VDO Kaise Bane | ग्राम विकास अधिकारी बनने की सम्पूर्ण जानकारी

अगर आप गांव के विकास में अपना योगदान चाहते हैं तो VDO यानी कि ग्राम विकास अधिकारी बन सकते हैं। अगर नहीं पता कि VDO क्या होता है? और VDO kaise bane? तो आज के लेख में VDO के बारे में सभी जरूरी जानकारी आपको मिलेगी। ग्राम विकास अधिकारी से जुड़े कई ऐसे सवाल जो आपके मन में उठ रहे होंगे जैसे VDO full form क्या है, VDO क्या होता है, VDO कैसे बने, VDO बनने के लिए क्या-क्या योग्यता चाहिए और ग्राम विकास अधिकारी के क्या कार्य होते हैं आदि।

दोस्तों सरकारी नौकरी का नाम आते ही हमारे सामने बड़े-बड़े पदों के नाम आने लगते हैं जैसे IAS और IPS और SP आदि लेकिन इन पदों के अलावा भी बहुत से पद ऐसे हैं अच्छे वेतन के साथ मान-सम्मान भी पूरा मिलता है। कियोंकि VDO की पोस्टिंग गावों में होती है तो गावों के विकास के कामों में लोगों का पूरा सपोर्ट भी मिलता है। इस ब्लॉग पोस्ट में वीडियो से जुड़ी हर संभव जानकारी बहुत ही सरल तरीके से देने की कोशिश करेंगे। तो चलिए दोस्तों और अच्छे से समझते हैं कि VDO क्या होता है और VDO kaise bane?

VDO क्या होता है? (VDO Kya Hota Hai in Hindi)

VDO Kaise Bane

VDO ग्राम पंचायत में पंचायत सचिव का पद होता है जिसे हम आम बोलचाल की भाषा में प्रधान सचिव भी कहते हैं। Village Development Officer अपने अवधि के दौरान सरकारी Schemes को ग्राम पंचायत तक लागू करवाता है। सरकार द्वारा जब किसी परियोजना को लांच किया जाता है तो उस परियोजना को आम लोगों तक पहुंचाने के लिए ग्राम अधिकारियों की जरूरत पड़ती है। कोई भी सरकारी Scheme का लाभ सभी लोगों तक पहुंचाने के लिए उसको पंचायती स्तर तक बांटना पड़ता है।

ग्राम विकास अधिकारी का पद बड़ा होने के साथ ही जिम्मेदारी भरा होता है जिसमें गांव के विकास की व्यवस्था इनको सौंपी जाती है। गांव के विकास में होने वाली कोई समस्या या अविकसित व्यवस्था का भार VDO पर होता है जैसे कि शिक्षा, बिजली, पानी और मार्ग संबंधी व्यवस्था Village Development Officer द्वारा करवाई जाती है। सिर्फ इतना ही नहीं सरकार द्वारा लाई गई नई परियोजना का काम जमीनी स्तर तक करवाने के लिए VDO को बहुत मेहनत करनी होती है।

VDO के पद पर कार्यरत होने के बाद अधिकारी गांव के लोगों के साथ मिलकर विकास के कामों को और ज्यादा गति प्रदान करते हैं और एक गांव को विकसित बनाते हैं।

VDO Full Form in Hindi/English

VDO का फुल फॉर्म “Village Development officer” और हिंदी में “ग्राम विकास अधिकारी” होता है।

ग्राम विकास अधिकारी और ग्राम सेवक में क्या अंतर है?

VDO या ग्राम विकास अधिकारी और ग्राम सेवक में कोई फर्क नहीं है बल्कि यह एक बदला हुआ पदनाम है जो राज्य सरकार द्वारा ग्राम सेवक से ग्राम विकास अधिकारी कर दिया गया। दोनों पदों की सेवा और शर्तें बराबर हैं यानि कि कोई परिवर्तन नहीं है। VDO को ही हम ग्राम सेवक, प्रधान सचिव और पंचायत सचिव आदि नामों से संबोधित करते हैं।

ग्राम विकास अधिकारी / VDO कैसे बने in 2022

अगर आप सोच रहे हैं कि VDO kaise bane तो हम आपको बता दें कि ग्राम विकास अधिकारी की भर्ती हर साल राज्य लोक सेवा द्वारा आयोजित करवाई जाती है, जिसमें आपको सफल होना होगा। यह परीक्षा तीन पारियों में होती है जिसमें Written Exam, Interview और Physical Test शामिल होते हैं। इन तीन पड़ाव को क्लियर करने के बाद आप Village Development Officer के पद को प्राप्त कर सकते हैं।

राज्य लोक सेवा द्वारा हर साल VDO के पदों के लिए फॉर्म निकाले जाते हैं जिनको भरकर आप इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं। ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए अभ्यर्थी को लिखित परीक्षा की तैयारी के साथ-साथ फिजिकल टेस्ट का अभ्यास भी करते रहना होगा ताकि First Attempt में क्लियर हो सके।

ग्राम विकास अधिकारी की शैक्षिक योग्यता (VDO Eligibility in Hindi)

  • 12th पास करें:- ग्राम विकास अधिकारी (VDO) बनने के लिए आपको कम से कम 50% Marks के साथ 12वीं पास करनी होगी जो किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से होनी चाहिए।
  • Computer Diploma करें:- 12वीं पास करने के बाद कोई भी Basic Computer Diploma मान्यता प्राप्त Organization से Clear कर लें।

VDO Physical Test Eligibility

Village Development Officer बनने के लिए आपकी शैक्षणिक योग्यता के साथ-साथ Physical योग्यता भी देखी जाती है। फिजिकल टेस्ट की सभी शर्तों को पूरा करने के बाद आपको VDO के पद पर कार्यरत किया जाता है जो कि निम्नलिखित हैं:

  • 1 मील की दौड़ पूरी करनी होती है।
  • 4 मील तक साइकिल दौड़ होती है।
  • लंबी कूद (Long Jump) करवाया जाता है।
  • आखिर में 2 मील तक पैदल चलना होता है।

VDO Age Limit क्या है?

विलेज Development Officer बनने के लिए अभ्यर्थी की न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम आयु 40 वर्ष तक होनी चाहिए। इस आयु सीमा के इलावा अगर अभ्यार्थी निम्न वर्ग से संबंध रखता है तो Age Relaxation का प्रावधान भी होता है। अभ्यर्थी को कोई Work Experience की जरुरत नहीं है और इसके बिना अभ्यर्थी भारतीय होना चाहिए।

VDO Interview कैसे होता है?

ग्राम विकास अधिकारी यानि कि VDO बनने के लिए अभ्यर्थी को शैक्षिक योग्यता और शारीरिक योग्यता को पास करने के साथ Interview भी लिया जाता है। VDO Interview Written Exam clear करने के बाद आयोजित होता है जो लगभग 20 मिनट तक चलता है। इन 20 मिनट के दौरान आपका परिचय, बोलचाल का ढंग, फैसला लेने की शक्ति और ग्राम विकास अधिकारी पद के विषय में कुछ सवाल-जवाब होते हैं।

VDO के लिए Required Documents

ग्राम विकास अधिकारी भर्ती में शामिल होना चाहते हैं तो आपको कुछ जरूरी documents की जरूरत पड़ेगी जिनकी जरूरत आपको Registration से लेकर Interview तक होती है। तो चलिए दोस्तों VDO required documents के बारे में जानते हैं:

  • 10th कक्षा मार्कशीट
  • 12th कक्षा मार्कशीट
  • कंप्यूटर सर्टिफिकेट (RSCIT/CCC)
  • SSO ID या आधार कार्ड
  • अभ्यार्थी की हालही की फोटो
  • अभ्यार्थी के Signature & Mobile Number

ग्राम विकास अधिकारी के क्या काम होते हैं?

ग्राम विकास अधिकारी का खास योगदान गावों के विकास में होता है, जो कि इस पद के नाम से ही पता चलता है। VDO के कार्य निम्नलिखित अनुसार होते हैं:

  • गांव में शिक्षा व्यवस्था पर ध्यान देना होता है।
  • गांव की स्वच्छता को देखना
  • गांव की कृषि  और उद्योग आदि के विकास को देखना
  • गांव में अनाज भंडारण की व्यवस्था को देखना
  • गांव की अन्य समस्याओं को हल करने में अपना योगदान देना
  • Birth Certificate, Death Certificate और Marriage Certificate आदि Registration करना
  • मार्ग और बिजली व्यवस्था का ध्यान रखना
  • गांव में होने वाली वार्षिक योजनाओं को सही तरीके से लागू करना
  • गांव की पशु व्यवस्था पर ध्यान देना
  • सरकार द्वारा चलाई गई परियोजनाओं को सही तरीके से संचालित करना होता है।

इसके अलावा ग्राम विकास अधिकारी को सरकार द्वारा सौंपी गई कई जिम्मेदारियों का पालन करना होता है, जिसमें बारिश या आंधी के मौसम में भी अपने कामों को अंजाम देना होता है।

यह भी देखें:

ग्राम विकास अधिकारी की सैलरी (VDO Salary in Hindi)

किसी भी जॉब के बारे में जानने के बाद हमारे मन में सबसे बड़ी उत्सुकता होती है उसका वेतन जिसको जानने के बाद उस पद को पाने का मोटिवेशन भी मिलता है। इसी प्रकार अब ग्राम विकास अधिकारी के बारे में जानने के बाद अब हम VDO Salary पर थोड़ी चर्चा करते हैं। यूँ तो Village Development Officer  को अच्छी खासी सैलरी मिलती है जिसके आधार पर यह पद एक अच्छा Career भी साबित होता है। एक ग्राम विकास अधिकारी का मूल वेतन लगभग 5,200 से 20,200 तक होता है।

ग्राम विकास अधिकारी को basic सैलरी के साथ भत्ते आदि भी दिए जाते हैं और NPS भी कटता है जिसके बाद VDO की Net Salary बनती है। जिसमें समय-समय पर बढ़ोतरी भी होती रहती है। VDO के पद में experience के साथ-साथ Promotion भी होता है।

निष्कर्ष:- VDO kaise bane in 2022?

तो दोस्तों इस लेख में आपने ग्राम विकास अधिकारी यानि कि VDO kaise bane के बारे में सीखा। VDO officer के बारे में अन्य महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि VDO क्या होता है, VDO Eligibility in Hindi, Selection Process, VDO के कार्य और VDO की Salary आदि के बारे में जाना। उम्मीद करते हैं कि आपको यह जानकारी मददगार लगी होगी और फिर ही कोई सवाल हो तो आप हमें निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में लिखें। अगर आपको यह लेख VDO kaise bane पसंद आया है तो इसे अपने Social Media पर Share जरूर करें, धन्यबाद।

3 thoughts on “VDO Kaise Bane | ग्राम विकास अधिकारी बनने की सम्पूर्ण जानकारी”

Leave a Comment