरी के तौर पर प्रति महीना ₹52000 की बेसिक सैलरी दी जाएगी। उसके अलावा कई प्रकार के सरकारी भत्ते जैसे कि महंगाई भत्ता और घर किराया भत्ता भी अलग से दिया जाता है। सरकार के द्वारा शुरुआत में ₹5400 का ग्रेड पे भी आर ए एस पद पर कार्यरत उम्मीदवार को दिया जाता है।

आर ए एस की तैयारी कैसे करें?

विद्यार्थियों के मन में आर ए एस ऊंचा पद होने के साथ-साथ एक सवाल मुख्य रूप से पैदा होता है, कि हाई लेवल की परीक्षा जो राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा आर ए एस ऑफिसर के लिए आयोजित करवाई जाती है। उसकी तैयारी कैसे करनी है, तो आपको आर ए एस परीक्षा की तैयारी के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी हम आपको नीचे प्रदान करवा रहे हैं।

1. Syllabus की बेहतर जानकारी

आर ए एस परीक्षा की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों को सबसे पहले आर ए एस के सिलेबस को सही तरीके से समझना बहुत ही ज्यादा जरूरी है। आप ऑनलाइन ऑफलाइन दोनों माध्यम से आर ए एस के सिलेबस के बारे में संपूर्ण जानकारी ले सकते हैं। सबसे पहले आपको सिलेबस के एक एक पॉइंट को अच्छे से समझना होगा और उसके पश्चात सिलेबस के आधार पर आपको तैयारी करनी है।

2. टाइम टेबल के अनुसार पढ़ाई करें

आर ए एस परीक्षा की तैयारी करने वाले विद्यार्थी को अपनी पढ़ाई के लिए एक समय सारणी का निर्धारण करना होगा और उसी समय सारणी के आधार पर आपको पढ़ाई पर जोर देना है। न्यूनतम 7 से 8 घंटे आपको प्रतिदिन पढ़ाई करनी है और उसके पश्चात आपको हर हफ्ते अपने टाइम टेबल में रिवीजन के लिए टाइम निकालना है।

3. सिलेबस के अनुसार किताबें पढ़ें

सभी सब्जेक्ट की बुक खरीदकर आपको आर ए एस परीक्षा के लिए उचित तैयारी करनी है। आपको उचित तैयारी के लिए सभी विषय और संपूर्ण सिलेबस की बेहतरीन बुक खरीदनी है और उन किताबों को अच्छे से पढ़ कर आप को आर ए एस के सिलेबस के बारे में संपूर्ण जानकारी हासिल करनी होगी।

4. ऑनलाइन स्टडी करें

आर ए एस के लिए आप ऑनलाइन स्टडी भी कर सकते हैं। आर ए एस की परीक्षा में कई प्रकार के करंट अफेयर के सवाल मुख्य रूप से पूछे जाते हैं। जिनके बारे में आप ऑनलाइन स्टडी करके बेहतरीन जानकारी हासिल कर सकते हैं।

5. एनसीईआरटी की किताबें पढ़ें

इसके अलावा एनसीईआरटी की किताबें जो आठवीं से लेकर 12वीं तक है। उनमें से भी कई संभाल जो महत्वपूर्ण होते हैं। उनको पूछा जाता है। इसलिए आपको आठवीं से लेकर 12वीं तक की सभी किताबों को एक बार पढ़ना चाहिए। ताकि आप कई मुख्य सवालों को आसानी से हल कर सके।

6. पुराने प्रश्न पत्रों को पढ़ें

पुराने प्रश्न पत्र को ध्यान में रखते हुए तैयारी करें आपको आर ए एस के पुराने प्रश्न पत्रों के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए। आप को न्यूनतम 4 साल के पुराने आर ए एस परीक्षा के प्रश्न पत्रों को ढूंढना है और उनको खुद से सॉल्व करना है।

ताकि आपको अपने स्तर का आसानी से पता चल सके और आप आराम से पुराने प्रश्न पत्र के आधार पर अपने लेवल को चेक कर सकें और उसी आधार पर आपको अपने इस तरह बस और टाइम टेबल के अनुसार तैयारी करनी है।

7. Confidence के साथ तैयारी करें

कॉन्फिडेंस के साथ तैयारी करना बहुत ज्यादा जरूरी है आर ए एस बनने के लिए व्यक्ति के पास कॉन्फिडेंस होना बहुत ज्यादा जरूरी है। क्योंकि यदि आपके पास कॉन्फिडेंस नहीं है, तो हो सकता है कि आपको प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा में पास हो जाएंगे। लेकिन कॉन्फिडेंस नहीं होने के कारण आपको इंटरव्यू में कहीं न कहीं कमजोरी महसूस होगी। इसलिए आपको कॉन्फिडेंस के साथ तैयारी करनी है और सभी परीक्षाओं को अच्छे से क्लियर करना है।

निष्कर्ष

विद्यार्थी का ख्वाब हमेशा ऊंचा ही रहता है। हर विद्यार्थी जब दसवीं कक्षा या 12वीं कक्षा में पढ़ रहा होता है, तो विद्यार्थी को उंचे लेवल पर पढ़ लिख कर नौकरी हासिल करने की इच्छा रहती है। RAS जो राजस्थान का सबसे टॉप लेवल और सबसे उच्च पद माना जाता है। RAS पद पर नौकरी करने की इच्छा बहुत सारे विद्यार्थी रखते हैं।

लेकिन उच्च स्तर की पढ़ाई और उच्च स्तर के एग्जाम पेपर के कारण विद्यार्थी मुख्य परीक्षा को मुख्य रूप से पास नहीं कर पाते हैं। आर ए एस क्या होता है और RAS kaise bane? इसके बारे में आज के आर्टिकल में हमने आपको डिटेल में जानकारी दी है। हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी।

Leave a Comment