WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

यूजीसी नेट सिलेबस की पुरी जानकारी | UGC NET Syllabus 2024 in Hindi

वैसे तो यूजीसी की अधिकारी वेबसाइट के जरिए आप पूरा सिलेबस निकाल सकते हैं। इसके बाद अगर आपको किसी तरह की समस्या आ रही है तो आज के आर्टिकल में हम आपको UGC NET Syllabus in Hindi के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे हैं। इसमें बहुत सारे विषय सम्मिलित होते हैं जिनकी तैयारी करनी होती है इसके बाद यूजीसी का एग्जाम देना होता है।

जब हम किसी भी परीक्षा की तैयारी करते हैं तो उसके बारे में पाठ्यक्रम जानना बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है। इसके बाद ही आप उस पेपर की तैयारी कर सकते हैं। आपको बता दे कि यूजीसी नेट की परीक्षा दो चरणों में विभाजित की जाती है। आईये आपको यूजीसी नेट सिलेबस 2023 के बारे में संपूर्ण जानकारी देते हैं।

यूजीसी नेट सिलेबस Paper-1, Paper-2 विस्तार पूर्वक (UGC NET Syllabus in Hindi 2024)

UGC NET Syllabus in Hindi

यूजीसी नेट सिलेबस पेपर – 1

सबसे पहले हम आपके पेपर 1 के बारे में पूरी जानकारी देते हैं कि इसमें आपको कौन-कौन से विषय की तैयारी करनी होती है और इसमें किस-किस से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

शिक्षण योग्यता

सबसे पहले विषय आता है शिक्षक योग्यता। इसमें कॉन्सेप्ट, उद्देश्य, शिक्षक के स्तर, विशेषताएं और मूल ज़रूरतें इन सभी के बारे में पढ़ाई करनी होती है। इसी के साथ-साथ छात्रों की विशेषताएं किशोर और वयस्क छात्रों के लक्षण व्यक्तिगत अंतर, शिक्षक, शिक्षार्थी सपोर्ट, मैटेरियल, शिक्षक सुविधा, सीखने का माहौल, संस्थान से संबंधित शिक्षक को प्रभावित करने वाले कारण, उच्च शिक्षण संस्थानों में पढ़ने का तरीका, शिक्षक सहायता प्रणाली, मूल्यांकन प्रणाली, इन सभी के बारे में संपूर्ण जानकारी दी जाती है।

Research Aptitude

इसमें रिसर्च से लेकर जैसे कि अर्थ, प्रकार, लक्षण, अनुसंधान के लिए प्रत्यक्ष वाद और उत्तर दृष्टिकोण और रिसर्च के तरीके थीसिस और आर्टिकल राइटिंग इन सभी के बारे में पूरी जानकारी दी जाती है।

कंप्रीहेंशन

इसमें आपको एक पैसेज दे दिया जाता है और उसी से संबंधित आपसे प्रश्न भी पूछे जाते हैं।

संचार

इसमें संचार के अर्थ, प्रकार और विशेषताएं। इसी के साथ प्रभावी संचार मौखिक और गैर मौखिक, अंतर सांस्कृतिक और ग्रुप कम्युनिकेशन, क्लासरूम, कम्युनिकेशन, प्रभावी संचार के लिए बाधाएं, मास मीडिया और सोसाइटी मतलब जहां से आप संचार कर सकते हैं उन सभी के बारे में संपूर्ण जानकारी दी जाती है।

मैथमेटिकल रीजनिंग एंड एप्टीट्यूड

यहां पर रीजनिंग के प्रकार जैसे नंबर, सीरीज, लेटर, सीरीज कोड और संबंध इसके बाद मैथमेटिकल एप्टीट्यूड अंश, समय और दूरी, अनुपात, अनुपात और प्रतिशत, लाभ और हानि, ब्याज और छूट इन सभी के बारे में पूरी जानकारी दी जाती है।

लॉजिकल रीजनिंग

यहां पर आपको आरगुमेंट की संरचना को समझना, आरगुमेंट फॉर्म, स्पष्ट प्रस्ताव की संरचना, मनोदशा और चित्र औपचारिक और अनौपचारिक, पाटन भाषा का उपयोग और भी कई चीजों के बारे में बताया जाता है और वेन डायग्राम इंडियन लॉजिक इन सभी के बारे में संपूर्ण जानकारी दी जाती है।

डाटा इंटरप्रिटेशन

यहां पर डाटा के स्रोत अधिग्रहण और वर्गीकरण मात्रात्मक और गुणात्मक डाटा ग्राफिकल रिप्रेजेंटेशन डाटा, डाटा इंटरप्रिटेशन का मानचित्र डेटा और शासन इन सभी के बारे में जानकारी दी जाती है।

सूचना और संचार प्रौद्योगिकी

इसे आप आईसीटी के नाम से भी जानते हैं। इसमें सामान्य दृष्टिकोण और शब्दावली इंटरनेट की मूल बात इंटरनेट ईमेल ऑडियो और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग उच्च शिक्षा में डिजिटल पहल आईसीटी और शासन के बारे में पूरी की पूरी जानकारी दी जाती है।

नागरिक विकास और पर्यावरण

विकास और पर्यावरण, मिलेनियम डेवलपमेंट और सतत विकास लक्ष्य मानव और पर्यावरण संवाद पर्यावरण के मुद्दे स्थानीय क्षेत्रीय और वैश्विक जिसमें वायु प्रदूषण, जल प्रदूषण, मृदा प्रदूषण, शोर प्रदूषण, इन सभी के बारे में संपूर्ण जानकारी दी जाती है। इसके बाद प्राकृतिक और ऊर्जा संसाधन जैसे पवन मिट्टी, जल, भूतापीय, बायोमास, परमाणु इन सभी के बारे में भी बताया जाता है। इसके बाद प्राकृतिक खतरे और आपदाएं। इसमें पर्यावरण, संरक्षण अधिनियम, जलवायु, परिवर्तन और भी कई चीजों के बारे में जानकारी दी जाती है।

उच्च शिक्षा प्रणाली

प्राचीन भारत में उच्च शिक्षा और शिक्षा के संस्थान आजादी के बाद के भारत के उच्च शिक्षा और अनुसंधान का विकास भारत में ओरिएंटल पारंपरिक और गैर पारंपरिक शिक्षा कार्यक्रम व्यावसायिक तकनीकी और कौशल आधारित शिक्षा। इसी के साथ मूल्य शिक्षा और पर्यावरण शिक्षा, नीतियों शासन और प्रशासन इन सभी के बारे में संपूर्ण जानकारी दी जाती है।

यूजीसी नेट सिलेबस 2024

पेपर 1 और पेपर 2 में अलग-अलग अंकों के आधार पर प्रश्न दिए जाते हैं। NDA द्वारा यूसीजी नेट के जरिए शिक्षा और अनुसंधान कार्य के लिए उम्मीदवार के न्यूनतम मानक अंक से ही इस बात को सुनिश्चित किया जाता है।

UGC NET पेपर का जो पहले सिलेबस होता है उसमें उम्मीदवार के शिक्षक और अनुसंधान क्षमता की जांच की जाती है। यह उम्मीदवारों की संज्ञानात्मक क्षमता उच्च प्रणाली शिक्षा में शिक्षक और सीखने की प्रक्रिया और लोगों के बीच किस प्रकार संपर्क है और पर्यावरण से संबंधित सामान्य जागरूकता इन सभी का परीक्षण होता है।

इसी के साथ दूसरे यूजीसी नेट पेपर में उम्मीदवार के पसंद के विषय पर उन्हें प्रश्न दिए जाते हैं। यह पेपर संबंधित विषय में आवेदक के गहन ज्ञान और विशेषज्ञता को मापता है।

यूजीसी नेट सिलेबस में मार्किंग स्कीम

यूजीसी नेट के पेपर 1 में सभी उम्मीदवारों के लिए सामान और अनिवार्य अंक होते हैं। इसी के साथ पेपर-2 में अलग-अलग विषयों के लिए अलग-अलग नंबर दिए जाते हैं।

  • यूजीसी के नेट पेपर 1 में कुल 50 प्रश्न बहुविकल्पीय होते हैं।
  • इसी के साथ हर प्रश्न दो अंक का होता है।
  • पेपर 1 के यूजीसी नेट में 10 यूनिट होती है।
  • सभी यूनिट में से पांच प्रश्न पूछे जाते हैं जिनको कुल मिलाकर 50 प्रश्न हो जाते हैं।

यूजीसी नेट पेपर 2 के लिए सिलेबस

जो उम्मीदवार यूजीसी नेट पेपर 2 के लिए चुने जाते हैं उनका आधार इस प्रकार होता है।

  • सबसे पहले तो उसमें कुल विषय की संख्या 84 है।
  • 84 विषय में से उम्मीदवार को एक विषय का चुनाव करना होता है।
  • पेपर 2 में केवल वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न ही सम्मिलित होते हैं।

यूजीसी नेट परीक्षा का पैटर्न

यूजीसी नेट का आयोजन राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी द्वारा किया जाता है और इसका निम्नलिखित पैटर्न होता है।

  • पेपर 1 और पेपर 2 दोनों ही ऑनलाइन मोड पर आयोजित होते हैं।
  • पेपर 1 और पेपर 2 दोनों में ही वस्तुनिष्ठ प्रकार के मतलब MCQ के प्रश्न किए जाते हैं।
  • इसी के साथ पेपर 1 में 50 प्रश्न होते हैं और पेपर 2 में 100 प्रश्न होते हैं।

यूजीसी नेट का प्रश्न पत्र

अगर आप पिछले वर्ष के पेपर सर्च कर रहे हैं तो आपको यूजीसी नेट के अधिकारी वेबसाइट पर सभी प्रश्न पत्र मिल जाते हैं। यूजीसी नेट के पिछले वर्ष के पेपर नेट की तैयारी करने के लिए सबसे बेहतर स्रोत होता है। उन्हें हल करने से आपको परीक्षा पैटर्न, परीक्षा स्तर में कठिनाई स्तर और लोकप्रिय विषयों की समाज अच्छी प्रकार से हो जाती है। एनडीए यूजीसी नेट सिलेबस के आधार पर यूजीसी नेट मॉक टेस्ट की सुविधा भी देता है। मॉक टेस्ट से आपको तैयारी करने में सहायता मिलती है।

यूजीसी नेट के लिए Admit Card

अगर आपने यूजीसी नेट के लिए आवेदन किया है तो एडमिट कार्ड परीक्षा के लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है। अगर आप एडमिट कार्ड प्राप्त करना चाहते हैं तो अधिकारी वेबसाइट ugcnet.nta.nic.in पर जाकर ऑनलाइन निकाल सकते हैं। अगर आप एडमिट कार्ड को डाउनलोड करना चाहते हैं तो इसके लिए आवेदन संख्या और जन्मतिथि का उपयोग करके लोगों कर लें। परीक्षा के दिन अपने एडमिट कार्ड का प्रिंटआउट और फोटो, पहचान पत्र जैसे की वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट इन सभी के साथ आप परीक्षा केंद्र पर जाकर परीक्षा दे सकते हैं।

यूजीसी नेट परीक्षा की समय अवधि

जब आप परीक्षा देने जाते हैं तो इसके बारे में यह भी पता होना चाहिए कि वह परीक्षा कितने समय की है इसीलिए हम आपको बता दें कि यूजीसी नेट परीक्षा की समय अवधि 3 घंटे की होती है। जिसमें आपको 150 प्रश्न करने होते हैं 50 प्रश्न 100 अंक के होते हैं और 100 प्रश्न 200 अंक के होते हैं मतलब कुल मिलाकर आपको 300 अंक की परीक्षा देनी होती है।

People Also Read:-

UGC NET और CSIR NET में क्या अंतर है?

नेट और JRF में क्या अंतर होता है?

नेट जेआरएफ क्या है पूरी जानकारी

बिना कोई निवेश करें Online पैसा कैसे कमाए?

FAQ:-

यूजीसी नेट परीक्षा की तैयारी किस प्रकार की जा सकती है?

उम्मीदवार यूजीसी नेट क्रैक करने के लिए यूजीसी नेट की तैयारी सुझाव के अनुसार और अध्ययन की योजना बनाकर कर सकते हैं।

क्या हर साल यूजीसी नेट का सिलेबस अपडेट होता है?

जी नहीं, यूजीसी नेट का सिलेबस हर साल लगभग एक जैसा ही होता है। केवल उम्मीदवार को अपडेट करने की इसीलिए सलाह दी जाती है ताकि अगर कोई अपडेट हो तो वह देख सके।

यूजीसी नेट कितने विषय के लिए आयोजित होता है?

यूजीसी नेट का आयोजन 84 से अधिक विषयों पर किया जाता है।

क्या यूजीसी नेट सिलेबस दोनों पेपर के लिए अलग-अलग होता है?

जी हां, यूजीसी नेट पाठ्यक्रम दोनों ही पेपर के लिए अलग-अलग होता है। पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए आर्टिकल को देखें।

यूजीसी नेट के लिए कितने प्रयास स्वीकार्य होते हैं?

आप अपनी उम्र के 30 वर्ष तक यूजीसी नेट के लिए पंजीकरण कर सकते हैं क्योंकि इसकी अधिगम सीमा 30 वर्ष होती है। इसी के साथ सहायक प्रोफेसर की स्थिति के लिए कोई भी उम्र निर्धारित नहीं है।

निष्कर्ष

उम्मीद करते हैं आपको हमारी UGC NET Syllabus in Hindi से जुड़ी जानकारी पसंद आई होगी। अगर आप भी UGC NET की तैयारी करना चाहते हैं तो उसके विषय में संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना अनिवार्य है और संपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के बाद ही आप यूजीसी नेट की तैयारी कर सकते हैं। इस आर्टिकल को उन दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जो यूजीसी नेट की तैयारी कर रहे हैं या करना चाहते हैं, धन्यवाद।

1 thought on “यूजीसी नेट सिलेबस की पुरी जानकारी | UGC NET Syllabus 2024 in Hindi”

  1. I loved you better than you would ever be able to express here. The picture is beautiful, and your wording is elegant; nonetheless, you read it in a short amount of time. I believe that you ought to give it another shot in the near future. If you make sure that this trek is safe, I will most likely try to do that again and again.

    Reply

Leave a Comment