WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Veterinary Doctor कैसे बने? 2024 में Veterinary Scope की पूरी जानकारी।

पशु चिकित्सक (Veterinary Doctor) पशु पक्षियों का उपचार करता है जिस तरह से मनुष्यों का इलाज करने के लिए भारत और दुनिया भर में तरह-तरह के डॉक्टर पाए जाते हैं, ठीक उसी प्रकार पशु पक्षियों का इलाज करने के लिए भी डॉक्टर होते हैं उन्हें पशु चिकित्सक या पशु डॉक्टर कहते हैं। विज्ञान में पशु चिकित्सक की एक श्रेणी है, जिसके अंतर्गत पशु और पक्षियों का इलाज करवाया जाता है। आज का समय पूरी तरह से बदल चुका है आज से 500 वर्ष आज के समय की तरह अविष्कार उपचार इत्यादि कुछ भी नहीं थें, लेकिन आज मनुष्य का हर तरह से इलाज किया जाता है।

आज के समय में गंभीर से गंभीर बीमारी का इलाज कर दिया जाता है। विभिन्न प्रकार के तरीकों से हर संभव प्रयास करके मनुष्य को बचाया जाता है। इसी तकनीकी और एजाज के विस्तार के आधार पर विज्ञान आधारित पशु चिकित्सक प्रणाली भी बनाई गई है, जिसके तहत पशु एवं पक्षियों का इलाज भी करवाया जाता है। जिस तरह से मनुष्यों का इलाज करने के लिए पढ़ाई कराई जाती है। ठीक उसी प्रकार पशु पक्षियों का इलाज करने हेतु अलग तरह की पढ़ाई की जाती है क्योंकि मनुष्य का शरीर पशु पक्षियों के प्रति अलग होता है सभी मनुष्य प्राणी का शरीर एक जैसा ही है। लेकिन देश और दुनिया में लाखों एवं करोड़ों की संख्या में पशु तथा पक्षी है, ऐसी स्थिति में उनका उपचार करने के लिए शिक्षा पद्धति भी अलग-अलग है।

हमारे भारत में जहां सदियों सदियों से पशु पक्षियों की सेवा की जाती आ रही है। लेकिन विदेशों में आज के समय में लोग पशु पक्षियों के प्रति प्रेम दिखाते हैं कुछ पशु पक्षियों का पालन करते हैं। इसी आधार पर संपूर्ण दुनिया में पशु चिकित्सक प्रणाली का विस्तार हुआ है। वर्तमान समय में दुनिया भर में पशु चिकित्सक बने हुए हैं। पशुओं के अस्पताल बने हुए हैं। इसीलिए वहां पर पशुओं के उपचार के लिए शिक्षा प्रदान की जाती है। वर्तमान समय में लगभग प्रत्येक पशु पक्षी का उपचार करना संभव है। आज के समय में शिक्षा पद्धति और विकास के नए पशु पक्षियों का इलाज किया जा रहा है, तो आजकल पूरी जानकारी के साथ विस्तार से बताएंगे कि पशु चिकित्सक कैसे बनें?

पशु चिकित्सा क्या होता है? (Veterinary Doctor in Hindi)

जिस तरह से मनुष्य का इलाज करने हेतु विज्ञान में चिकित्सा की एक पद्धति है। ठीक उसी प्रकार विज्ञान के अंतर्गत पशु एवं पक्षियों का इलाज और उसका उपचार करने के लिए चिकित्सा की एक विशेष शाखा मौजूद है जिसे पशु चिकित्सा कहते हैं। मनुष्यों की तरह पशु पक्षियों में भी समय-समय पर तरह-तरह की बीमारियां उत्पन्न होती है। उन्हें भी तरह के रोग होते हैं। इसके अलावा चोट लगना घाव लगना शरीर के अंग का कटना तथा विभिन्न प्रकार की शारीरिक समस्याओं से पशु पक्षियों को बचाने के लिए विज्ञान की शिक्षा पद्धति के आधार पर इनका उपचार करने हेतु पशु चिकित्सा होती है‌।

पशु एवं पक्षियों का विभिन्न प्रकार का इलाज करने के लिए शिक्षा पद्धति को ग्रहण करना होता है। उसके बाद ही कोई भी व्यक्ति पशु चिकित्सक बनकर पशुओं का इलाज कर सकता है। आज के समय में लोग पशु और पक्षियों को काफी महत्वता दे रहे हैं इसीलिए बड़े पैमाने पर लोग पशु चिकित्सक बनना चाहते हैं। आज के समय में पशु चिकित्सक बनकर लोग एक बेहतरीन करियर विकल्प देखते हैं क्योंकि सरकार की तरफ से संपूर्ण भारत में जगह जगह पर पशु चिकित्सालय आरंभ किए गए हैं। इसके अलावा पशु चिकित्सक आने पर भी सरकार द्वारा जोड़ दिया जा रहा है। पशु चिकित्सक को अच्छी सैलरी मिलती है। इसीलिए आज के समय में अधिकांश चिकित्सक बनना चाहते हैं।

पशु चिकित्सक बनने की योग्यता (Veterinary Doctor Eligibility in Hindi 2024)

  • विद्यार्थी को कम से कम दसवीं कक्षा पास करनी होगी।
  • दसवीं कक्षा पास करने के बाद पशु चिकित्सा के क्षेत्र में diploma की डिग्री हासिल करनी होगी।
  • 12वीं कक्षा पास करने के बाद पशु चिकित्सक बनाने के लिए कम से कम 50% अंक हासिल करने होंगे।
  • बारहवीं कक्षा जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान एवं भौतिक विज्ञान के तहत पास करनी होगी।
  • पशु चिकित्सक बनने के लिए AIPVT या NEET UG entrance exam को पास करना होगा।

पशु चिकित्सक कैसे बनें? (Veterinary Doctor kaise bane)

Veterinary Doctor kaise bane

पशु चिकित्सक बनने के लिए वेटरनरी डॉक्टर की पढ़ाई हेतु भारत के विभिन्न प्रकार के विश्वविद्यालयों और शिक्षण संस्थान में आवेदन लेना होगा। यहां पर आवेदन लेने से पहले आपको एक इंटेंस एग्जाम को पास करना होगा, जिसका नाम है All India Pre Veterinary Test (ऑल इंडिया प्री वेटरनरी टेस्ट)। इस टेस्ट को पास करने के बाद आपको पशु चिकित्सक की शिक्षा के लिए अंकों के आधार पर भारत के विश्वविद्यालय एवं शिक्षण संस्थान में आवेदन मिल जाता है।

यहां पर आवेदन मिलने के बाद आपको पशु चिकित्सक बनाने के लिए एक फैसला की डिग्री हासिल करनी होगी। पशु चिकित्सक बनाने के लिए बैचलर ऑफ वेटरनरी साइंस (Bachelor of Veterinary Science) की डिग्री प्राप्त करना आवश्यक है। इस डिग्री को हिंदी में पशु चिकित्सा विज्ञान डिग्री कहते हैं जिससे डिग्री को हासिल करने के बाद Specialization या MD की शिक्षा ग्रहण करनी होगी। ऐसा करने के बाद पशु डॉक्टर बनने का रास्ता साफ हो जाता है।

पशु चिकित्सक कोई भी व्यक्ति दसवीं पास करने के बाद या 12वीं पास करने के बाद भी आसानी से बन सकता है। अगर आप शुरुआत से ही पशु चिकित्सक बनना चाहते हैं तो दसवीं कक्षा के बाद भी आप भी पशु चिकित्सक बनाने का कोर्स कर सकते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दसवीं कक्षा पास करने के बाद पशु चिकित्सक बनने का कोर्स अलग होता है जबकि 12वीं कक्षा पास करने के बाद पशु चिकित्सक बनने का कोर्स अलग होता है तो आइए जानते हैं कि दसवीं और बारहवीं कक्षा पास करने के बाद कौन-कौन से पाठ्यक्रम के तहत पशु चिकित्सक बन सकते हैं।

पशु चिकित्सक शिक्षण संस्थान में आवेदन कैसे करें?

  • आप जिस यूनिवर्सिटी से पशु चिकित्सक का कोर्स करना चाहते हैं, उसे यूनिवर्सिटी की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर अपना account बनाएं।
  • अब Username और Password की मदद से Login करें।
  • अब यूनिवर्सिटी की official website पर उस कोर्स का चयन करें, जैसे आप करना चाहते हैं।
  • अब होम पेज पर आपको संबंधित सभी शैक्षणिक योग्यता दिखा दी जाएगी।
  • अब आपके सामने आवेदन फार्म खुल जाएगा।
  • आवेदन फार्म को सही तरह से भरें तथा संबंधित दस्तावेजों को Upload करें।
  • अब प्रवेश परीक्षा के लिए Registration करें।
  • Registration करने के बाद आपका प्रवेश परीक्षा के लिए नामांकन स्वीकार हो जाएगा।
  • अब प्रवेश परीक्षा पास करके शिक्षण संस्थान में पशु चिकित्सा का कोर्स कर सकते हैं।

10वीं के बाद पशु चिकित्सक कैसे बनें?

पशु चिकित्सक बनाने के लिए दसवीं कक्षा पास करने के बाद पशु चिकित्सा में डिप्लोमा पाठ्यक्रम का चयन करके पशु चिकित्सक बन सकते हैं। दसवीं कक्षा पास करने के बाद Veterinary Doctor बनने के लिए निर्धारित किए गए सभी कोर्स को भारत के विभिन्न शिक्षण संस्थान से कर सकते हैं। जैसे– भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान बरेली। पशु चिकित्सा महाविद्यालय तमिलनाडु। श्री वेंकटेश्वर पशु चिकित्सा विश्वविद्यालय तिरुपति। पशु चिकित्सा महाविद्यालय बेंगलुरु इत्यादि देश के विभिन्न पशु चिकित्सालय संस्थान से डिप्लोमा कर सकते हैं।

इन सभी पाठ्यक्रम के अंतर्गत पशु चिकित्सा में Diploma की डिग्री प्राप्त करने के बाद ऑल इंडिया प्री वेटरनरी टेस्ट देकर पशु चिकित्सा में बैचलर डिग्री प्राप्त कर सकते हैं। दसवीं पास करने के बाद पशु चिकित्सा के अंतर्गत विभिन्न प्रकार के डिप्लोमा पाठ्यक्रम निर्धारित किए गए हैं —

  • Diploma in Veterinary Pharmacy
  • Diploma in Animal Husbandry and Dairying
  • Diploma in Veterinary Assistant
  • Diploma in Veterinary Lab Technician

12 वीं के बाद पशु चिकित्सक कैसे बनें?

12वीं कक्षा पास करने के बाद पशु चिकित्सक का सपना देख रहे विद्यार्थियों इस बारे में जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए कि 12वीं कक्षा पास करने के बाद पशु चिकित्सा कैसे बनते हैं? कौन-कौन से पाठ्यक्रम के तहत कौन सी डिग्री हासिल करनी होती है और कौन सी परीक्षा पास करने के बाद कौन-कौन से विश्वविद्यालय एवं शिक्षण संस्थान में आवेदन मिलता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 12वीं कक्षा पास करने के बाद अगर आप पशु चिकित्सक बनना चाहते हैं, तो आपको केमिस्ट्री, बायोलॉजी और फिजिक्स जैसे प्रमुख विषयों के अंतर्गत पास करनी होगी।

महत्वपूर्ण विषयों से 12वीं कक्षा पास करने के बाद देश के विभिन्न बड़े और प्रमुख शिक्षण संस्थान में आवेदन लेकर पशु चिकित्सा के अंतर्गत बैचलर की डिग्री हासिल कर सकते हैं। पशु चिकित्सा के क्षेत्र में करियर विकल्प चुनने के लिए आपको बैचलर की डिग्री के अंतर्गत विभिन्न प्रकार का पाठ्यक्रम देखने को मिलता है जिसके तहत आप पशु चिकित्सा के क्षेत्र में बैचलर की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं। पशु चिकित्सक बनने के लिए 12वीं कक्षा के पास करने के बाद निर्धारित किए गए पाठ्यक्रम निम्नलिखित हैं —

Veterinary Doctor Under Graduate Courses

  • Bachelor of Veterinary Science
  • Bachelor of Veterinary Medicine
  • Bachelor of Bio-veterinary Science
  • Bachelor of Veterinary Science in Animal Health
  • Bachelor of Veterinary Science in Bio-Veterinary (Hons)
  • Bachelor of Pre-Veterinary Medicine Science

Veterinary Doctor Post Graduate Courses

  • Veterinary Doctor
  • Masters of Veterinary Science Research
  • Masters of Veterinary Science Study And Research (Food & Technology)
  • Masters of Veterinary Science in Diagnostic Pathology
  • Masters of Veterinary Science in Conservation Medicine

भारत के मुख्य पशु चिकित्सक संस्थान —

  • भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान, बरेली
  • राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान, कर्नल
  • पशु चिकित्सा और पशु विज्ञान कॉलेज, बीकानेर
  • सरदार वल्लभभाई पटेल कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय
  • मुंबई विश्वविद्यालय, मुंबई
  • अन्नामलाई विश्वविद्यालय, चिदंबरम
  • चौधरी सरवन कुमार हिमाचल प्रदेश कृषि विश्वविद्यालय
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, बनारस
  • गोविंद बल्लभपंत कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, पंत नगर
  • जूनागढ़ कृषि विश्वविद्यालय, जूनागढ़ी
  • पशु चिकित्सा महाविद्यालय और अनुसंधान संस्थान, चेन्नई

यह भी पढ़ें:-

दंत चिकित्सक/दांतो का डॉक्टर (BDS) कैसे बने पूरी जानकारी

Doctor कैसे बनते हैं सरल भाषा में जाने पूरी जानकारी।

Nurse कैसे बने नर्सिंग कोर्स से जुड़ी संपूर्ण जानकारी।

MBBS क्या होता है और कैसे करें एमबीबीएस से जुड़ी पूरी जानकारी।

Conclusion

पशु चिकित्सक बनकर आज के समय में आप एक बेहतरीन करियर विकल्प चुन सकते हैं क्योंकि आज के समय में पशु चिकित्सा के काफी ज्यादा demand देखने को मिलती है। आज के समय में अधिकांश लोग विभिन्न प्रकार के पशु पक्षियों का पालन करते हैं जिसकी वजह से तथा संपूर्ण दुनिया में पशु पक्षियों की आबादी और उनका संरक्षण की वजह से पशु चिकित्सक एक बेहतरीन करियर विकल्प माना जा रहा है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको पूरी जानकारी के साथ विस्तार से बता चुके हैं कि पशु चिकित्सा कैसे बनते हैं? पशु चिकित्सक बनने से संबंधित अगर आपका कोई प्रश्न है? तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं। हम आपके द्वारा पूछे गए प्रश्न का अवश्य उत्तर देंगे।

Leave a Comment