WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

STET Kya Hai? | STET Full Form से Salary तक पूरी जानकारी।

Education के इस जमाने में अधिकांश युवाओं को पता ही नहीं है कि कौन सी परीक्षा देने से क्या बनते हैं या किसी पद पर नियुक्त होने के लिए कौन-कौन सी परीक्षा देनी होती हैं?  आज के समय में अधिकांश रूप से युवा वर्ग टीचर बनने के लिए प्रयत्न कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में उन्हें जान लेना चाहिए कि टीचर बनने के लिए कौन-कौन सी परीक्षा होती है और किस परीक्षा के अंतर्गत किस तरह से टीचर बनते हैं तथा कौन सा टीचर बनने के लिए कौन सी परीक्षा देनी होती है? इस बारे में आपको पता होना चाहिए। आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि विशेष रुप से किसी भी विशेष राज्य के अंतर्गत टीचर बनने के लिए उस राज्य के द्वारा ही परीक्षा का आयोजन करवाया जाता है। यह एक से अधिक प्रकार की भी परीक्षा हो सकती है।

आमतौर पर किसी भी राज्य में शिक्षक बनने के लिए जिस परीक्षा का आयोजन करवाया जाता है उसे STET कहते हैं। इसके अलावा अलग-अलग राज्यों के अनुसार अलग-अलग पर एक साथ ही निर्धारित की गई है। लेकिन यह शिक्षक बनने के लिए रजिस्टर की एक परीक्षा है जो आमतौर पर सभी राज्यों में आयोजित करवाई जाती है। आज के समय में इस परीक्षा के अंतर्गत शिक्षक बनाने की तैयारी करने वाले छात्रों की संख्या लाखों ही नहीं बल्कि करोड़ों में है। ऐसी स्थिति में आपको STET के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से प्राप्त कर लेनी चाहिए ताकि यह परीक्षा पास करते समय आपको कठिनाई ना हो।

आज के समय का अधिकांश युवा वर्ग शिक्षक बनने का सपना देखता है। वह शिक्षक बनने के लिए आयोजित होने वाली सभी परीक्षाओं को एक समान ही मानता है, लेकिन ऐसा नहीं होता है क्योंकि प्रत्येक परीक्षा को एक अलग बोर्ड द्वारा आयोजित करवाया जाता है तो उसका बोर्ड में अलग होता है। उस परीक्षा के अंतर्गत प्रश्न पत्र, विषय, अंक, समय इत्यादि अलग-अलग निर्धारित किया हुआ होता है। इसके अलावा उच्च शिक्षा के अंतर्गत मेरिट लिस्ट भी अलग से निर्धारित होती है। ऐसी स्थिति में अगर आप वास्तविक रूप से शिक्षक बनना चाहते हैं तो आपको STET के बारे में पूरी जानकारी विस्तारपूर्वक पता कर लेनी चाहिए। इस आर्टिकल में हम आपको STET Exam के बारे में बता रहे हैं।

STET Kya Hai? —

STET Kya Hai STET Full Form

STET एक राज्यस्तरीय परीक्षा है, जिसका आयोजन शिक्षक बनने की नियुक्ति के लिए करवाया जाता है। इस परीक्षा का आयोजन राज्य सरकार द्वारा 1 वर्ष में दो बार करवाया जाता है। STET का full form State Teacher Eligibility Test होता है जिस का हिंदी में अर्थ जाने तो “राज्य शिक्षक पात्रता परीक्षा” होता है। राज्य सरकार द्वारा शिक्षक बनने के लिए आयोजित करवाई जाने वाली यह एक सामान्य परीक्षा है जो भारत के प्रत्येक राज्य में आयोजित करवाई जाती है। अगर आपको भी शिक्षक बनाना चाहते हैं तो आपको यह परीक्षा पास करनी होगी। आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं कि इस परीक्षा से कक्षा 1 से लेकर कक्षा 8 तक के शिक्षक की नियुक्ति की जाती है।

वर्तमान समय में भारत की बढ़ती जनसंख्या की वजह से आज के समय में हमें लगभग प्रत्येक सेक्टर में बहुत बड़ा कंपटीशन देखने को मिलता है। इस प्रतिस्पर्धा के कारण प्रत्येक क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए काफी मेहनत करनी होती है। बिज़नस के बाद आज के समय में सबसे अधिक प्रतिस्पर्धा सरकारी नौकरियों में देखने को मिलती है क्योंकि भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा जनसंख्या वाला देश है तथा यहां की शिक्षा प्रणाली की वजह से अधिकांश युवा सरकारी नौकरी चाहते हैं। ऐसी स्थिति में यहां पर काफी ज्यादा प्रतिस्पर्धा देखने को मिलती हैं। इस प्रतिस्पर्धा से निकलने के लिए आपको सही दिशा में मेहनत करके अच्छी तरह से पढ़ाई करनी होगी, तभी आप शिक्षक बन पाएंगे।

STET के लिए योग्यता (STET Eligibility in Hindi 2023)—

वर्तमान समय की प्रतिस्पर्धा इस हद तक बढ़ चुकी है कि आपको किसी भी परीक्षा देने के लिए भी अपनी योग्यता सिद्ध करनी होगी, उसके बाद ही आप उस परीक्षा को दे सकते हैं। ठीक उसी प्रकार STET की परीक्षा देने के लिए भी आपको अपनी योग्यता सिद्ध करनी होगी। अपनी योग्यता सिद्ध करने के बाद ही आप इस परीक्षा को दे सकते हैं। STET परीक्षा के लिए निर्धारित की गई योग्यता इस प्रकार है —

  • STET परीक्षा के अंतर्गत 2 पेपर होते हैं दोनों की ही अलग योग्यता निर्धारित की गई है।
  • पेपर 1 के अंतर्गत परीक्षा देने के लिए विद्यार्थी का कम से कम 12वीं कक्षा पास होना जरूरी है।
  • इस पेपर के अंतर्गत विद्यार्थी के 12वीं कक्षा में कम से कम 50% अंक प्राप्त होना अनिवार्य है।
  • बारहवीं कक्षा के अलावा विद्यार्थी के पास 2 साल का डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन होना चाहिए।
  • 2 साल का डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन नहीं है तो विद्यार्थी को 12वीं कक्षा में 50% अंकों के साथ 4 साल का बैचलर ऑफ एलिमेंट्री एजुकेशन होना चाहिए।
  • विद्यार्थी 12वीं कक्षा में 50% अंकों के साथ 2 साल का डिप्लोमा इन एजुकेशन के साथ भी अपनी योग्यता सिद्ध कर सकता है।
  • STET परीक्षा के अंतर्गत पेपर 2 के लिए Graduation के साथ 2 साल का डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन निर्धारित किया गया है।
  • इसके अलावा 50% अंकों के साथ बैचलर की डिग्री और b.ed होना जरूरी है।
  • paper-2 देने के लिए विद्यार्थी 12वीं कक्षा में 50% अंकों के साथ Bachelor in Elementary Education (B.EL.ED) से भी योग्यता सिद्ध कर सकता है।
  • STET परीक्षा देने के लिए इन सभी एजुकेशन क्वालिफिकेशन के अलावा विद्यार्थी की आयु कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए और अधिकतम आयु सीमा निर्धारित नहीं की गई है।
  • STET Exam देने की कोई Limit निर्धारित नहीं की गई है आप जितनी बार चाहे, उतनी बार इस परीक्षा को दे सकते हैं।

STET Exam Pass करने के लिए Marks—

इस परीक्षा को पास करने के लिए भी मार्च निर्धारित किए गए हैं इसके अलावा प्रतिशत भी निर्धारित किए गए हैं यह आंकड़ा वर्ग के अनुसार हैं जिसमें आरक्षित वर्ग को अतिरिक्त फायदा मिलता है इस परीक्षा को पास करने के लिए निर्धारित अंक और प्रतिशत इस प्रकार हैं —

  • STET परीक्षा को पास करने के लिए SC/ST/OBC वर्ग के छात्रों को 55% मार्क्स प्राप्त करना होगा।
  • STET परीक्षा को पास करने के लिए SC/ST वर्ग के विद्यार्थियों को 150 में से 82 अंक हासिल करना होगा।
  • STET परीक्षा को पास करने के लिए OBC विद्यार्थियों को 150 में से 82 अंक प्राप्त करना होगा।
  • सामान्य वर्ग के विद्यार्थियों को STET परीक्षा पास करने के लिए कम से कम 60% मार्क्स होना चाहिए।
  • STET परीक्षा पास करने के लिए सामान्य वर्ग के विद्यार्थियों को 150 अंकों में से 90 अंक प्राप्त करना अनिवार्य है।

इस परीक्षा में Negative Marking सिस्टम नहीं है यानी अगर आप किसी प्रश्न का गलत उत्तर दे देते हैं, तो उसके बदले में marks नहीं काटा जाएगा। STET परीक्षा को आप अपनी भाषा में दे सकते हैं यानी कि यह परीक्षा 20 भाषाओं में उपलब्ध है। इस परीक्षा का आयोजन offline करवाया जाता है जो कि हर वर्ष जुलाई और दिसंबर के महीने में होता है। इसके अलावा STET की degree केवल 7 साल के लिए मान्य होती है। STET परिक्षा दो प्रकार की होती है। पहली परीक्षा को पेपर 1 कहते हैं जबकि दूसरी परीक्षा पेपर 2 कहते हैं।  पेपर -1 उन उम्मीदवार के लिए होता है, जो कक्षा -1 से लेकर कक्षा -5 तक के बच्चों को पढ़ाते हैं। पेपर -2 उन उम्मीदवार के लिए होता है, जो कक्षा -6 से लेकर कक्षा -8 तक के बच्चों को पढ़ाते हैं।

STET शिक्षक की सैलरी कितनी होती है? —

वैसे तो लोग अच्छी सैलरी और विभिन्न प्रकार की सुविधाओं की वजह से ही सरकारी नौकरी करना चाहते हैं। सरकारी नौकरी के तहत छुट्टियां, वेतन इसके अलावा विभिन्न प्रकार की सुविधाएं मिलती है। अगर हम बात करें शिक्षक के 2 शिक्षक को उसके पद के अनुसार वेतन दिया जाता है। बड़े-बड़े टीचर्स को हर महीने लाखों रुपए सैलरी भी मिलती है। लेकिन प्राथमिक विद्यालय के शिक्षकों को इतनी सैलरी नहीं मिलती है। कक्षा – 1 से लेकर कक्षा – 5 तक के बच्चों को पढ़ाने वाले शिक्षक को हर महीना 35000 – 37000 रूपये वेतन मिलता है। जबकि कक्षा – 6 से लेकर कक्षा – 8 तक के बच्चों को पढ़ाने वाले शिक्षकों को हर महीने 43000 – 46000 रूपये वेतन मिलता है।

People Also Read:-

सरकारी अध्यापक कैसे बने संपूर्ण जानकारी?

अतिथि (Guest Teacher) अध्यापक कैसे बनते हैं full details in Hindi?

Arts में पढ़ाई करने के बाद कौन से करियर options होते हैं?

TET, Ctet, Uptet, Ptet, Htet और Super TET इन सब में क्या अंतर है?

TET क्या होता है और TET के लिए क्या-क्या क्वालिफिकेशन चाहिए?

Conclusion

वैसे तो आज के समय में शिक्षक की वैल्यू काफी ज्यादा है। लेकिन अगर शिक्षक सरकारी नौकरी के तहत काम करता है तो समाज में उसकी वैल्यू और भी अधिक बढ़ जाती है। इसके अलावा अच्छी सैलरी छुट्टियां और विभिन्न प्रकार की सरकारी सुविधाएं मिलती है। इसीलिए आज के समय में अधिकांश युवा सरकारी नौकरी चाहते हैं और शिक्षक बनने वाले युवा भी सरकारी शिक्षक बनना चाहते हैं। प्रत्येक राज्य के अनुसार सरकारी शिक्षक भर्तियां विभिन्न प्रकार की होती है लेकिन एक भर्ती STET की होती है, जो भारत के सभी राज्यों में राज्य स्तरीय शिक्षक भर्ती है। इस परीक्षा को दो पेपर के तहत आयोजित करवाया जाता है जिससे कक्षा 1 से लेकर कक्षा 8 तक के विद्यार्थियों को पढ़ाने वाले शिक्षक बनते हैं। अधिक जानकारी इस आर्टिकल में विस्तार पूर्वक बताई गई है। हमें उम्मीद है यह जानकारी आपको जरूर पसंद आएगी? अगर आपका इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी प्रश्न है? तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं।