WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

12th के बाद Software Engineer कैसे बने? पूरी जानकारी 2024

अगर आप जानना चाहते हैं कि Software Engineer kaise bane तो इससे पहले आपको Software Engineer से जुड़े अन्य तथ्यों को समझना होगा। आज का समय digital युग माना जाता है और इस समय पूरी दुनिया digitalisaion की तरफ तेजी से बढ़ रही है। आज के समय में अधिकांश कार्य कंप्यूटर की मदद से संपन्न किए जाते हैं क्योंकि कंप्यूटर आज के समय की सबसे बेहतरीन क्रांतिकारी टेक्नोलॉजी साबित हो चुकी है। इसीलिए कंप्यूटर की मदद से विभिन्न प्रकार के विभिन्न क्षेत्रों के काम किए जा रहे हैं। आज के समय में लगभग प्रत्येक क्षेत्र में कंप्यूटर का उपयोग किया जा रहा है तथा प्रत्येक कार्य के लिए कंप्यूटर का उपयोग आवश्यक भी हो चुका है। ऐसी स्थिति में कंप्यूटर से संबंधित विभिन्न प्रकार के पद भी आ चुके हैं।

Computer का एक अहम हिस्सा Software भी माना जाता है क्योंकि कंप्यूटर के अंतर्गत सॉफ्टवेयर मस्तिष्क का काम करता है। जिस तरह से हमारा मस्तिष्क हमारे पूरे शरीर को नियंत्रित करता है। ठीक वैसे ही सॉफ्टवेयर किसी भी कंप्यूटर को नियंत्रित करता है। सॉफ्टवेयर की मदद से किसी भी कठिन कार्य को बहुत ही कम समय में और बिना किसी लोगों की मदद से किया जा सकता है। कंप्यूटर कुछ ही समय में बड़े-बड़े काम को आसानी से निपटा देता है। इसके अलावा विभिन्न प्रकार की नई-नई भी कंप्यूटर पर आधारित है और सभी और सॉफ्टवेयर के द्वारा नियंत्रित किया जाता है।

आज के समय में हमें दुनियाभर में लाखों और करोड़ों की संख्या में कंप्यूटर पर आधारित सॉफ्टवेयर देखने के लिए मिल जाते हैं। किसी भी सॉफ्टवेयर को किसी एक काम या एक से अधिक काम को करने के लिए बनाया जाते हैं। सॉफ्टवेयर एक विशेष तकनीकी पर आधारित होते हैं जो कंप्यूटर के अंतर्गत आता है। कंप्यूटर सॉफ्टवेयर की वजह से ही जाना जाता है। सॉफ्टवेयर एक महत्वपूर्ण हिस्सा है इसीलिए इसे कोई भी इंसान नहीं बना सकता। इसके लिए विशेष प्रकार की पढ़ाई करनी होती है और उसके अंतर्गत रुचि दिखाने वाले लोग ही Software Developer बन सकते हैं। तो आइए जानते हैं कि आप किस तरह से Software Developer बन सकते हैं।

Software Engineer कौन होते हैं? —

सॉफ्टवेयर किसी भी कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है जो कंप्यूटर के मस्तिष्क के रूप में कार्य करता है। इस सॉफ्टवेयर को जो व्यक्ति बनाता है उसे Software Engineer या Software Developer कहते हैं। Download Software को Develop करने वाला Software developer नाम से जाना जाता है। सॉफ्टवेयर को डिवेलप करने के लिए उसके अंतर्गत रुचि के अलावा उससे संबंधित ज्ञान भी होना चाहिए तथा सॉफ्टवेयर को किस काम के लिए डिवेलप कर रहे हैं। इसका भी उद्देश्य क्लियर होना चाहिए, तभी आप एक बेहतरीन सॉफ्टवेयर बना सकते हैं।

सॉफ्टवेयर के विभिन्न प्रकार हो सकते हैं क्योंकि आज के समय में लगभग प्रत्येक कार्य कंप्यूटर से किया जाता है और कंप्यूटर का महत्वपूर्ण भाग सॉफ्टवेयर है। Software ही अपनी तकनीकी के आधार पर किसी भी कार्य को कंप्यूटर की मदद से संपन्न करवाता है। किसी एक पर्टिकुलर काम के लिए सॉफ्टवेयर बनाया जाता है। इसीलिए आज के समय में हमें विभिन्न विभागों विभिन्न क्षेत्रों में तरह-तरह के कार्य करने के लिए विभिन्न प्रकार के सॉफ्टवेयर मिल जाते हैं। बड़े से बड़े काम से लेकर छोटे छोटे काम के लिए भी सॉफ्टवेयर बनाए हुए हैं।

Software Engineer के प्रकार —

आज के समय में टेक्नोलॉजी के रूप में सॉफ्टवेयर की सबसे ज्यादा डिमांड देखने को मिलती है। ऐसी स्थिति में विभिन्न प्रकार के सॉफ्टवेयर और विभिन्न प्रकार के सॉफ्टवेयर डेवलपर्स भी होते हैं, जो अपनी रूचि के आधार पर या किसी एक विशेष काम के लिए सॉफ्टवेयर का डेवलप करते हैं। दुनिया भर में आज के समय में Software Engineer इस प्रकार निम्नलिखित है —

  1. फ़्रंटेन्ड डेवलपर
  2. वीडियो गेम डेवलपर
  3. डेवलपमेंट और ऑपरेशन्स डेवलपर
  4. बैकेंड डेवलपर
  5. ऑपरेटिंग सिस्टम्स डेवलपर
  6. लैंग्वेज डेवलपर
  7. मोबाइल ऐप्स डेवलपर
  8. डाटा साइंटिस्ट
  9. डेस्कटॉप डेवलपर
  10. एम्बेडेड सिस्टम डेवलपर
  11. वेब डेवलपर

इस तरह के वर्तमान समय में विभिन्न प्रकार के क्षेत्र और विभिन्न प्रकार के कार्य के लिए Software Developer किए जाते हैं और इस प्रकार के सॉफ्टवेयर डेवलपर करने वाले व्यक्ति Software Developer कहलाते हैं। वर्तमान समय में इस तरह के सॉफ्टवेयर डेवलपर बनते हैं। इसके अलावा सॉफ्टवेयर डेवलपर के अंतर्गत आने वाली प्रत्येक डिग्री और कोर्स के लिए एक विशेष समयावधि निर्धारित की गई है, जो इस प्रकार है:

CourseYear
Diploma Course3 साल
बैचलर डिग्री3 से 4 साल
मास्टर डिग्री2 से 3 साल
पीजी डिप्लोमा कोर्स1 से 2 साल

Software Engineer बनने की योग्यता —

Software Developer कंप्यूटर और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण पद माना जाता है, जिसकी काफी महत्वता देखी जाती है। इसलिए इस पद के लिए योग्यता निर्धारित की गई है उस योग्यता के लिए भी कोर्स करने हेतु योग्यता निर्धारित की गई है। अगर आप Software Developer बनना चाहते हैं तो उसके लिए निर्धारित किए गए कोर्स को करना होगा और उसको उसके लिए भी निर्धारित की गई योग्यता इस प्रकार है —

  • Software Engineer बनने के लिए आपको कम से कम 12वीं कक्षा पास करनी होगी।
  • बारहवीं कक्षा के सभी मान्यता प्राप्त एजुकेशन बोर्ड से पास कर सकते हैं।
  • Software Developer बनने के लिए 12वीं कक्षा साइंस स्ट्रीम से ही पास करनी होगी।
  • सॉफ्टवेयर डेवलपर बनने के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त एजुकेशन यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस के तहत ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करनी होती है।
  • ग्रेजुएशन की डिग्री के अलावा सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के तहत डिग्री या डिप्लोमा का कोर्स भी कर सकते हैं।
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के तहत B.Tech/M.Tech की डिग्री प्राप्त करनी होती है।
  • सॉफ्टवेयर डेवलपर बनने के लिए इंजीनियरिंग कोर्स के तहत इंटरशिप करनी होती है।
  • प्रेशर के तौर पर किसी भी कंपनी में काम करते हुए सॉफ्टवेयर डिवेलप करने होते हैं।
  • Software Developer को अंग्रेजी भाषा का ज्ञान होना चाहिए।
  • Computer Language जैसे Coding, HTML इत्यादि आनी चाहिए।
  • सॉफ्टवेयर डेवलपर के पास अच्छी Communication Skill होनी चाहिए।
  • सॉफ्टवेयर डेवलपर को Computer और Technology के क्षेत्र में रुचि होनी चाहिए।

Software Engineer Kaise Bane?

Software Engineer Kaise Bane

Software Engineer बनने के लिए सबसे पहले आपको किसी भी मान्यता प्राप्त एजुकेशन बोर्ड से न्यूनतम 50% अंकों के साथ साइंस स्ट्रीम से 12वीं कक्षा पास करनी होगी। 12वीं कक्षा पास करने के बाद कंप्यूटर साइंस के तहत ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करनी होती है। ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करने के बाद बीटेक या एमटेक के तहत डिग्री हासिल करनी होती है इसके बाद आपको किसी शिक्षण संस्थान के तहत Software Developer बनने का कोर्स करने के लिए आवेदन करना होगा आवेदन के समय आपको Entrance Exam पास करना होता है वर्तमान समय में भारत में Software Engineering के छात्रों को JEE Main, JEE Advanced, MHT CET, OJEE, BCECE जैसे एंट्रेंस एग्जाम पास करने होते हैं।

Software Engineer बनने के लिए निर्धारित की गई योग्यता और डिग्री तथा कोर्स के साथ-साथ संबंधित जरूरी दस्तावेजों के आधार पर आप अपनी पसंदीदा भारतीय यूनिवर्सिटी क्यों ऑफिशियल वेबसाइट पर पहुंचे हैं, जिस यूनिवर्सिटी के तहत आप सॉफ्टवेयर डेवलपर का कोर्स करना चाहते हैं। Official Website पर अपना Account बनाकर Username और Password की मदद से Log On करें। अब आपको यहां पर सॉफ्टवेयर डेवलपर बनने का कोर्स चुनना होगा। कौशल्या के बाद आपके सामने आवेदन फार्म ओपन हो जाएगा। आवेदन फार्म में पहुंची हुई सभी महत्वपूर्ण जानकारी दर्ज करें तथा साथ में संबंधित जरूरी दस्तावेजों को भी Upload करें।

अब आपको आवेदन फीस के रूप में निर्धारित की गई धनराशि जो होम स्क्रीन पर दिखाई देगी, उसका ऑनलाइन ही भुगतान करना होगा तथा एक बार फिर से आवेदन फार्म में सबमिट की हुई जानकारी और दस्तावेजों की जांच करनी होगी। उसके बाद आवेदन को सबमिट कर दे। प्रत्येक यूनिवर्सिटी के अनुसार अलग-अलग एंट्रेंस एग्जाम निर्धारित किए होते हैं। जिस दिन भी आप का एंट्रेंस एग्जाम लिया जाएगा, आपको वह तारीख दे दी जाएगी। उस तारीख को आप लिखित परीक्षा के तहत इंटेंस एग्जाम दे सकते हैं। इंटेंस एग्जाम के बाद आवेदन स्वीकार किए जाते हैं और सॉफ्टवेयर डेवलपर का कोर्स करवाया जाता है। इस कोर्स को करने के बाद प्रेशर के रूप में विभिन्न कंपनियों में काम करना होता है और इस प्रकार से आपको एक Software Developer बन सकते हैं।

Software Developer Course कौनसे हैं—

Software Developer का पद एक विशेष पद होता है। इस पद पर कार्यरत व्यक्ति को किसी भी कठिन काम को सरल बनाने के लिए कंप्यूटर पर आधारित एक सॉफ्टवेयर का निर्माण करना होता है, जिसके लिए उसे विशेष डिग्री और कोर्स कर रहा होता है। उसके आधार पर वह आगे चलकर इस तरह का काम सफलतापूर्वक कर सकता है। इसके लिए निर्धारित किए गए कोर्स इस प्रकार है —

  1. B.Sc Computer Science
  2. M.Sc Computer Science
  3. B.Tech in Software Engineering
  4. Computer Science

Software Engineer के Subject List—

कार्यक्रम डिजाइन, फाइनल प्रोजेक्ट इंटरएक्टिव ग्रेडिंग, कंप्यूटर आर्किटेक्चर, वेब, सॉकेट्स, HTML, HTTP, कंप्यूटर प्रोग्रामिंग, कंप्यूटर सिस्टम विश्लेषण, रेगुलर एक्सप्रेशन, यूनिट परीक्षण‌सर्वलेट्स, जेट्टी, कुकीज, सेशंस, हार्डवेयर के मूल सिद्धांत,‌ अकादमिक स्किल्स फॉर कंप्यूटिंग, फाइल आईओ, एक्सेप्शन हैंडलिंग वीक, डाटा स्ट्रक्चर्स, ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग वीक, इनहेरिटेंस, इंटरफेससवीक, डिबगिंग, लॉगिंग वीक, मल्टीथ्रेडिंग बेसिक्स, डेटाबेस, एसक्यूएल, और जेडीबीसी, प्रोफेशल अवेयरनेस , मैथमेटिक्स फॉर कंप्यूटिंग, इंट्रोडक्शन, टू डेटाबेस, उन्नत मल्टीथ्रेडिंग।

Software Engineer Course के लिए शिक्षण संस्थान —

भारत में वर्तमान समय में आधुनिक टेक्नोलॉजी से संबंधित विभिन्न प्रकार के कोर्स करवाए जाते हैं, जिनमें सॉफ्टवेयर डेवलपर बदलने का कोर्स भी शामिल है। भारत के विभिन्न राज्यों और शहरों के अंतर्गत स्थित शिक्षण संस्थान से आप Software Developer बनाने का कोर्स कर सकते हैं। भारत के कुछ प्रमुख सॉफ्टवेयर डेवलपर कोर्स कराने वाले शिक्षण संस्थान के नाम इस प्रकार है —

  • गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी, कोयंबटूर
  • गवर्नमेंट पॉलिटेक्निक कॉलेज
  • गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय, दिल्ली
  • ऑक्सफोर्ड कॉलेज ऑफ साइंस बैंगलोर
  • दिल्ली विश्वविद्यालय
  • भोपाल बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, बनारस
  • नेताजी सुभाष इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी दिल्ली
  • मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज, चेन्नई
  • देवी अहिल्या विश्वविद्यालय इंदौर
  • बीएमएस कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, बैंगलोर
  • जादवपुर विश्वविद्यालय, कोलकाता
  • बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मेसरा
  • CJM यूनिवर्सिटी कानपुर

Software Engineer की Salary—

Software Developer एक महत्वपूर्ण पद होता है जिसकी वर्तमान समय में काफी ज्यादा डिमांड है। आज के समय में आप Software Developer का कोर्स करके बिना किसी कंपनी को ज्वाइन किए अपना खुद का Online एक प्रोफाइल बनाकर भी अच्छी कमाई कर सकते हैं। आज के समय में सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट की काफी जरूरत होती है। विभिन्न प्रकार की कंपनियां अपने Mobile Application और Software बनाती है तथा विभिन्न प्रकार की Website भी Software Developer बना सकते हैं।‌ आमतौर पर एक सॉफ्टवेयर डेवलपर भारत में प्रतिवर्ष आसानी से 1500000 रुपए कमा सकता है। इसके अलावा अनुभव, पद, कंपनी और क्षेत्र के आधार पर भी Software Engineer Salary निर्भर करती है।

People Also Read:-

कंप्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर क्या होता है कैसे बने?

Master of Digital Marketing क्या है?

इलेक्ट्रिकल इंजीनियर क्या है कैसे बनते हैं?

सरकारी इंजीनियर कैसे बने पूरी जानकारी?

Conclusion

Software Engineer बनकर आप भी एक बेहतरीन करियर विकल्प का चयन कर सकते हैं। आज के समय में सॉफ्टवेयर डेवलपर बनने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों के विभिन्न प्रकार के शिक्षण संस्थान कोर्स करवा रहे हैं। Software Engineer बनने के बाद बड़ी-बड़ी कंपनियां भी Hire कर सकती है और आप Online माध्यम से अपना प्रोफाइल बनाकर लोगों के लिए काम करके घर बैठे ही अच्छी कमाई कर सकते हैं। आज के इस आर्टिकल में हम आपको पूरी जानकारी के साथ विस्तार पूर्व बता चुके हैं कि Software Engineer kaise bane? उम्मीद करते हैं यह जानकारी आपको अवश्य पसंद आई होगी अगर आपका इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी प्रश्न है तो आप नीचे कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं। हम पूरी कोशिश करेंगे कि आपके द्वारा पूछे गए प्रश्न का उत्तर समय पर दे सकें।

8 thoughts on “12th के बाद Software Engineer कैसे बने? पूरी जानकारी 2024”

  1. Sir Mai ravikant kumar Mai ek software engineer Banna Mera junun Hai lekin Mera 12th Mai Jo subject Hai art Hai jisme geography political science history Hindi or English ye sab subject Hai
    Or ham inke alawa computer course CTTC Kiya Hua hoo to Kya Mai software engineer ban sakta hoo

    Reply
  2. Sir me Rahul kumar me ek software engineer banana chahata hu sir mene 12 th pcm se kiya hai par sir meri graduation B.sc pcm se hai computer science ki jagah kya sir b.sc pcm se ban sakate hai kya software engineer please sir agar esake bare me apako patao ho to ap bataye please

    Reply

Leave a Comment